ये है इतिहास का सबसे अमीर ड्रग स्मगलर, इसके पास थी इतनी दौलत कि हर साल अरबों रुपए तो चूहे ही खा जाते थे

अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए दुनिया के सबसे खूंखार ड्रग लॉर्ड रहे पाब्लो एस्कोबर का खजाना तलाशेगी। सीआईए के एजेंट्स ने वो जगह भी तलाश ली है, जहां उसकी करोड़ों के खजाने से भरी सबमरीन डूबी थी। करीब दो दशक पहले दुनियाभर में ड्रग लॉर्ड पाब्लो एमिलियो एस्कोबार गैविरिया का नाम चलता था।

  •  पाब्लो एमिलियो एस्कोबार गैविरिया एक कोलंबियाई ड्रग माफिया था, जो कोकीन का काला कारोबार करता था।
  • पाब्लो के भाई रॉबर्टो एस्कोबार की किताब ‘द एकाउंट्स स्टोरी’ के मुताबिक, वो कई बार एक दिन में 15 टन कोकीन की तस्करी करता था।
  • 1989 में फोर्ब्स मैगजीन ने एस्कोबार को दुनिया का 7वां सबसे अमीर शख्स बताया था। उसकी अनुमानित निजी संपत्ति 30 बिलियन डॉलर यानी 16 खरब रुपए थी। उसके पास कई लग्जरी मकान और गाड़ियां थीं।

चूहे खा जाते थे नोट

पाब्लो के भाई रॉबर्टो ने बताया था कि जिस वक्त पाब्लो का सालाना मुनाफा 126988 करोड़ रुपए था, उस वक्त उसके गोदाम में रखी इस रकम का 10 फीसदी हिस्सा तो चूहे खा जाते थे। या फिर पानी और अन्य वजहों से ये खराब हो जाता था।

रॉबर्टो के मुताबिक, वो एक लाख 67 हजार रुपए (2,500 डॉलर) हर महीने नोट की गड्डियां बांधने के लिए रबर बैंड पर खर्च कर देता था। 1986 में उसने कोलंबिया की पॉलिटिक्स में घुसने की कोशिश की। इसके लिए उसने देश के 10 बिलियन डॉलर (5.4 खरब रुपये) के राष्ट्रीय कर्ज को चुकाने की पेशकश भी रखी।

गरीबों का मसीहा

  •  पाब्लो कोलंबियाई सरकारों और अमेरिका का एक बड़ा दुश्मन था। इसके बावजूद उसे मेडेलिन में गरीबों का मसीहा माना जाता था।
  •  पाब्लो ने कई चर्च भी बनवाए, जिसने उसे लोकल रोमन कैथोलिक समाज में काफी लोकप्रियता दिलाई। ‘रॉबिन हुड’ की छवि पाने के लिए उसने बहुत मेहनत की।

15 साल की लड़की से की थी शादी

  • 1976 में 26 साल की उम्र में पाब्लो ने 15 साल की मारिया विक्टोरिया से शादी की। उनके दो बच्चे जुआन पाब्लो और मैनुएला थे।
  • एस्कोबार ने 5000 एकड़ में फैला हैसियेंदा नैपोलेस (नेपल्स एस्टेट) नाम का एक आलीशान स्टेट तैयार किया था। उसका परिवार इसी में रहता था।
  • इसके साथ ही उसने इसके पास ग्रीक शैली के एक किले के कंस्ट्रक्शन की योजना बनाई थी। किले का कंस्ट्रक्शन शुरू भी कर दिया गया था, लेकिन यह कभी पूरा नहीं हो पाया।
  • उसके खेत, चिड़ियाघर और किले को सरकार ने जब्त कर लिया और 1990 में इसे एक्सटिंक्शन दे डोमिनो नाम के एक कानून के तहत कम आमदनी वाले परिवारों को दे दिया गया।