नकली दूध के बाद अब केमिकल से तैयार हो रहे है नकली अंडे, इस तरह करे पहचान (वीडियो देखे)

बाजार में नकली प्लास्टिक के अंडों की मौजूदगी से जुड़ी खबरें आ रही हैं। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें चीन में कैमिकल्स से आर्टिफीशिल अंडे बन रहे हैं।

इसे खाने से कैंसर और ऑर्गन फेलियर का खतरा होता है। भारत में भी अक्टूबर 2016 में भी खबर आई थी कि केरल के बाजारों में नकली अंडे बिक रहे हैं। कई लोग इन्हें ‘चाइनीज अंडे’ भी कह रहे हैं।

कैसे बनता है प्लास्टिक का अंडा

सोडियम अल्जिनेट को गर्म पानी में मिलाकर फिर इस मिश्रण में जलेटिन, ऐलम और बेन्जोइक मिलाया जाता है। इस मिश्रण से नकली अंडा तैयार किया जाता है।

अंडे के पीले और सफेद हिस्से दोनों को बनाने में यही मिश्रण इस्तेमाल होता है। पीले हिस्से के लिए बस मिश्रण में थोड़ा पीला रंग मिला दिया जाता है। अंडे का छिलका बनाने के लिए कैल्शियम क्लोराइड का इस्तेमाल किया जाता है।

पहचानें असली और नकली का अंतर

देखने में असली और नकली अंडे एक जैसे दिखते हैं। नकली अंडे का छिलका थोड़ा सख्त होता है। ये असली अंडे की तुलना में थोड़ा खुरदुरा भी होता है। इसके अलावा छिलके के अंदर एक रबरनुमा लाइनिंग भी होती है।

किसान ने तैयार की हवा से बिजली बनाने वाली मशीन, 1.50 लाख रुपए का आया ख़र्च

चौथी कक्षा तक पढ़ाई करने वाले मथुरा के एक 36 वर्षीय किसान उदयवीर ने एक ऐसी मशीन बनाने का दावा किया है जो हवा से बिजली बनाएगी। इस खोज के लिए जिले में किसान की तारीफ हो रही है। उदयवीर का कहना है कि उसे इस प्रोजेक्ट पर काम करने के लिए सरकार से कोई मदद नहीं मिली लेकिन अब भी वह सरकारी मदद की उम्मीद किए हुए हैं।

  • जिले से करीब 45 किलोमीटर दूर छाता क्षेत्र के गांव गढ़ी-डड्डी के रहने वाले उदयवीर ने हवा से बिजली को बानकर दिखाई है। उदयवीर ने बताया कि उसके पिता किसानी के साथ-साथ गांव के ट्रैक्टर को ठीक किया करते थे और मैं उन्हें इस काम को करते हुए देखता रहता था।एक दिन मैं और मेरी पत्नी खेत पर गेंहू काटने गए। जब हम लोग घर वापस आये तो घर आकर देखा की लाइट नहीं है और इन्वर्टर भी डाउन पड़ा था।

मैंने एक छोटी सी मशीन पर अपना काम करना शुरू किया और जैसे जैसे मुझे सफलता मिलती गयी मैंने और बड़ा करने की ठान ली और 2010 से मैंने इस प्रोजेक्ट पर काम करना शुरू किया और 8 साल 7 महीने की कड़ी मेहनत के बाद मैंने एक ऐसी मशीन तैयार कर दी जिससे बिना पानी के बिजली बनाई जा सकती है।

  • इस मशीन को उदय भास्कर इलेक्ट्रिक जनरेशन नाम दिया गया है। इस पूरे प्रोजेक्ट को बनाते समय उदयवीर की पैर की नशे ब्लॉक हो गईं थी। 2015 में उनका एक पैर डॉक्टर को काटना पड़ा।

कैसे बनती है बिजली

उदयवीर ने बताया की मशीन में चार बैटरी लगी हुई हैं। डीसी से मोटर, मोटर से रोटर और रोटर से अल्टीनेटर में सप्लाई जाती है। जैसे ही ऑक्सीजन बनने लगती है वैसे ही बिजली का बनना भी शुरू हो जाता है।

पूरे दिन में एक व्यक्ति जितनी ऑक्सीजन लेता है उतनी ही मशीन ऑक्सीजन अपने अंदर लेती है लगातार इससे बिजली बनाई जाती है। इस पूरी मशीन को बनाने में 1.50 लाख रुपए खर्च हुआ।

