इस औषधि से दिल, किडनी और लिवर की हर बीमारी से मिलेगा छुटकारा

चिया सीड्स यानी तुलसी प्रजाति के बीज बहुत छोटे होते हैं परन्तु उनके गुण बहुत बड़े होते हैं। इनसे आपके सम्पूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ाने तथा बनाए रखने में सहायता मिलती है। इनमें प्रोटीन, फाइबर तथा ओमेगा-3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं जो हमारी मेटाबॉलिज्‍म प्रणाली को बढिय़ा बनाने, भूख को शांत करने तथा फैट बर्न करने वाले बड़े हार्मोन ग्लूकाजोन को बढ़ाने में सहायक होते हैं।

चिया सीड्स के गुण

चिया के बीज बहुमुखी और पौष्टिक होते हैं। इन बीजों के दो महत्वपूर्ण गुण हैं-इनमें उच्च गुणवत्ता वाले फाइबर भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। दूसरा यह शरीर में पानी की मात्रा बनाए रखने में सहायक होते हैं। कुछ चिया बीजों को 10 मिनट के लिए भिगो दें और वह अपने आकार से दस गुना बड़े हो जाएंगे। चिया बीज आपको हमेशा स्‍वस्‍थ रखते है और ज्‍यादा खाने वाली आदत से भी बचाते है। आप इसे दही, सलाद या अन्‍य तरीके से भी खा सकते है।

मोटापा घटाना

वजन कम करने के लिए तुलसी प्रजाति के बीज बहुत सहायक होते हैं क्योंकि यह आपकी भूख को दबाते हैं। इनका इस्तेमाल भोजन में करने से भोजन की खपत में कमी आती है।चिया बीज पानी की बड़ी मात्रा को अवशोषित करने की क्षमता रखता है जिस कारण वह एक जेल पदार्थ बन जाता है और जब आप इसे खाते है तो पेट में जाने के बाद ये विस्तार करने लगता है। चिया बीज बहुत कम कैलोरी के साथ पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है।

कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित करना

ये बीज ओमेगा-3 ऑयल के सबसे बड़े वनस्पति स्रोत हैं। यह ऑयल हृदय तथा कोलेस्ट्रॉल संबंधी स्वास्थ्य के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। यदि वजन के लिहाज से देखा जाए तो चिया सीड्स में सैमन मछली के मुकाबले ओमेगा-3 ऑयल अधिक होता है। यह चुंबक की तरह काम करता है जो शरीर से अपने साथ कोलेस्ट्रॉल को बाहर निकाल देता है।

हृदय रोग तथा कैंसर का बचाव

इन बीजों में एंटी ऑक्सीडैंट्स भी भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं। यह शरीर में से फ्री रैडीकल्स को बाहर निकालने में बहुत सहायक होते हैं। फ्री रैडीकल्स का सीधा संबंध हृदय रोग तथा कैंसर से है।हृदय के स्वास्थ्य के लिए चिया सीड्स बहुत ही शानदार सिद्ध होते हैं। ये बीज असामान्य हृदय गति की दर को घटाते हैं और साथ ही ट्राइग्लिसराइड के स्तर को भी कम करते हैं।