सिर्फ इतने रुपए खर्च करके अपनी गाड़ी में लगवाएं 35 लाख वाली गाड़ी का म्यूजिक

अच्छे म्यूजिक सिस्टम से कार का इंटीरियर लग्जरी लगने लगता है। मार्केट में भी एक से बढ़कर एक म्यूजिक सिस्टम आ रहे हैं। इनमें बड़ी टचस्क्रीन वाले इन्फोटेनमेंट सिस्टम भी शामिल हैं।

ऐसे में यदि आपकी कार में टेस्ला जैसी कार के जैसा सिस्टम लग जाए तब उसकी रौनक कई गुना ज्यादा बढ़ जाएगी। इंडियन मार्केट से अब ऐसे सिस्टम भी खरीद सकते हैं। इसे मारुति आल्टो से लेकर किसी भी बड़ी कार में आसानी से फिट किया जा सकता है।

35 लाख की कार जैसा म्यूजिक सिस्टम

टेस्ला कार की प्राइस करीब 35 लाख रुपए से शुरू है। इस कार में 10 इंच या उससे भी ज्यादा बड़ी स्क्रीन वाला इन्फोटेनमेंट सिस्टम दिया होता है। इस तरह के म्यूजिक सिस्टम को ऑनलाइन 30 हजार रुपए में खरीदा जा सकता है। ये सिस्टम किसी टैबलेट की तरह होता है। यानी इसमें प्रोसेसर के साथ रैम और इंटरनल मेमोरी भी मिलती है।

ऐसे होते हैं फीचर्स

इंडियामार्ट पर क्रेटा कंपनी के ऐसे स्टीरियो सिस्टम को ऑनलाइन खरीदा जा सकता है। इसमें 10.4 इंच की बड़ी स्क्रीन दी है। इसके साथ, 2GB रैम, 32GB मेमोरी के साथ COTEX A9 क्वाड-कोर प्रोसेस दिया है। इसमें मल्टी टच स्क्रीन दी है।

जिसमें आप गाड़ी से जुड़ी कई तरह की डिटेल देख सकते हैं। ये सिस्टम ब्लूटूथ और वाई-फाई कनेक्टिविटी के साथ आता है। इसमें कॉलिंग, इन्फोटेनमेंट, इंटरनेट सर्फिंग, नेविगेशन जैसे सभी काम आसानी से होते हैं। इस सिस्टम को अमेजन से भी खरीदा जा सकता है, जहां पर EMI का ऑप्शन भी मौजूद है।

13 अक्टूबर तक कार-बाइक में लगवा लें सिक्‍योरिटी नंबर प्‍लेट, नहीं तो होगी जेल

टू-व्हीलर या फोर व्हीलर इस्तेमाल करने वाले दिल्ली वासियों के लिए नियमों में बदलाव हुए हैं। अगर आपकी गाड़ी में हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं लगी है, तो सावधान हो जाएं और इसे जल्द से जल्द लगवा लें।

परिवहन विभाग ने इसके लिए 13 अक्टूबर की डेडलाइन तय की है। इसके बाद भी अगर गाड़ियों पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं मिली तो पेनल्टी के तौर पर 500 रुपए का जुर्माना लिया जाएगा या फिर वाहन मालिक को 3 महीने की जेल भी हो सकती है।

कितनी गाड़ियों में नहीं है हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट

नई कार चलाने वालों को परेशान होने की जरूरत नहीं है, क्योंकि सभी नई कारें रेग्युलेशन लाइसेंस प्लेट्स के साथ प्री-फिटेड आती हैं। परिवहन विभाग के अधिकारी ने बताया कि विभाग के आकलन के अनुसार, लगभग 40 लाख गाड़ियां ऐसी हैं, जिन पर हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट नहीं हैं।

इनमें फोर व्हीलर और टू-व्हीलर, दोनों शामिल हैं। अभी इसके लिए 13 सेंटर बनाए गए हैं, जहां पर नई प्लेट लगाई जाएंगी। उन्होंने बताया कि इस बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए अभियान भी चलाया जाएगा, जिसके लिए अखबारों में विज्ञापन भी दिए जाएंगे।

कितने में लगेंगी ये प्लेट्स

कुछ रिपोर्ट्स के मुताबिक, टू-व्हीलर्स के लिए इन प्लेट्स की कीमत 67 रुपए और फोर व्हीलर्स के लिए 213 रुपए पड़ेगी।

