इन चीजों पर करें काम, जिंदगी में कभी भी नहीं होंगे फेल

हे आप किसी जॉब या प्रोफेशन में हों या फिर एक आंत्रप्रेन्याेर हों, कॅरिअर में निश्चित ही आपको कई चुनौतियों का सामना करना पड़ता होगा। कई बार ये चुनौतियां हमारी गलतियों और विफलताओं के रूप में हमारे सामने आ सकती हैं। फील्ड चाहे कोई भी हो, आप इन फेलियर्स या मिस्टेक्स को तीन स्टेजेज में बांट सकते हैं –

फेलियर्स ऑफ टैक्टिक्स (HOW) यानी काम कैसे करें, फेलियर्स ऑफ स्ट्रैटजी (WHAT) यानी क्या काम करें और फेलियर्स ऑफ विजन (WHY) यानी काम क्यों करें। इन तीनों स्टेजेज को विस्तार से जानकर आप यह एनालिसिस कर सकते हैं कि आपसे गलती कहां हुई ताकि आप सही जगह सुधार कर सकें। जानिए इन फेलियर्स को पहचानने और इन्हें सक्सेस में बदलने के गुर।

Advertisement

फेलियर ऑफ टैक्टिक्स 

यह एक अच्छी स्ट्रैटजी और एक अच्छे विजन को एग्जीक्यूट कर पाने की विफलता है। ये वे गलतियां हैं जो बेहतर सिस्टम्स बना पाने में नाकामी, जांच करने से भूलने और डिटेल्स पर ध्यान न देने से पैदा होती हैं। इस स्टेज की गलतियों को इस तरह सुधार सकते हैं-

स्टेज 01
प्रोसेस को रिकॉर्ड करें

मैकडॉनल्ड्स के दुनियाभर में 36,000 से अधिक रेस्टोरेंट्स मौजूद हैं, लेकिन उनके प्रॉडक्ट्स में हर जगह समानता है, क्योंकि एक ही काम करने के उनके पास एक समान सिस्टम्स मौजूद हैं। इससे सीखते हुए आप अपने काम के प्रोसेस का हर स्टेप रिकॉर्ड करें और हर बार उसे करते वक्त सभी स्टेप्स फॉलो करना न भूलें।

टैक्टिक्स को रिव्यू और एडजस्ट करें

पहले स्टेज वाले फेलियर्स कभी रुकते नहीं हैं। हो सकता है आपकी टैक्टिक्स पुरानी पड़ जाएं, लेकिन कई बार ऐसा भी होता है जब पुरानी पड़ चुकी टैक्टिक्स भी अचानक आपके काम आ जाती हैं। इसलिए आपको अपने काम को लगातार रिव्यू और इम्प्रूव करते रहना चाहिए।

फेलियर ऑफ़ विजन

कोई दिशा निर्धारित न करने या खुद को संतुष्टि न दे सकने वाले विजन को फॉलो करने से यह विफलता आती है। इनमें भविष्य के आपके विजन या गोल्स से आपके एक्शंस मेल नहीं खाते।

गलतियां ऐसे सुधारें-
परिणाम जांचने होंगे

अपने लिए महत्वपूर्ण हर चीज की जांच करें। अगर आप एक अांत्रप्रेन्योर हैं, तो यह जांचें कि आप हर दिन कितनी सेल्स कॉल्स कर रहे हैं। अगर आप एक लेखक हैं, तो यह जांचें कि आपके नए आर्टिकल्स कितने दिनों में पब्लिश हो रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि बिना परिणामों की जांच किए यह पता नहीं चलेगा कि आपकी टैक्टिक्स काम कर रही हैं या नहीं।

किसी दूसरे का विजन न अपनाएं

अगर आप किसी अन्य व्यक्ति के विजन को अपना मानते हैं जैसे कि आपकी फैमिली, फ्रेंड्स या फिर सोसाइटी के विजन को, तो अपने व्यक्तिगत सपने को हासिल करना नामुमकिन है।

स्टेज 02

फेलियर ऑफ स्ट्रैटजी 

यह विफलता ऐसी स्ट्रैटजी को फॉलो करने से पैदा होती है जो मन मुताबिक परिणाम न दे सके। यहां आपको विजन पता होता है और काम करने से भी आप पीछे नहीं हटते, लेकिन आपको यह नहीं पता कि लक्ष्य तक पहुंचने के लिए क्या करना होगा। इस स्टेज की गलतियाें को ऐसे सुधार सकते हैं-

जल्दी आजमाएं
कुछ आइडियाज बेहतर काम करते हैं, लेकिन उनका पता तभी चलता है जब उन्हें आजमाया जाए। उनकी प्लानिंग, रिसर्च और डिजाइन केवल उनकी तैयारी होती है। इसलिए अपनी स्ट्रैटजी को जितना जल्दी हो सके, आजमा लें।

लगाएं कम समय व ऊर्जा
नई स्ट्रैटजी को कम समय व ऊर्जा लगाकर आजमाया बेहतर होगाा। इससे फेल होने की स्थिति में आप अन्य आइडियाज टेस्ट करने की पोजीशन में रहेंगे और विफलता से उबरना आपके लिए आसान रहेगा।

स्टेज 03

विजन बनाएं नॉन नेगोशिएबल
नॉन नेगोशिएबल विजन अपनाएं। यदि आपका विजन एक सफल आंत्रप्रेन्याेर बनना है, तो इसे पाने के कई रास्तेे हैं। एक रास्ते पर विफल हों, तो विजन से समझौता न करें, दूसरा रास्ता अपनाएं।

करते रहें रिवाइज
स्ट्रैटजीज को लगातार रिवाइज और एडजस्ट करें। एक आइडिया के फेल होने पर दूसरा आजमाना सामान्य बात है। उदाहरण देखें, तो निंटेंडो पहले प्लेइंग कार्ड्स व वैक्यूम क्लीनर्स बनाती थी, लेकिन आइडिया बदलकर वह सफल हुई।