ये अकाउंट खुलवाते ही बदल जाएगी आपकी दुनिया

पैसा कमाने और पैसा बचा कर अमीर बनने की चाहत तो हर आदमी रखता है। लेकिन इसके लिए एक रणनीति बना कर नियमित तौर पर पैसा निवेश करने का काम बहुत कम लोग करते हैं। जो लोग यह काम करते हैं वे एक न एक दिन आम लोगों से अलग एक खास लीग में शामिल हो जाते हैं जिनको हम आर्थिक तौर पर मजबूत या अमीर के तौर पर जानते हैं।

आर्थिक तौर पर मजबूत बनने की प्रक्रिया एक खास कदम से शुरू होती है। कुछ लोग यह कदम उठा कर अमीर बनने के रास्‍ते पर आगे बढ़ जाते हैं और कुछ लोग हमेशा प्‍लानिंग ही करते रहते हैं और सही समय का इंतजार करते रहते हैं। ऐसे लोगों की अमीर बनने की चाहत लाइफ शायद ही पूरी होती है।

एसआईपी अकाउंट बदल देगा आपकी दुनिया

खुद को आर्थिक तौर पर मजबूत बनाने के लिए वैसे तो कई तरीके से है। लेकिन इन तमाम तरीको से जो कॉमन बात यह है कि आपको निवेश की शुरुआत करनी होती है। शुरुआत आप छोटी रकम से करें यो बड़ी रकम से। यह आप की इनकम पर निर्भर करता है।

तो मौजूदा समय में सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लानिंग यानी एसआईपी अकाउंट खुलवाना आपके लिए बड़ी शुरुआत हो सकती है। आप एसआईपी अकाउंट खुलवा कर मिनिमम मंथली 500 रुपए निवेश की शुरुआत कर सकते हैं। यहीं से आपकी दुनिया अलग हो जाती है। इसके साथ ही आप खुद को अमीर बनाने की राह पर चल पड़ते हैं।

साल दर साल आप बनते जाएंगे अमीर

उदहाहरण के लिए अगर आप 2,000 रुपए हर माह एसआईपी में एक साल तक निवेश करते हैं तो आपके अकाउंट में 24 हजार रुपए निवेश हो जाएगा वहीं दो साल में आपका निवेश बढ़ कर लगभग 50,000 रुपए हो जाएगा।

इस पर अगर अगर 10 से 15 फीसदी रिटर्न मान लें तो साल दर साल आपका निवेश और इस पर मिलने वाला रिटर्न बढ़ता चला जाता है। जैसे जैसे आपके एसआईपी अकाउंट में पैसा बढ़ता जाता है खुद को आर्थिक तौर पर मजबूत बनाने को लेकर आपका आत्‍मविश्‍वास भी बढ़ता जाता है।

1,000 रुपए के निवेश से बन जाएगा 70 लाख का फंड

bankbazaar.com के सीईओ आदिल शेट्टी ने बताया कि अगर आप एसआईपी में हर माह 1,000 रुपए 30 साल तक निवेश करते हैं और आपके निवेश पर सालाना 15 फीसदी का रिटर्न मिलता है तो 30 साल बाद आपके एसआईपी अकाउंट में कुल 70 लाख रुपए हो जाएंगे।

क्रिसिल- एएमएफआई स्‍माल एंड मिड कैप फंड परफार्मेंस इंडेक्‍स के मुताबिक जून 2017 को समाप्‍त पिछले सात सालों में मिड और स्‍माल-कैप म्‍यूचुअल फंडों ने सालाना 16.79 फीसदी रिटर्न दिया है।