आपको क्या करना होगा

  • आरटीओ के पास 13 स्पेशल सेंटर हैं, जहां नंबर प्लेट्स को फिट कराया जा सकता है।
  • 2 अक्टूबर से पेमेंट और एप्लिकेशन के लिए ऑनलाइन लिंक लाइव हो जाएगा।
  • यूजर्स को लिंक में रजिस्ट्रेशन नंबर उपलब्ध कराना होगा और फीस देनी होगी।
  • सेंटर पर जाने और नंबर प्लेट फिट कराने के लिए निश्चित दिन और समय के लिए अपॉइन्टमेंट दिया जाएगा।

कैसी हाेती है हाई सिक्योरिटी लाइसेंस प्लेट

हाई सिक्योरिटी लाइसेंस प्लेट्स एल्युमिनियम से बनाई जाती है और इसे रिफ्लेक्टिव टेप्स से ढका जाता है। इससे छेड़छाड़ नहीं की जा सकती है और इसमें सेल्फ डिस्ट्रक्टिव होलोग्राम्स लगाया जाता है। इसमें लेजर से व्हीकल का 10 डिजिट परमानेंट आइडेंटिफिकेशन नंबर रहता है, जिससे चोरी होने का खतरा कम हो जाता है।

बढ़ाना चाहते हैं अपनी बाइक का माइलेज तो जल्द करावाएं ये छोटे से बदलाव

आजकल ज्यादातर लोगों के पास स्पोर्ट्स बाइक होती है। इन बाइक्स में स्पीड और ताकत का मजा तो भरपूर मिलता ही है, लेकिन माइलेज को लेकर जब बात आती है तो इसपर निराश होने लगते हो। आज हम आपको अपनी इस खबर में कुछ ऐसे बदलाव बताने जा रहे हैं जिनकी मदद से आप अपनी बाइक का माइलेज बढ़ा सकते हैं।

सही रखें टायर प्रैशर

कई लोगों को नहीं पता लेकिन टायर में सही प्रैशर नहीं होने की वजह से भी बाइक बेहतर माइलेज देती है।

सामान्य स्पीड रखें

आप अपनी बाइक की स्पीड क्रूजिंग रखें यानी अपनी बाइक की स्पीड 5000rpm पर 50-60kmph तक ही रखें। यह वही स्पीड है जहां आपकी बाइक सबसे ज्यादा माइलेज देती है।

गढ्ढों, टक्कर और अचानक ब्रेक से करें बचाव

बाइक चलाते समय ऐसा होता है जिसपर आपका कंट्रोल नहीं होता। इनमें अचानक गढ्ढें आना, टक्कर लग जाना और अचानक ब्रेक लगना शामिल हैं। हमेशा बाइक चलाते समय अपना दिमाग स्थिर रखें और गढ्ढों, टक्कर और अचानक ब्रेक लगाने पर कंट्रोल करें। ऐसे में आपकी बाइक ज्यादा माइलेज देती है।

भारी चीजें निकलवा दें

बाइक में फालतू भारी सामान लगा हो या फिर कहें गैर जरूरी भारी चीजें। ऐसे में आप अपनी बाइक से फालतू वजन वाली चीजें हटा दें। इससे आपकी बाइक का माइलेज बेहतर रहेगा और आपकी बाइक भी स्मूथ चलेगी।

गियर शिफ्ट का ठीक से करें इस्तेमाल

बाइक चलाते समय सबसे अहम चीज होती है गियर। ऐसे में आप अपनी बाइक का गियर ठीक से बदलें और तेज स्पीड पर हमेशा टॉप गियर पर ही रखें। बाइक की क्लच भी कम से कम इस्तेमाल करने की कोशिश करें। इससे आपकी बाइक बेहतर माइलेज देगी।

ये है बिजली से चलने वाला स्कूटर, मोबाइल से होता है कंट्रोल, चोरी होने पर हो जाएगा बंद

इंडिया बेस्ड स्टार्ट अप कंपनी Twenty Two Motors ने हाल ही में अपनी पहली इलेक्ट्रिक स्कूटर ‘FLOW’ को लॉन्च किया है। कंपनी ने सबसे पहले इस स्कूटर को दिल्ली में हुए ऑटो एक्सपो 2018 में पेश किया था। सिर्फ 85 किलो वजनी यह स्कूटर एक बार फुल चार्ज करने पर 80km का सफर तय करती है।