पीएम को भी भेज चुका हूं लेटर

उदयवीर ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी अपने प्रोजेक्ट के बारे में लेटर लिखकर भेजा है जिसका अभी तक जवाब नहीं आया है।

ये है दुनिया की अजब-गजब नौकरियां, जहां काम करने के लिए उतारने पड़ते हैं कपड़े

दुनिया में कई अजीबोगरीब नौकरियां है। कुछ गंदी नौकरियां भी हैं लेकिन क्या आपने कुछ ऐसी नोकरियों के बारे में सुना है जिनमें लोग बिना कपड़े पहने काम करते हैं। जी हां कुछ नौकरियां ऐसी हैं जहां लोगों को कपड़े पहनना सख्त मना है। आइए जानते हैं कौन सी हैं ये न्यूड नौकरियां।

न्यूड गार्डनिंग

यूएस, ऑस्ट्रेलिया और यूरोप की कुछ जगहों पर न्यूड पुरुष गार्डनिंग का काम करते हैं। ये एक अजीब तरह का बिजनेस है। इसे करने के लिए पुरुषों को अपने कपड़े उतारने पड़ते हैं।

नेकेड रेस्तरां

लंदन के बुनियादी नामक इस रेस्तरां में लोगों को कपड़े उतारकर जाना पड़ता है। सिर्फ ग्राहक ही नहीं यहां काम करने वाले कर्मचारी भी बिना कपड़ों के ग्राहकों को खाना सर्व करते हैं।

न्यूड बरिस्ता

वॉशिंगटन में बने इस न्यूड बरिस्ता में कॉफी प्रेमियों को न्यूड वेटर कॉफी सर्व करते हैं। वेटरस भी बिकिनी में कॉफी सर्व करती है।

न्यूड योगा स्टूडियो

चेलसी में स्थित न्यूड योगा स्टूडियो में कपड़े उतारकर योगा क्लासेस कराई जाती है। इन क्लासेस के दौरान योगा सीखने वाले बिना कपड़ों के रहते हैं। यहां तक की योगा सिखाने वाले भी न्यूड रहते हैं।

न्यूड ब्रिटिश सॉफ्टवेयर कंपनी

यूके के बकिंगहमशायर में स्थित एक कम्प्यूटर सॉफ्टवेयर कंपनी में उन महिलाओं को रखा जाता है जो काम के समय न्यूड रह सकती हों। इसं कंपनी में काम करने वाली महिला कोडर्स का न्यूड रहना अनिवार्य है।

न्यूड ऑनलाइन थेरापिस्ट

एक अज्ञात महिला नेकेड शेरापिस्ट नाम से ऑनलाइन लोगों की काउंसलिंग करती है। वह वेब कैम के जरिए लोगों से बातचीत कर न्यूड थैरेपी देती है जिसके चलते कई बीमारियों की काउंसिलिंग होती है।

टॉपलेस हाउसमेड

लॉस एंजलेस के कई इलाकों में टॉपलेस हाउसमेड रखने का बिजनेस चलता है। उन इलाकों में ज्यादातर घरों में टॉपलेस हाउसमेड काम करती हैं। ये वहां का एक शानदार बिजनेस है।

इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के लिए विराट कोहली को मिलते है 88 लाख रुपए, जाने कैसे लोग इंस्टाग्राम से कमा रहे है करोड़ों रुपए

क्रिकेट में अपना जादू चलाने के साथ ही इंस्टाग्राम पर भी विराट कोहली की जबरदस्त फैन फॉलोइंग है। आपको जानकर हैरानी होगी कि दुनिया में इंस्टाग्राम सेलेब्रिटी की लिस्ट में विराट कोहली का नाम भी शुमार है।

विराट को इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के लिए 88 लाख रुपए मिलते हैं। उसी प्रकार से बिजनेसवुमेन कायली जेनर इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करके 7.4 करोड़ रु तक कमा लेती हैं। इसी के चलते जेनर इंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा कमाई करने वाली सेलेब्रिटी हैं।

बता दें कि जुलाई में, जेनर अमेरिका की फोर्ब्स की लिस्ट में आने वाली सबसे कम उम्र की महिला थी। उनके पास लगभग 900 मिलियन डॉलर की संपत्ति है। आज हम आपको दुनिया के उन 5 लोगों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने साल 2018 में इंस्टाग्राम से सबसे ज्यादा कमाई की है।

