ऐसे शुरू कर सकते हैं बिस्कुट बनाने का उद्योग, जाने पूरी जानकारी

एक आंकड़े के मुताबिक इंडिया में बिस्कुट उद्योग का सालाना व्यापार 4.5 हज़ार करोड़ से भी ज्यादा का है | भारतवर्ष USA और China के बाद सबसे बड़ा बिस्कुट उत्पादन करने वाला देश है | Federation of Biscuit Manufacturers of India (FBMI) के मुताबिक भारतवर्ष में  बिस्कुट industry आने वाले 10 सालों में प्रति वर्ष 15% की Growth Rate के साथ आगे बढ़ सकती है |

बिस्कुट उद्योग स्टार्ट करने हेतु निम्नलिखित मशीन एवं उपकरणों की जरुरत होती है |

  • आटा छानने या बीनने वाली मशीन: Flour sifter एक उपकरण है जो आटे या मैदे में से अशुद्धियो को अलग करने के काम में लाया जाता है | ताकि एक उच्च गुणवत्ता वाले बिस्कुट का उत्पादन किया जा सके |
  • चीनी पीसने का उपकरण: Sugar grinder का उपयोग बिस्कुट बनाने की प्रक्रिया में चीनी को पिसने हेतु किया जाता है |
  • मिक्सींग मशीन: इसका उपयोग Ingredients अर्थात सामग्री को मिलाने हेतु किया जाता है | जिससे एक अच्छा मिश्रण बन सके |
  • ऑयल स्प्रेयर: बिस्कुट बनाने की प्रक्रिया में oil sprayer का उपयोग बिस्कुट में तेल वगेरह छिडकने हेतु किया जाता है | यह प्रक्रिया तब की जाती है, जब बिस्कुट गरम हो अर्थात बिस्कुट को ठंडा करने की प्रक्रिया से पहले इनमे तेल वगेरह छिड़का जाता है |

  • Dough Making Machine: इस मशीन का उपयोग बिस्कुट तैयार करने हेतु लोई बनाने के लिए किया जाता है | इस प्रक्रिया को करते वक़्त तैयार मिश्रण में वसा और पानी को मिला दिया जाता है | और आवश्यकतानुसार लोई को सख्त और नरम किया जाता है |
  • Molding and cutting Machine: इस मशीन का काम बिस्कुट को आकार देना और आकार के हिसाब से बिस्कुट को काटने का होता है |
  • ओवन: oven का उपयोग आकार दी हुई लोई को गरम करना अर्थात पकाना होता है | ताकि आकार दी हुई लोई बिस्कुट के रूप में परिवर्तित हो सके |
  • Cooling conveyor: इसका उपयोग गरम बिस्कुटों को ठंडा करने में किया जाता है |

बिस्कुट तैयार करने के लिए भिन्न भिन्न कच्चा माल चाहिए होता है

  • गेहूं का आटा या मैदा
  • पीसी हुई चीनी
  • Glucose
  • वनस्पति तेल
  • अनाज का सत्व
  • दूध पाउडर
  • साधारण नमक
  • क्रीमबेकिंग पाउडर
  • कई प्रकार के Chemicals जैसे सोडा बाइकार्बोनेट इत्यादि |

बिस्कुट बनाने की विधि

  • बिस्कुट बनाने के लिए सबसे पहले सामग्री की आवश्यकतानुसार मात्रा लेकर, उसको Mixer में अच्छी तरह मिला दिया जाता है | लेकिन ध्यान देने वाली बात है की मिक्सर में आटे को नहीं डाला जाता |
  • उसके बाद इस मिश्रण का पेस्ट तैयार कर लिया जाता है | अब इस पेस्ट में आवश्यकतानुसार आटा मिलाकर लोई (dough) तैयार कर लिया जाता है |
  • अब इस लोई को कटिंग मशीन में डाला जाता है | जिससे लोई बिस्कुट के आकार में कट जाती है |
  • अब इन कटे हुए बिस्कुट के आकार को oven में गरम करने अर्थात पकाने हेतु रख दिया जाता है |और जब बिस्कुट तैयार हो जाते हैं | तो इनमे आवश्यकतानुसार तेल छिडक लिया जाता है, जिसमे ऑयल स्प्रेयर मशीन उपयोग में लायी जाती है |
  • तेल छिडकने के बाद बिस्कुटों को ठंडा करने हेतु cooling conveyor मशीन में डाला जाता है | उसके बाद अगला स्टेप पैकेजिंग एवं मार्केटिंग का होता है |