इसकी टॉप स्पीड 60kmph है। इसमें लगी 2.1kw की इलेक्ट्रिक मोटर 90Nm का टॉर्क प्रोड्यूस करती है जो काफी पावरफुल है। भारतीय बाजार में इस स्कूटर की कीमत लगभग 60 हजार रुपए है। इसमें ऐसा ऑटो ऑफ सेंसर दिया गया है जिसे एक बार सेट करने पर इसे चोरी से बचाया जा सकता है।

डिजाइन में क्या है खास

  • FLOW में CBS(Combined Braking System) है, गाड़ी के फ्रंट और रियर टायर में डिस्क ब्रेक दिए गए हैं।
  • स्कूटर में ट्यूबलेस टायर हैं जिसे सेफ्टी के साथ ज्यादा एफिशिएंसी के लिए डिजाइन किया गया है।
  • इसमें हाई एक्सीलेरेशन के साथ हाई टॉर्क प्रोड्यूस होता है। जो इसे रफ्तार में तेज बनाता है।
  • स्कूटर पूरी तरह से पानी और डस्ट प्रोटेक्टेड है।
  • बेहतर राइडिंग के अनुभव के लिए फ्रंट और रियर वेट रेशो को ध्यान में रखकर डिजाइन किया गया है।
  • सस्पेंशन की बात करे तो इसमें फ्रंट में टेलिस्कोपिक और रियर में ड्युअल हाइड्रोलिक सस्पेंशन दिया गया है।
  • स्कूटर के फ्रेम को पूरी तरह से रोबोट द्वारा वेल्ड किया गया है।

पावरफुल परफॉर्मेंस के लिए

  • स्कूटर में DC मोटर लगी है जिसे Bosch कंपनी ने डिजाइन किया है।
  • इसमें दो हेलमेट रखने के लिए स्पेस दिया गया है।
  • स्कूटर में पहली बार आर्ट लाइट टेक्नोलॉजी का यूज किया गया है। इसके सभी लाइट्स LED है साथ ही प्रोजेक्टर हेडलेंप दिए गए है।
  • गाड़ी की हर जानकारी से राइडर अपडेट रहे इसके लिए ब्लूटूथ कनेक्टिविटी दी गई है जिससे गाड़ी के हर इंफोर्मेंशन यूजर के फोन पर मिल सके।
  • स्कूटर को चलाने के लिए तीन मोड दिए गए है- रिवर्स, क्रूज और ड्रेग मोड।

मोबाइल ऐप पर मिलती है सारी जानकारी

  • स्कूटर की सबसे खास बात यह है कि इसे एक मोबाइल ऐप से ट्रैक किया जा सकता है जिससे गाड़ी के बारें में हर जानकारी आपको मोबाइल पर मिल जाएगी।
  • इसकी ‘Geo-fencing’ फीचर इसे सेगमेंट की बाकी गाड़ियों से अलग बनाता है। इस फीचर से हम गाड़ी को चलाने की बाउंड्री सेट कर सकते हैं जैसे ही स्कूटर इस बाउंड्री के बाहर जाएगी इसकी मोटर ऑटोमैटिक ऑफ हो जाएगी और साथ ही इसके ऑनर को ऐप से द्वारा इसकी जानकारी भी मिल जाएगी। इस सेफ्टी फीचर से गाड़ी को चोरी होने से बचाया जा सकता है साथ ही गाड़ी को GPS से ट्रैक भी किया जा सकता है।

बैटरी भी है खास

  • गाड़ी चलाते वक्त राइडर बेफ्रिक होकर चल सके इसके लिए दमदार बैटरी दी गई है। बैटरी में कोई भी परेशानी आने पर इसे फ्री ऑफ कोस्ट बदला जाएगा।
  • स्कूटर में लिथियन ऑयन सेल की बैटरी दी गई है।
  • यह एक घंटे में 70% तक चार्ज हो जाती है। जिसे नार्मल 5Amp से चार्ज किया जा सकता है।
  • बैटरी पूरी तरह से लाइटवेट है जिसे आसानी से निकाला और लगाया जा सकता है।