बियोंसे नोल्स:

बियोंसे नोल्स ब्यूटी विथ द वॉयस के नाम से भी जाना जाता है। वह अमेरिकी सिंगर हैं। बियोंसे ने साल 2018 में इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करके 700,000 (15800000 रुपए) डॉलर की कमाई की। वहीं, साल 2017 में कायली को इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के 400,000 डॉलर मिले थे। उनके इंस्टाग्राम पर 116 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

किम कार्दशियन:

किम एक अमेरिकी मॉडल और व्यवसायी हैं। किम ने साल 2018 में इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करके 720,000 (53280000 रुपए)डॉलर की कमाई की। वहीं, साल 2017 में कायली को इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के 500,000 डॉलर मिले थे। उनके इंस्टाग्राम पर 114 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

क्रिस्टियानो रोनाल्डो:

रोनाल्डो पुर्तगाल के फुटबॉल प्लेयर हैं। रोनाल्डो ने साल 2018 में इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करके 750,000 (55500000 रुपए)डॉलर की कमाई की। वहीं, साल 2017 में कायली को इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के 400,000 डॉलर मिले थे। उनके इंस्टाग्राम पर 137 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

सेलेना गोमेज:

सेलेना गोमेज अमेरिकी सिंगर है। सेलेना ने साल 2018 में इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करके 800,000 (59200000 रुपए)डॉलर की कमाई की। वहीं, साल 2017 में कायली को इंस्टाग्राम पर एक पोस्ट करने के 550,000 डॉलर मिले थे। उनके इंस्टाग्राम पर 139 मिलियन फॉलोअर्स हैं।

लुधियाना के एक पकौड़ावाले की कमाई सुनकर आप दंग, इनकम टैक्स विभाग ने वसूले 60 लाख रूपए

पकौड़ा बेचने को रोजगार बताने पर कांग्रेस पार्टी सत्ताधारी बीजेपी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का मजाक उड़ाती है, लेकिन लुधियाना के एक पकौड़ावाले की कमाई सुनकर आप दंग रहे जाएंगे और मान लेंगे कि चाय-पकौड़े की दुकान का कोई जोड़ नहीं.

आयकर विभाग ने पान सिंह पकौड़ा शॉप पर छाप मारा और दुकान के मालिक पन्नू सिंह पकौड़ेवाले से 60 लाख रुपये वसूल किए.

दिन भर गिने पकौड़े

पान सिंह पकौड़ा शॉप अपने स्वाद के लिए सिर्फ लुधियाना ही नहीं, बल्कि पूरे पंजाब में मशहूर है. आयकर विभाग ने उनकी दो दुकानों पर छापा मारा. आयकर विभाग को खबर मिली थी कि दुकान मालिक रिटर्न में अपनी वास्तविक आमदनी को छुपा रहा है.

इसके बाद प्रधान आयुक्त डीएस चौधरी के निर्देशन में छाप मारा गया. आयकर विभाग की टीम ने हिसाब किताब रखने वाले सभी रजिस्टर को जब्त किया ही, साथ ही दिन भर दुकान में बैठकर बिक्री का जायजा भी लिया.

सच्चाई का पता चला

आयकर विभाग ने दुकान से बिक रहे एक-एक पकौड़े को गिना और उसके आधार पर पन्नू पकौड़ेवाले की वार्षिक आमदनी का अंदाज लगाया. इस आमदनी का उनके वार्षिक रिटर्न से मिलान किया गया तो पता चला कि आमदनी को बहुत कम दिखाया जा रहा है.

ये सर्वे गुरुवार को शुरू होकर शुक्रवार तक चला. कार्रवाई गिल रोड और मॉडल टाउन स्थित दोनों दुकानों पर की गई. विभाग इसके बाद यदि जरूरत पड़ी तो आगे की कार्रवाई करेगा.

बढ़ती गई शोहरत

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक पन्ना सिंह ने गिल रोड पर 1952 में एक छोटी सी दुकान शुरू की थी. यहां बने पकौड़े इतने मशहूर हुए कि इस दुकान का नाम और शौहरत दिन दूनी और रात चौगुनी रफ्तार से बढ़ते गए और इसका दूसरा आउटलेट भी खोल दिया गया.

