खुशखबरी! केंद्र सरकार ने किसानों को क़र्ज़ के लिए दी ये बड़ी छूट

देश के किसानों को अब 1.6 लाख रुपए तक का लोन बिना कोई संपत्ति गिरवी रखे मिल जाएगा। अब तक किसानों को सिर्फ एक लाख रुपए तक के लोन कोलैटरल-फ्री मिलते थे। देश के फॉर्मल क्रेडिट सिस्टम में छोटे और सीमांत किसानों को शामिल करने के लिए आरबीआई ने यह फैसला लिया है।

इसके साथ ही 50,000 रुपए तक के छोटे लोन लेने के लिए किसानों को सिर्फ सेल्फ-डिक्लेरेशन जमा कराना होगा। उनके लिए ‘no due’ सर्टिफिकेट जमा कराने की अनिवार्यता खत्म कर दी गई है।

आसानी से मिलेगा कर्ज

वाणिज्य एवं कॉर्पोरेट अफेयर्स मंत्रालय के मुताबिक छोटे, सीमांत, पट्‌टेदारों समेत अन्य किसानों को आसानी से कर्ज मुहैया कराने के लिए ज्वाइंट लाइबिलिटी ग्रुप्स (JLGs) को बैंकों का दर्जा दे दिया गया है।

इसके अलावा सभी किसानों को एक निश्चित आय की गारंटी देने के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि (PM-KISAN) योजना को लागू किया गया है, फिर चाहे उनकी जमीन कितनी भी छोटी क्यों न हो। इस स्कीम के तहत किसानों के बैंक खाते में सालाना 6,000 रुपए जमा कराए जाएंगे। यह रकम 2000 रुपए की तीन किस्त में दी जाएगी।

नई योजना पर काम कर रही है सरकार

केंद्र सरकार किसानों के लिए जल्द ही एक नई स्कीम लॉन्च करने वाली है। इस स्कीम के तहत किसान अपने खेतों या खाली पड़ी जमीनों पर सोलर पैनल स्थापित कर बिजली उत्पादन का कारोबार कर सकते हैं। इससे किसानों को हर साल 1 लाख रुपए तक कमाने का मौका मिलेगा।

इस योजना के तहत किसान सोलर पैनल लगाकर दो मेगावाट तक बिजली का उत्पादन कर सकेंगे। इससे उनको 1 लाख रुपए तक सालाना आय हो सकेगी। केंद्रीय नवीन व नवीकरणीय ऊर्जा (एमएनआरई) मंत्री आरके सिंह ने कहा कि किसानों की ओर से पैदा की जाने वाली इस बिजली को खरीदारी सरकार करेगी। इस योजना की घोषणा अगले कुछ दिनों में की जाने की संभावना है।