यह है गाड़ी के स्पेसिफिकेशन

इन पांच तरीकों से आप करवा सकते हैं बुलेट को मॉडिफाई, बदल जाएगी पूरी लुक

भारत में ही नहीं बल्‍कि‍ दुनि‍या भर में Royal Enfield के चाहने वाले बहुत है। इसलि‍ए देश और वि‍देश दोनों जगह Royal Enfield मोटरसाइकि‍ल्‍स पर खासतौर पर काम कि‍या जाता है और लोगों के सामने कस्‍टम बाइक्‍स को पेश कि‍या जाता है। कस्‍टम हाउस रॉयल एनफील्‍ड की बाइक्‍स को ऐसा लुक देते हैं जि‍से देखकर कोई भी हैरान रह सकता है। यहां हम आपको बेहद स्‍टाइलि‍श रॉयल एनफील्‍ड की कस्‍टम बाइक्‍स के बारे में बता रहे हैं।

बीच बोबर

कनाडा के मोटरसाइकि‍ल कस्‍टमाइजर मोटा वि‍डा ने रॉयल एनफील्‍ड बुलेट को बीच (समुंद्र का कि‍नारा) क्रूजर में मोडि‍फाइ कर दि‍या। बीच बोबर 2011 रॉयल एनफील्‍ड बुलेट 500 का फन वर्जन है और यह ऑरि‍जन बाइक से बि‍ल्‍कुल अलग दि‍खती है। RE लोगो के साथ इसका नीला और क्रोम टैक, साथ ही इसकी हैडलाइट देखने लायक है। मोटा वि‍डा ने साइड पैनल के साथ लेदर बैग को भी रि‍प्‍लेस कि‍या गया है।

अमेरि‍काना

बेंगलुरु के बुलेटर कस्‍टम ने सुपरहीरो कैप्‍टन अमेरि‍का के नाम पर अमेरि‍काना डि‍जाइन की है। यह अमेरि‍काना और कोई नहीं 350सीसी बुलेट है। इसमें मॉर्डन इक्‍युप्‍मेंट जैसे एलईडी हैडलाइट और टेल लैम्‍प को यूज कि‍या है। साथ ही, डि‍जि‍टल हाइब्रि‍ड स्‍पीडोमीटर को रेट्रो स्‍टाइलिंग में फि‍ट कि‍या गया है।

350सीसी बुलेट के फ्रंट स्‍टॉक को समान रखा गया है लेकि‍न रीयर शॉक एबर्जोबर को रेड पेंटेड हॉरि‍जेंटल मोनोशॉक के साथ रि‍प्‍लेस कि‍या गया है। इसे सिंगल सीट ऑप्‍शन में बदला गया है। कैप्टन अमेरि‍का की शि‍ल्‍ड को राइड पैनल्‍स पर पेंट कि‍या है।

ओल्‍ड एम्‍पायर

इग्‍लैंड के ओल्‍ड एम्‍पायर मोटरसाइकि‍ल्‍स ने 2009 आरई बुलेट इलेक्‍ट्रा को मोडि‍फाइ कि‍या है। उन्होंने एनफील्‍ड के ओरि‍जनल इंजन को बरकरार रखा है लेकि‍न हार्ले डेवि‍डसन स्‍पोर्ट्सटर टैंक जैसे फीचर्स को इसमें शामि‍ल कर दि‍या है जो कि‍ देखने में काफी आकर्षि‍त लगता है।

डीसी डि‍जाइन

भारत के सबसे फेमस कार कस्‍टम डि‍जाइनर डीसी डि‍जाइन ने रॉयल एनफील्‍ड क्‍लासि‍क 500 को मोडि‍फाइ कि‍या है। डीसी डि‍जाइन ने रीयल कार्बन फाइबर पैनल को शामि‍ल कि‍या है।

थंडरकैट

कैफे रेसर ने रॉयल एनफील्‍ड थंडरबर्ड 500 को मोडि‍फाइ कर थंडरकैट बनाई है। टैंक पर गहरे नारंगी रंग और काले पेंट के साथ सिंगल सीट इसे यूनि‍क बनाती है। इसके अलावा, थंडरकैट में शीशे के साथ फ्लैट हैंडलबार है और एग्रेसि‍व सीटिंग पॉजि‍शन है।

अब बैटरी से चलेगी आपकी पुरानी कार ,खर्च होगा आधे से भी कम

रोड ट्रांसपोर्ट एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने अपने हाल में जारी नोटिफिकेशन में मोटर व्हीकल्स एक्ट 1989 में संशोधन करने की बात कही है। इसके तहत मौजूदा व्हीकल्स में हाइब्रिड या इलेक्ट्रिक सिस्टम के रेट्रो फिटमेंट को मंजूरी दी जाएगी।

