दो सौतनों ने शौहर का किया ऐसा बंटवारा, नारी उत्थान केंद्र का फैसला सुनकर आप भी कहेंगे ‘क्या बात है’

भारत विविधताओं का देश है, यहां सबकुछ अनोखे तरीके से होता है. ऐसे अक्सर आपने सुना और देखा होगा, लेकिन उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में कुछ ऐसा हुआ है, जिसे जानने के बाद आप भी कहेंगे वाकई हमारा देश कई मायनों में अनोखा है. दरअसल, मुरादाबाद के एक बिजली कर्मी ने एक या दो नहीं बल्कि तीन महिलाओं से निकाह किया है. जिसके बाद पत्नियों में पति के वक्त को लेकर झगड़ा हुआ है और मामला नारी उत्थान केंद्र में पहुंचा है.

ऐसे हुआ तीसरी शादी का खुलासा

नारी उत्थान केंद्र में बिजलीकर्मी ने बताया कि उसकी पहली पत्नी की मौत हो चुकी है, इसलिए उसने दो और शादियां की. उसने बताया कि करीब 20 साल पहले उसने दूसरा निकाह कर लिया था. दूसरी बीवी से भी उसे तीन बच्चे हुए. बिजली कर्मी अचानक घर से गायब रहने लगा. जिसके बाद बीबी को शक हुआ और उसने अपने शौहर के पीछा किया, तो पता चला कि उसने एक और शादी कर रखी है और तीसरी बीवी से उसे एक बच्चा है.

एसएसपी के पास पहुंची बिजलीकर्मी की दूसरी पत्नी

तीसरी बीवी की बात जानने के बाद बिजली कर्मी की दूसरी पत्नी ने एसएसपी में तहरीर देकर अपने शौहर और सौतन के खिलाफ कार्रवाई की मांग की. महिला ने आरोप लगाया कि उसका पति उसे समय नहीं देता है, अपने बच्चों का भी ख्याल नहीं करता है. इतना ही नहीं महिला ने एसएसपी के सामने कहा कि उसके शौहर की सारी सैलेरी उनकी सौतन हड़प लेती है.

नारी उत्थान केंद्र में हुआ अनोखा फैसला

एसएसपी के बाद जब यह मामला नारी उत्थान केंद्र पहुंचा तो फैसला हुआ कि बिजली कर्मी दूसरी बीवी के साथ सप्ताह में एक दिन और तीसरी वाली के पास सप्ताह में छह दिन रहेगा. केंद्र ने यह भी कहा कि बिजलीकर्मी दोनों पत्नियों का खर्चा भी उठाएगा. नारी उत्थान केंद्र में आया यह फैसला सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. कुछ लोग इस फैसले की तारीफ कर रहे हैं, तो कुछ लोग इसे बिजलीकर्मी की बेवकूफी करार दे रहे हैं.