कहते हैं जो भी लुधियाना आता है तो एक बार पन्नू पकौड़े वाले के पकौड़े जरूर खाता है. लोगों का कहना है कि छापे के दौरान कई लोगों ने दुकान पर जाने से परहेज किया और केवल वही लोग गए जिन्हें छापे की जानकारी नहीं थी. यानी दुकान की आमदनी आयकर विभाग के अनुमान से भी अधिक हो सकती है.

जानें अनूप जलोटा समेत Big Boss 12 में आए हुए बाकी कंटेस्टेंट ले रहे हैं कितनी फीस

भजन गायक अनूप जलोटा और सिंगर जसलीन मथारू ‘बिग बॉस’ सीजन 12 की सबसे एंटरटेनिंग जोड़ी है। हाल ही में बिग बॉस के घर में एक टास्क के दौरान दोनों के ब्रेकअप की खबरें आईं। लेकिन दो दिन बाद ही अनूप जलोटा खुद से 37 साल छोटी जसलीन के साथ रोमांटिक डेट पर जाते दिखे।

वैसे, अनूप जलोटा शो की शुरुआत में कह चुके थे कि वो ‘बिग बॉस’ का हिस्सा नहीं बनना चाहते थे। ऐसे में जाहिर है कि मेकर्स ने उन्हें मोटी रकम देकर मनाया होगा। करीबी सूत्रों के मुताबिक, जलोटा ‘बिग बॉस 12’ के सबसे ज्यादा फीस पाने वाले कंटस्टेंट हैं।

उन्हें इस शो के लिए हर हफ्ते 40 लाख रुपए मिलते हैं। उनके बाद दूसरे नंबर पर हैं दीपिका कक्कड़। दीपिका को हर हफ्ते 16 लाख रुपए मिलते हैं…

दीपिका कक्कड़ को मेकर्स हर हफ्ते 16 लाख रुपए देते हैं। वहीं, बिग बॉस के घर में टास्क में पार्टिसिपेट न करने वाले श्रीसंथ हर हफ्ते के 10 लाख रुपए लेते हैं। करणवीर वोहरा 10 लाख रूपये,नेहा पेंडसे 6 लाख रूपये और सृष्टि रोड़े 5 लाख रूपये हर हफ्ते के ले रहे हैं ।

अगर कॉमनर्स की बात करें तो इन्हें हर हफ्ते 15 हजार से लेकर 50 हजार रुपए तक मिलते हैं। कंटेस्टेंट को मिलने वाली इस रकम में सर्विस टैक्स काटकर ही उन्हें पैसा दिया जाता है।

अगर आप भी करवाते हैं नाई से मसाज तो हो जाइए सावधान, इस आदमी की तरह उजड़ सकती हैं ज़िंदगी

हेयर कट करवाने हम सभी पार्लर या सैलून जाते हैं और बाल कटवाने के बाद थोड़ा हेयर मसाज किसे नहीं पसंद? इस हेयर मसाज के बाद दिनभर की सारी थकान उतर जाती है, लेकिन आज हम आपको जिस खबर से रुबरु करवाने जा रहे हैं उसके बाद आप ऐसा करवाने से पहले दस बार जरुर सोचेंगे। आखिर बात जब जिंदगी पर बन आती है तो इंसान सोचने को मजबूर हो ही जाता है।

हम यहां ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि नाई से मसाज करवाना आपके लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है इसके बारे में आप सोच भी नहीं सकते हैं। बता दें, यह मसाज आपको जीवनभर के लिए वेंटिलेटर पर पहुंचा सकता है। हैरान कर देने वाली यह बात बिल्कुल सच है।

दिल्ली के रहने वाले एक शख्स के साथ कुछ ऐसा ही हुआ।इस व्यक्ति का नाम अजय है। हर एक आम इंसान की तरह अजय भी छुट्टी के दिन हेयर काट करवाने सैलून पहुंचे। बाल काटने के बाद अजय ने नाई से गर्दन मसाज करने को कहा, जैसा हर कोई करवाता है।

मसाज के बाद अजय को काफी रिलैक्स्ड महसूस हुआ। हालांकि कुछ वक्त बीत जाने के बाद अजय को सांस लेने में दिक्कत आने लगी। समस्या जब बढ़ने लगी तब अजय ने डॉक्टर के पास जाना बेहतर समझा। डॉक्टर्स ने कई तरह के टेस्ट किए।