नोटिफिकेशन के मुताबिक, रेट्रो फिटमेंट को तीन कैटेगरीज में बांटा जाएगा और इसे AIS-123 स्टैंडर्ड्स की जरूरतों को पूरा करना होगा। पेट्रोल और डीजल व्हीकल्स में हाइब्रिड सिस्टम को लगाने से कार चलाने का खर्च 50 फीसदी से भी कम हो सकता है।

कौन सी हैं तीन कैटेगरीज

ड्राफ्ट के मुताबिक, पहली कैटेगरी में पैसेंजर कार और स्मॉल गुड्स करियर और 3500 किलोग्राम से कम वजन वाले व्हीकल्स में हाइब्रिड सिस्टम लग सकता है। दूसरी कैटेगरी में 3500 किलोग्राम से ज्यादा वजन वाले व्हीकल और तीसरी कैटेगरी में मोटर व्हीकल्स को इलेक्ट्रिक ऑपरेशन में बदलना है। इसमें इंजन को रिप्लेस किया जा सकता है।

स्टैंडर्ड इंटरनल कम्बशन इंजन (ICE) को हाइब्रिड या इलेक्ट्रिक पावरट्रेन से रिप्लेस करने का केवल ऑथराइज्ड वर्कशॉप्स ही कर सकते हैं। इलेक्ट्रिक या हाइब्रिड किट मैन्युफैक्चरर्स या सप्लायर्स को सरकार की ओर से मान्यता प्राप्त टेस्टिंग एजेंसी से सर्टिफिकेट लेना होगा।

क्‍या है ये सि‍स्‍टम

कुछ टेक्‍नोलॉजी कंपनि‍यां पेट्रोल, डीजल या सीएनजी कारों में इलेक्‍ट्रि‍क या हाइब्रि‍ड मोटर्स को लगाने का काम कर रही हैं। वहीं, कारों में बैटरी को फीट कि‍या जाता है। इसे रेट्रोफि‍टिंग भी कहा जाता है। इसके लि‍ए आपकी कार पेट्रोल या डीजल के अलावा इलेक्‍ट्रि‍क मोटर से भी चल सकेगी।

कैसे काम होता है

केपीआईटी टेक्‍नोलॉजी ने इसके लि‍ए रेवोलो नाम से प्रोडक्‍ट तैयार कि‍या है। इस सि‍स्‍टम में एक इलेक्‍ट्रि‍क मोटर रहती है जि‍से इंजन फैन बेल्‍ट से कनेक्‍ट कि‍या जाता है और lithium ion बैटरी से जोड़ा जाता है जि‍से बाद में आसानी से चार्ज कि‍या जा सकता है।

इलेक्‍ट्रि‍क मोटर पेट्रोल या डीजल इंजन के क्रैंकशाफ्ट को पावर देने का काम करता है जि‍ससे फ्यूल एफि‍शि‍यंसी 35 फीसदी बढ़ जाती है और एमि‍शन में 30 फीसदी की कमी आती है।

ऐसे ही दूसरी कंपनि‍यां भी इलेक्‍ट्रिक कि‍ट प्रोवाइड कर रही हैं। इसमें टारा इंटरनेशनल कंपनी भी है जो इलेक्‍ट्रि‍क या हाइब्रि‍ड रेट्रोफि‍टिंग कि‍ट प्रोवाइड करते हैं। इनके सि‍स्‍टम को लगाने ने कार चलाने का खर्च 60 फीसदी तक कम हो सकता है।

कैसे इंस्‍टॉल होता है सि‍स्‍टम

ऐसी है एक कंपनी इलेक्‍ट्रि‍क व्‍हीकल इंडि‍या कंपनी 2 फीट या 3 फीट ब्‍लैकबॉक्‍स के साथ मोटर, मोटर के लि‍ए कंट्रोलर, चार्जस और बैटरी मैनेजमेंट सि‍स्‍टम देता है। एक यूनि‍ट में करीब 800 से 1000 बैटरीज रहती है।

व्‍हीकल के हॉर्स पावर के आधार पर वि‍भि‍न्‍न कि‍ट्स लगाई जाती है। इनकी रेंज 800 सीसी से 2500 सीसी तक रहता है। इलेक्‍ट्रि‍सि‍टी की 8 यूनि‍ट 7 से 8 घंटे में चार्ज हो सकती है और इसकी स्‍पीड 100 से 120 कि‍मी हो सकती है।

