1 जुलाई से नहीं रहेगी खाते में मिनिमम बैलेंस रखने की ज़रूरत, बैंक देंगे ये 6 सुविधाएं

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने बेसिक अकाउंट धारकों को कई सौगातें दी हैं। आरबीआई की ओर सोमवार को नए नियमों के अनुसार, इन खाताधारकों को चेकबुक समेत 6 प्रकार की सुविधाएं मुफ्त उपलब्ध कराई जाएंगी। साथ ही आरबीआई ने कहा है कि बैंक इन सुविधाओं के लिए खाताधारकों से न्यूनतम राशि रखने के लिए नहीं कह सकते हैं।

यह नए नियम 1 जुलाई 2019 से लागू हो जाएंगे। प्राथमिक बचत बैंक जमा खाता (बीएसबीडी) से आशय ऐसे खातों से है जिसे शून्य राशि से खोला जा सकता है। इसमें कोई न्यूनतम राशि रखने की जरूरत नहीं है। आइए जानते हैं कि बेसिक अकाउंट धारकों को कौन-कौन सी सुविधाएं मिलने जा रही हैं…

कैश डिपॉजिट : आरबीआई के नए नियमों के अनुसार बेसिक अकाउंटधारक शाखा में कैश जमा कर सकते हैं। इसके अलावा उन्हें एटीएम और कैश डिपॉजिट मशीन पर भी कैश जमा करने की सुविधा मिलेगी।

जमा : आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वे ऐसे खाताधारकों को चेक या इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से जमा की सुविधा भी प्रदान करें। इन खातों में केंद्रीय और राज्य एजेंसियों की ओर विभिन्न योजनाओं के तहत चेक या इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से राशि जमा की जाती है।

जमा करने की सीमा : आरबीआई ने बेसिक खाताधारकों को महीने में कितनी बार भी पैसा जमा करने की सुविधा प्रदान की है। साथ ही जमा की जाने वाली राशि पर भी कोई सीमा नहीं होगी।

 एटीएम का इस्तेमाल : आरबीआई ने सभी बैंकों से कहा है कि वह अपने बेसिक खाताधारकों को एक महीने में कम से कम चार बार निकासी की सुविधा प्रदान करें। इसमें एटीएम के जरिए की जाने वाली निकासी भी शामिल है।

एटीएम कार्ड : वित्तीय समावेशी अभियान के तहत आरबीआई ने बैंकों से कहा है कि वह सभी बेसिक खाताधारकों एटीएम कार्ड या एटीएम कम डेबिट कार्ड की सुविधा प्रदान करें।

चेकबुक : केंद्रीय बैंक ने कहा है कि सभी बैंक अपने बेसिक खाताधारकों को अन्य सुविधाओं के तहत चेकबुक जारी कर सकती हैं। आरबीआई ने कहा है कि बैंक इन सुविधाओं के लिए किसी भी प्रकार का शुल्क नहीं लेंगे। साथ ही ग्राहकों से खातों में न्यूनतम बैलेंस रखने के लिए भी नहीं कहेंगे।