खराब मौसम ने बढ़ाई किसानों की चिंता,अगले 24 घंटों के दौरान इन राज्यों में आंधी और बारिश की आशंका

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) के अनुसार जम्मू-कश्मीर के ऊपर एक पश्चिमी विक्षोभ बना हुआ है। इसके कारण विकसित हुआ चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र उत्तरी-राजस्थान के ऊपर बना हुआ है।

पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तरी राजस्थान में कहीं-कहीं हल्की से मध्यम बारिश होने की संभावना है। इन भागों में एक-दो स्थानों पर धूल भरी आंधी के साथ तेज़ बारिश भी होने के आसार हैं। उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और पूर्वोत्तर राज्यों में भी बारिश होने के आसार हैं।

गेहूं के साथ ही रबी फसलों की चल रही है कटाई

प्रमुख उत्पादक राज्यों में गेहूं के साथ ही अन्य रबी फसलों की कटाई चल रही है, ऐसे में बारशि या फिर आंधी से फसलों को नुकसान होने की आशंका है। मौसम विभाग के अनुसार बीते 24 घंटों के दौरान गुजरात, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, राजस्थान, झारखंड, हिमाचल, हरियाणा और नई दिल्ली में बारिश के साथ ही आंधी चलने से फसलें गिर गई है। मौसम विभाग के अनुसार बुधवार और गुरुवार को भी मौसम ऐसा ही रहने का अनुमान है।

अगले 24 घंटे खराब रह सकता है मौसम

भारतीय मौसम विभाग ने बताया कि पाकिस्तान से आए पश्चिमी विक्षोभ और पिछले 3-4 दिनों से चल रही हीटवेव के चलते देश के पश्चिम-उत्तर हिस्से, मध्य क्षेत्र और विदर्भ और पश्चिम बंगाल तक तेज आंधी, गरज और बिजली तड़कने के साथ बारिश और ओले गिरे।

यह स्थिति बुधवार शाम तक रहेगी। गुरुवार से फिर गर्मी बढ़ेगी। इस साल मध्य भारत से विदर्भ तक बार-बार हीटवेव चलेगी। हर छठे दिन आंधी और गरज के साथ बारिश होगी।

मध्य प्रदेश, राजस्थान और हरियाणा में भी मौसम खराब

मध्यप्रदेश में बारिश, आंधी और बिजली गिरने से कई जगहों पर नुकसान हुआ है। मौसम विभाग के मुताबिक, अगले दो दिनों में उत्तर-पश्चिमी और पूर्वी मप्र में आंधी के साथ ही हल्की बारिश की स्थिति बन सकती है। भोपाल में बूंदाबांदी हो सकती है।

राजस्थान में अचानक पलटे मौसम ने जमकर कहर बरपाया। अधिकांश शहरों में आंधी चली, बारिश हुई और ओले गिरे। पेड़ उखड़ गए। खंभे गिर गए। हरियाणाा के कई जिलों में तेज आंधी के साथ बारिश हुई। सिरसा में 7 और हिसार में 3 एमएम बारिश दर्ज की गई। वहीं, ज्यादातर इलाकों में बूंदाबांदी हुई।

पंजाब में बारिश से फसल को नुकसान की आशंका

पंजाब में पिछले 24 घंटों के दौरान 50 से 60 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से चली धूलभरी आंधी और तूफान से कई जिलों में हजारों एकड़ फसल को नुकसान हुआ। पंजाब के फरीदकोट, अबोहर, फाजिल्का, जालंधर, होशियारपुर, अमृतसर और गुरदासपुर में आंधी से सैकड़ों पेड़ गिरने से यातायात बाधित हुआ और बिजली सप्लाई प्रभावित रही।