कि‍तनी है इसकी कॉस्‍ट

मारुति‍ ऑल्‍टो जैसी छोटी कार के लि‍ए इसकी कॉस्‍ट करीब 80 हजार रुपए तक रहती है जबकि‍ बड़ी डीजल सेडान या एसयूवी के लि‍ए इसकी कॉस्‍ट लगभग 1 लाख रुपए तक पड़ती है।

यह है सबसे पॉपुलर छोटी कारों का मॉडिफाई अवतार,लुक देखकर पहचान नहीं पाएंगे आप

मॉडिफाई कार में घुमना हर किसी को पसंद है लेकिन इस मंहगें शौक को हर कोई हकिकत में नहीं बदल पाता। क्योंकि इसके लिए बहुत सारे पैसे खर्च करने पड़ जाते हैं। भारत में एक से एक कार मॉडिफिकेशन कंपनियां है लेकिन DC Design का नाम सबसे लोकप्रिय है। इस भारत ही नहीं विदेशों में भी पहचाना जाता है।

इसके किए हुए कार मॉडिफिकेशन को कई बड़े बड़े सेलिब्रिटी भी पसंद करते हैं। संजय दत्त, सलमान खान से लेकर शाहरुख खान कर के लिए ये कंपनी कार डिजाइन कर चुकी है। DC ने भारतीय बाजार में मौजूद कुछ छोटी कारों को भी मॉडिफाई कर एक अलग ही रुप दे दिया है जिसे लोगों ने काफी पसंद भी किया है।

Maruti Swift

Volkswagen Polo

Maruti WagonR pickup

Tata Nano

Hyundai Santro

Hyundai i20

Maruti 800

इन 3 तरह के लोगों को कभी नहीं खरीदना चाहिए बुलेट, वरना पड़ेगा पछताना

देश की सबसे पुरानी मोटरसाइकिल कंपनियों में से एक Royal Enfield है। Royal Enfield को चाहने वालों की कमी नहीं है। इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि कंपनी की सेल्स अप्रैल-जुलाई 2018-19 में 286,726 यूनिट्स रही जोकि सालाना आधार पर 13 फीसदी ज्यादा है।

हालांकि, ऐसे कुछ लोग हैं जिनके लिए रॉयल एनफील्ड फायदा का सौदा नहीं हैं। जैसे कि अगर कोई शख्स बाइक को खरीदने से पहले वैल्यू फॉर मनी के बारे में सोच रहा है तो उसके लिए रॉयल एनफील्ड की जगह दूसरी बाइक्स का ऑप्शन ज्यादा बेहद है।

वैल्यू फॉर मनी

रॉयल एनफील्ड मोटरसाइकिल्स की रेंज 1.16 लाख रुपए से 1.99 लाख रुपए है। कंपनी की ओर से बुलेट 350 से लेकर थंडरबर्ड और हिमालयन तक को बेचा जाता है। वहीं, आदर्श रूप से इन बाइक्स का माइलेज 40 किमी प्रति लीटर से ज्यादा नहीं रहता।

ऐसे में अगर आप ज्यादा माइलेज के बारे में सोच रहे हैं तो आपको दूसरी बाइक का ऑप्शन मिल सकता है। इसके अलावा, रॉयल एनफील्ड की बाइक अपनी सदियों पुरानी परंपरा को लेकर चल रही है इसलिए आप ज्यादा फीचर्स के बारे में सोच भी नहीं सकते।

मॉर्डन फीचर्स

अगर आपको नई बाइक में सभी मॉर्डन फीचर्स चाहिए तो आपको एनफील्ड के बारे में नहीं सोचना चाहिए। कंपनी की केवल हिमालयन बाइक ही ऐसी है जिसमें कुछ फीचर्स जैसे मॉर्डन इंस्ट्रूमेंट क्लस्टर मिल सकते हैं। बाकी सभी बाइक्स में पुराने स्पीडो मीटर ही लगे हैं। इसके अलावा, फ्यूल वॉर्निंग लाइट या एबीएस जैसे फीचर्स चाहते हैं तो आपको मार्केट में दूसरे ऑप्शंस पर विचार करना चाहिए।

अगर आपको हल्की बाइक चाहिए…

रॉयल एनफील्ड बुलेट 138 का वजन 183 किलोग्राम है। इन बाइक्स को हैवी ड्यूटी मैटिरियल के साथ बनाया गया है। ऐसे में इन बाइक्स को बैलेंस करना तो आसान है लेकिन इन बाइक्स को संभालना आसान नहीं है।