टेस्ट में जिस बात का खुलासा हुआ वह वाकई में चौंका देने वाला था। डॉक्टरों ने बताया कि, मसाज से उनकी फ्रेनिक नस को नुकसान पहुंचा है। यह वह नस है जो हमारे डायफ्राम को कंट्रोल करती है और यही डायफ्राम हमारी सांस को नियंत्रित करता है।

जी हां, दिल्ली के मेदांता अस्‍पताल के एक सीनियर डॉक्‍टर का ऐसा कहना है कि, अजय के डायफ्राम को लकवा मार गया है और अब उन्‍हें अपनी पूरी जिंदगी वेंटिलेटर पर ही रहना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि इस नस का अपने आप ठीक हो पाना संभव नहीं।

डॉक्टर के अनुसार, नाई जो मसाज करते हैं उससे गर्दन के जोड़ों, आसपास के टिश्‍यू, मांसपेशियों और नसों को नुकसान पहुंचने का खतरा बना रहता है। कभी-कभार डायफ्राम को लकवा भी मार सकता है जैसा कि अजय की केस में हुआ।

इससे एक बात तो साफ है और वह ये कि अगर मसाज करवाए भी तो किसी एक्सपर्ट से करवाए या धीरे-धीरे बिना किसी ज्यादा प्रेशर के करवाए क्योंकि आपकी एक गलती पूरी जिंदगी पर भारी पड़ सकती है।

ये हैं जुगाड़ से भरी कुछ शानदार ट्रिक्स, जिन्हें देखकर घूम जाएगा आपका दिमाग

एक होते हैं अमीर, फिर आते हैं बहुत अमीर और तब नंबर आता है जुगाड़ करने वालों का। आप सोच रहे होंगे कि जुगाड़ करने वालों का अमीरों से क्या मुकाबला? जनाब, अमीरों के पास वो नहीं जो आपको इन जुगाड़ुओं के भण्डार में मिलेगा।

यदि ये जुगाड़ू लोग अपनी जुगाड़ के तरीकों की नीलामी करने लगे तो पता नहीं कितने अमीरों को गरीब बनाकर छोड़ेंगे। आखिर जुगाड़ कला ही कुछ ऐसी है। चलिए आपको भी विदेशियों के इन जुगाड़ों की झलक दिखाते हैं।

ध्यान से देखो, ये टेबल नहीं टीवी है।

अब घास कटाई में मेहनत कौन करे!

आप भी इस तरह से बना सकते हैं सिक्स पैक एब्स।

ये क्रिएटिव कम और डरावना अधिक लग रहा है।

यदि आपको भी कार में सीट बढ़ानी है तो ये तरीका आजमाइए।

ये तो बिलकुल देसी जुगाड़ लग रहा है।

यदि आपकी कार का साइड मिरर टूट जाए तो ये तरीका अपनाइएगा।

इस कार की मरम्मत अनोखे तरीके से हुई है।

खास महिलाओं के लिए खास आइस सैंडल्स।

यदि आपकी कमीज भी बार-बार बाहर आ जाती है तो ये ट्रिक जरूर आजमाएं।

कंडोम्स का ऐसा इस्तेमाल पहले नहीं देखा होगा।

ये महाशय इलेक्ट्रिकल इंजीनियर लगते हैं।

इट्स कराओके नाइट।

बाथरूम की इससे बेहतर व्यवस्था मुमकिन नहीं है।

पुरानी जीन्स का ये इस्तेमाल वाकई बेहद अनोखा है।

ये है न कुछ काम की चीज।

घर या दुकान के बाहर सजाने के लिए इससे बेहतर और क्या हो सकता है?

