भारतीय वैज्ञानिकों ने खोजा ये नया फल चीनी से ज्यादा मीठा फिर भी शुगर फ्री

चीनी भले ही आपका स्वाद बढ़ा देती हैं लेकिन इसके नुकसान भी बहुत है और अगर इसकी जगह कोई ऐसा फल हो जो मीठे होने के साथ ही साथ कम कैलोरी वाला हो तो कितनी मुश्किलें आसान हो जाएगीं। भारतीय वैज्ञानिकों ने एक बार फिर करिश्मा कर दिखाया है।

आईएचबीटी और CSIR के वैज्ञानिकों की टीम ने मिलकर पालमपुर में सफलतापूर्वक एक ऐसा चीनी मॉन्क फल उगाया है जो चीनी से कहीं ज्यादा मीठा है और शुगर फ्री भी है। वैज्ञानिकों को उम्मीद है कि बहुत ही जल्द इस फल से बने स्वीटनर्स बाजार में मिलने लगेंगे।

भारत में करीब 62.4 मिलियन लोग डायबिटीज से पीड़ित हैं जो अपने आप में एक बड़ी संख्या है। ऐसे में ये फल कितना फायदेमंद हो सकता है ये आगे के रिजल्ट से ही पता चलेगा। भारत दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा चीनी उत्पादक देश है।

डायबिटीज मरीजों के लिए फायदेमंद होगा ये फल

डेली पायनियर से बताचीत के समय, हिमाचल प्रदेश के पालमपुर स्थित सीएसआईआर-आईएचबीटी के निदेशक डॉ संजय कुमार ने कहा, ‘भारत में 62.4 मिलियन लोगों को टाइप4 का मधुमेह है, ऐसे में यह फल उनके लिए वरदान साबित होगा। हमने जो प्रयोग किए हैं वो सफल हो गए हैं। ये फल चीनी से 300गुना ज्यादा मीठा है।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हिमालया बॉयो रिसोर्स टेक्नोलॉजी (IHBT) और कांउसिल ऑफ साइंटिफिक एंड इंड्रस्टीरियल रिसर्च (CSIR) के लैब मिलकर अब इस फल को मार्केट में लाने की तैयारी कर रहे हैं। डायबिटीज के मरीजों के लिए तो ये फल फायदेमंद है ही इसके अलावा यह कैलोरी वाले उत्पादों का निर्माण करने वाले खाद्य उत्पादकों के लिए भी फायदेमंद हो सकता है।

मॉन्क फल को उगाने के लिये अलग कृषि-तकनीक के साथ उपयुक्त पौध और वैज्ञानिक तकनीकों की जरूरत होती है और ये अभी तक चीन में ही हो रहा है, इस फल की व्यवसायिक खेती कहीं और नहीं होती है।