इसके अलावा, अगर बाइक बीच रास्ते में खराब हो गई तो आपके लिए इसे खींचना भी मुश्किल है। अगर आपको हल्के वजन वाली बाइक चलानी है तो रॉयल एनफील्ड आपकी लिस्ट से बाहर हो जाएगी।

पुरानी साइकिल को बनाएं इलेक्ट्रिक बाइक,पैडल मारे बिना नॉनस्टॉप चलेगी

आप अपनी पुरानी साइकिल को इलेक्ट्रिक बाइक में कन्वर्ट कर सकते हैं। यानी बिना पैडल मारे आपकी साइकिल नॉनस्टॉप तब तक चलेगी जब तक बैटरी डिस्चार्ज नहीं हो जाती। इसके लिए आपको सिर्फ एक रिचार्जेबल बैटरी और DC मोटर की जरूरत होती है। ये दोनों चीजें मार्केट से आसानी से मिल जाती हैं। इतना ही नहीं, इस तरह की साइकिल को बनाने की प्रॉसेस भी बहुत आसान है। इसे बनाने में सिर्फ 5 मिनट का वक्त लगता है।

इन चीजों की होगी जरूरत

  • 24V DC गियर मोटर
  • 12V की रिचार्जेबल बैटरी
  • लकड़ी का छोटा टुकड़ा
  •  कोल्ड ड्रिंक बोतल का कैप
  • ग्लू, एक नट-बोल्ट, 5 पैकिंग स्ट्रिप्स
  • 2 मीटर वायर और एक स्विच

सबसे पहले 24V DC गियर मोटर के साइज से थोड़ी सी बड़ी एक लकड़ी ले लें। इस लकड़ी में आपको पांच होल करने हैं। ये सभी एक-दूसरे से 1 इंच की दूरी पर होंगे। इनमें 3 होल ऊपर की तरफ सेंटर में और 2 होल नीचे की तरफ आखिरी छोर पर होंगे।

अब लकड़ी पर ग्लू लगाकर DC गियर मोटर को चिपकाएं और सेंटर वाले 3 होल में पैकिंग स्ट्रिप डालकर मोटर को अच्छी तरह फिट कर लें। अब कोल्ड ड्रिंक की कैप को सेंटर में एक होल बनाएं और अंदर की तरफ से उसमें एक बोल्ट नट के साथ डालें। अब इसमें बाहर से भी एक बोल्ट लगाकर अंदर की तरफ ग्लू से पैक कर लें।

अब इस नट को DC गियर मोटर में फिक्स कर लें। इस बात का ध्यान रहे कि ये लूज नहीं होना चाहिए। क्योंकि साइकिल के टायर को घुमाने का काम ये कोल्ड ड्रिंक कैन का कैप ही करेगा। अब मोटर की लकड़ी में नीचे की तरफ ग्लू लगाएं और साइकिल में उस जगह फिक्स करें जहां से कोल्ड ड्रिंक कैप पहिए को घुमा सकें।

अब बैटरी को साइकिल के कैरियर पर फिक्स कर लें। इसके बाद, वायर को बैटरी के प्लस और माइनस प्वाइंट में कनेक्ट कर लें। अब उस वायर को गियर मोटर के एक छोर से कनेक्ट करें। वहीं, दूसरे छोर से एक नया वायर जोड़ें। फिर दोनों वायर के बचे हुए वायर को आपस में कनेक्ट कर लें। जो नए वायर का दूसरा छोर बचा है उसे स्विच में कनेक्ट करके हैंडल पर फिट कर लें।

इस तरह से आपकी साइकिल इलेक्ट्रिक बाइक में कन्वर्ट हो जाएगी। अब आप जैसे ही स्विच को दबाएंगे साइकिल का पहिया घूमाना शुरू हो जाएगा। आप साइकिल को बैटरी के डिस्चार्ज होने तक चला सकते हैं।

वीडियो देखे

खुशखबरी ! आजादी दिवस पर Maruti सहित ये कारों पर 1.50 लाख तक का डिस्काउंट

ऑटोमोबाइल कंपनि‍यों की ओर से 15 अगस्‍त के मौके पर कस्‍टमर्स को हैवी डि‍स्‍काउंट दि‍या जा रहा है। कार कंपनि‍यां – Maruti, Honda से लेकर टाटा मोटर्स तक के वि‍भि‍न्‍न मॉडल्‍स पर 1 लाख से ज्‍यादा का डि‍स्‍काउंट दि‍या जा रहा है।