ये जुगाड़ आपके बच्चों को बेहद पसंद आएगा।

इसे कहते हैं जानलेवा जुगाड़।

एक परफेक्ट हॉट वाटर टब।

मिट्टी के तेल का रंग क्यों होता है नीला? पीछे छिपा है सरकार का शातिर दिमाग

हमारी रोजमर्रा की ज़िंदगी में ऐसी बहुत सी चीजें हैं जिनका जवाब हमें नहीं पता होता, ये चीज़ें हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा होती तो हैं लेकिन वो क्यों और कैसे होती हैं ये बहुत से लोगों को नहीं पता होती।

अब यही सवाल ले लीजिए कि, मिट्टी का तेल यानि केरोसिन का रंग नीला क्यों होता है जबकि वो तो रंगहीन तरल खनिज है। आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देंगे कि केरोसिन का रंग नीला क्यों होता है।आपको जानकारी के लिए बता दें कि, इसके पीछे सरकार का शातिर दिमाग है जिससे केरोसिन की कालाबाजारी रोकी जा सके।

यह बात तो हम सब जानते हैं कि गरीबों को हर महीने राशन कार्ड पर मिट्टी का तेल मुहैया कराने का प्रावधान है लेकिन इसी बीच कुछ बिचौलिए केरोसिन की कालाबाजारी करते हैं। हर महीने हजारों लीटर मिट्टी के तेल (केरोसिन) की कालाबाजारी होती है। यही कालाबाजारी रोकने के लिए सरकार ने ऐसा तरीका निकाला जिससे उसपर अंकुश लगाया जा सके।

ये था सरकार का उदेश्य…

जानकारी के लिए बता दें कि शासन से सफेद रंग के केरोसिन की मांग इसलिए की गई है ताकि राशन के तेल का उपयोग कसी गैर कामों में न हो सके। दरअसल, राशन उपभोक्ताओं को रियायती दर पर जो तेल दिया जाता है, वह नीले रंग है।

ऐसा करने के पीछे प्रशासन की कोशिश थी कि रंग अलग-अलग होने से राशन के तेल की कालाबाजारी नहीं हो सकेगी और जो तेल जिस उदेश्य से लिया जाएगा वो उसी दिशा में खर्च किया जाएगा। बता दें कि, ऐसा करने के पीछे व्यावसायिक दर पर सफेद रंग के मिट्टी के तेल का आवंटन करने से सभी का फायदा होता है।

मिली जानकारी के अनुसार, इससे तेल कंपनियों को मुनाफा मिलेगा और राज्य सरकार को भी टैक्स के रूप में कुछ मुनाफा मिलेगा। यही वजह है कि खुला कैरोसिन नीला नहीं सफेद रंग का होता है।

इस 27 मंजिले घर में 5 लोगों के लिए है 600 स्टाफ, 3 हेलीपैड के अलावा यह है खास सुविधा

मुकेश अंबानी का नाम दुनिया के अमीर लोगों की लिस्ट में आता है। उनका घर दक्षिण मुंबई में स्थित है और इसका नाम एंटीलिया है। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, मुकेश अंबानी का घर 27 मंजिला है।

इस घर में मुकेश अंबानी के परिवार के पांच लोग रहते हैं। जिनमें मुकेश अंबानी उनकी पत्नी नीता अंबानी और तीन बच्चे हैं। इसके अलावा 600 कर्मचारियों को भी देखभाल के लिए रखा गया है। एंटीलिया में 3 हेलीपैड है। इससे इतर थियेटर, स्विमिंग पूल, टेनिस कोर्ट की भी सुविधा है।

फोर्ब्स ने 2017 में अंबानी को भारत का सबसे धनी व्यक्ति बताया था, जिनके पास अनुमानित £34 बिलियन की संपत्ति थी। वह रिलायंस के साथ इंडियन प्रीमियर क्रिकेट लीग के मालिक हैं। इसके अलावा मुंबई इंडियंस पर भी उनका मालिकाना हक है।

फोर्ब्स में दिए गए मुकेश अंबानी की प्रोफाइल के अनुसार, पिता की मृत्यु के बाद 2002 में अंबानी और उनके भाई ने कंपनी का संचालन अपने हाथों में ले लिया। इसके अलावा अंबानी ने जियो के साथ 4 जी फोन सेवा लॉन्च कर दूरसंचार उद्योग में अपने कारोबार का विस्तार किया।

बताया जाता है कि मुकेश अंबानी अपने कर्मचारियों को नौकर की तरह नहीं समझते बल्कि वह उन्हें अपने परिवार का सदस्य मानते हैं।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक 27 मंजिला घर के हर मंजिलें पर एक हेड कर्मचारी है जिसकी 1 महीने की सैलरी 200000 रुपये से ज्यादा है। उनके पूरे घर का स्क्वायर फिट 40000 का है। इनके घर में 165 से भी ज्यादा कारों के लिए गैरेज बने हुए हैं।