इसके अलावा, कंपनि‍यों की ओर से एक्‍सचेंज बोनस, लो कॉस्‍ट ईएमआई और सस्‍ते इंश्‍योरेंस का भी ऑफर दि‍या जा रहा है। ऐसे में अगर आप इस महीने नई कार खरीदने की प्‍लानिंग कर रहे हैं तो आपके पास एक अच्‍छा मौका है।

मारुति सुजुकी की कारों पर छूट

देश की सबसे बड़ी कार कंपनी मारुति सुजुकी इंडि‍या की ओर से सेडान सेगमेंट की शि‍आज से लेकर प्रीमि‍यम हैचबैक स्‍वि‍फ्ट पर डि‍स्‍काउंट ऑफर दि‍या जा रहा है। इसके अलावा, कंपनी कारों पर एक्‍सचेंज बोनस भी दे रही है।

किस कार पर कितनी छूट

  • मारुति शि‍आज: 1 लाख रुपए तक का डि‍स्‍काउंट, 50 हजार रुपए का एक्‍सचेंज बोनस।
  • ऑल्‍टो के10: 27 हजार तक का कैश डि‍स्‍काउंट। 35 हजार रुपए का एक्‍सचेंज बोनस।
  • मारुति ऑल्‍टो 800: 30 हजार का कैश डि‍स्‍काउंट। 30 हजार रुपए का एक्‍सचेंज बोनस।
  • मारुति डीजायर:25 हजार का कैश डि‍स्‍काउंट। 30 हजार का एक्‍सचेंज बोनस।
  • मारुति वैगनआर: 35 हजार की छूट।
  • मारुति स्‍वि‍फ्ट:25 हजार रुपए की छूट। 25 हजार का एक्‍सचेंज बोनस।
  • मारुति इग्‍निस: 30 हजार का डि‍स्‍काउंट। 25 हजार रुपए का एक्‍सचेंज बोनस।
  • सेलेरि‍ओ:30 हजार की छूट। 10 हजार रुपए का बोनस।
  • मारुति अर्टि‍गा: 15 हजार रुपए की छूट।

होंडा की कारों पर डि‍स्‍काउंट ऑफर्स

होंडा कार्स इंडि‍या भी अपनी सभी कारों पर कैश डि‍स्‍काउंट से लेकर 1 रुपए में इंश्‍योरेंस जैसे ऑफर्स दे रही है। यह ऑफर्स 2018 मॉडल के साथ-साथ पुराने मॉडल्‍स पर दि‍या जा रहा है।

  • ब्रि‍ओ:19 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • पुरानी अमेज:40 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • पुरानी जैज:75 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • सि‍टी:52 हजार रुपए की छूट।
  • डब्‍ल्‍यूआर-वी: 32 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • बीआर-वी:1 लाख रुपए का बेनेफि‍ट।

महिंद्रा की कारों पर डि‍स्‍काउंट

अपनी स्‍पोर्ट्स यूटि‍लि‍टी व्‍हीकल्‍स (एसयूवी) के लि‍ए फेमस महिंद्रा की ओर से भी कस्‍टमर्स को ऑफर्स दि‍ए जा रहे हैं। कंपनी की ओर से वि‍भि‍न्‍न मॉडल्‍स पर कैश डि‍स्‍काउंट के साथ-साथ एक्‍सचेंज बोनस भी दि‍या जा रहा है।

किस कार पर कितनी छूट

  • महिंद्रा स्‍कॉर्पि‍यो:40 हजार रुपए का डि‍स्‍काउंट, 15 हजार रुपए का एक्‍सचेंज बोनस।
  • महिंद्रा XUV 500:20 हजार रुपए की छूट।
  • महिंद्रा बोलेरो:20 हजार रुपए का डि‍स्‍काउंट।
  • KUV 100:40 हजार रुपए तक का डि‍स्‍काउंट।
  • TUV 300: 50 हजार रुपए तक का डि‍स्‍काउंट

टाटा की कारों पर छूट

टाटा मोटर्स की कारों पर डि‍स्‍काउंट दि‍या जा रहा है।

किस कार पर कितनी छूट

  • टाटा हैक्‍सा:93 हजार रुपए तक का बेनेफि‍ट।
  • टि‍गोर:53 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • टि‍आगो: 37 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।
  • नेक्‍सॉन: 57 हजार रुपए का बेनेफि‍ट।