अब आ गई है बिना दर्द के कैंसर का जड़ से इलाज़ करने वाली दवा, 2020 में होगी लॉन्च

कैंसर का इलाज अभी तक विज्ञान में मिल नहीं पाया था, लेकिन इज़राइल के वैज्ञानिकों  ने यह दावा किया है कि 2020 तक कैंसर का जड़ से इलाज मुमकिन है. ये वैज्ञानिक अपने परीक्षण के आखिरी स्टेज पर हैं. अगर वह सफल हो जाते हैं तो ये दुनिया का पहली ऐसी दवाई बना लेगें, जिससे कैंसर पूरी तरह से मरीज के शरीर से खत्म हो सकता है.

डब्ड मुटाटो नाम से एनोल्यूशन बायोटेक्नोलॉजिज़ लिमिटेड कंपनी से जुड़े वैज्ञानिकों से इस दवाई का अविष्कार किया है. जो सफल होते ही अगले साल यानी 2020 तक कैंसर जैसी घातक बीमारी से लड़ रहे मरीज़ों के लिए उपलब्ध होगी.

द जेरुसलेम टाइम्स को कंपनी के चेयरमैन डैन एरिडोर ने बताया कि, ‘हमारी बनाई हुई ये कैंसर की दवा पहले दिन से ही अपना असर दिखाएगी. इसके ना तो कोई साइड इफेक्ट्स हैं और ना ही ये दवा महंगी है. बाज़ार में मौजूद महंगे ट्रीटमेंट्स से अलग ये दवा काफी सस्ती है. हमारा समाधान सामान्य और व्यक्तिगत दोनों होगा.’

फोर्ब्स में छपी इस खबर के मुताबिक मुटाटो कैंसर-टार्गेटिंग पेप्टीडेस और यूनिक टॉक्सिन का मिश्रण है जो सिर्फ कैंसर सेल्स को टार्गेट करता है. इससे हेल्दी सेल्स को कोई नुकसान नहीं पहुंचता.इन वैज्ञानिकों का दावा है कि यह सभी मरीज़ों के लिए अति-व्यक्तिगत होगा.

फिलहाल चूहों पर इस दवा का सफल परीक्षण हो चुका है और इसी साल 2019 में इंसानों पर भी इसका ट्रायल किया जाएगा. अगर यह ट्रायल सफल हुआ तो इससे लाखों कैंसर से जूझ रहे मरीज़ों की जानें बचाई जा सकेंगी.

इस तरह दिखेगी मारुती की नई Alto, इस महीने हो सकती है लांच

मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) अपनी एंट्री लेवल कार आल्टो (Alto) का अपग्रेड मॉडल लॉन्च करने की तैयार में है। कंपनी इस बात का ऐलान भी कर चुकी है कि इस कार को इसी साल अक्टूबर में ग्लोबल लॉन्च किया जाएगा।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस कार का मॉडल पूरी तरह बदल जाएगा। यानी कस्टमर को ऑल न्यू आल्टो मिलेगी। कुछ रिपोर्ट्स में ऐसा कहा गया है कि इसका मॉडल Maruti Regina से मिलता-जुलता होगा।

न्यू आल्टो के फीचर्स

ग्लोबल मार्केट में उपलब्ध मारुति अल्टो भारत में मिलने वाली मारुति सुजुकी अल्टो 800 से काफी अलग है। इसमें नया प्लेटफॉर्म और नया इंजन दिया गया है, जिसे अक्टूबर 2014 में लॉन्च किया गया था। जापानीज सुजुकी अल्टो में 660 सीसी का इंजन है।

नई जनरेशन अल्टो सुजुकी के हर्टेक्ट प्लेटफॉर्म पर बेस्ड है जो मारुति सुजुकी डिजायर, स्विफ्ट और ऑल न्यू वैगनआर में भी मिलता है। नए प्लेटफॉर्म पर बेस्ड होने के कारण नई अल्टो का वजन कम हुआ है बल्कि कार में अब पहले से बेहतर डायनामिक्स भी मिलते हैं।

आल्टो मारुति की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार भी है। इस कार की सेलिंग दूसरी कंपनियों के तुलना में सबसे ज्यादा रही है। 2004 से लगातार 14 साल तक ये सबसे ज्यादा बिकने वाली कार भी रही। कंपनी के रिकॉर्ड के मुताबिक मार्च 2018 में इसकी 35 लाख यूनिट इंडिया में बेची जा चुकी हैं।

कम कीमत, ज्यादा माइलेज

इंडिया में आल्टो के दो मॉडल 800 और K10 आते हैं। Alto पेट्रोल और CNG वेरिएंट में भी आती है। CNG में इसके दो मॉडल LXI और VXI हैं। पेट्रोल वेरिएंट की दिल्ली एक्स-शोरूम प्राइस 2.63 लाख रुपए और CNG वेरिएंट की एक्स-शोरूम प्राइस 3.83 लाख रुपए है। कंपनी का ऐसा दावा है कि CNG का माइलेज 33.44 km/l और पेट्रोल का 24.70 km/l है।

भारत में बदल रहे सेफ्टी नियम

सरकार द्वारा कार सेफ्टी से जुड़ी नई गाइडलाइन जारी की गई है। जिसमें एयरबैग, ABS, बैक सेंसर के साथ दूसरे सेफ्टी फीचर्स होना जरूरी है। साथ ही, 2020 से सेल होने वाली सभी कारों में BS-VI इंडन होना चाहिए। ऐसे में अब न्यू आल्टो को पहले ज्यादा हाईटेक बनाया जा रहा है।

ऐसे शुरू करें पापड़ बनाने का बिजनेस, 4 लाख का लोन देगी मोदी सरकार

अगर आप दो लाख रुपए के इन्वेस्टमेंट से बिजनेस शुरू करना चाहते है, तो पापड़ मेकिंग एक अच्छा बिजनेस हो सकता है। भारत सरकार के उपक्रम नेशनल स्मॉल इंडस्ट्रीज कॉरपोरेशन (NSIC) ने इसके लिए एक प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार की है।

जिसके जरिए आपको मुद्रा स्कीम के तहत 4 लाख रुपए का लोन सस्ते रेट पर मिल जाएगा। रिपोर्ट के अनुसार 6 लाख रुपए के टोटल इन्वेस्टमेंट से करीब 30 हजार किलो की प्रोडक्शन कैपेसिटी तैयार हो जाएगी। इस कैपिसिटी के लिए 250 वर्गमीटर जमीन की जरूरत पड़ेगी।

टोटल खर्च: 6.05 लाख रुपए

टोटल खर्च में फिक्स्‍ड कैपिटल और वर्किंग कैपिटल का खर्च शामिल है।
फिक्स्‍ड कैपिटल: इसमें हर तरह की डो मशीन, पैकेजिंग मशीन, इक्विपमेंट जैसे तमाम खर्च शामिल है।

वर्किंग कैपिटल: इसमें स्टाफ की 3महीने की सैलरी, तीन महीने में लगने वाले रॉ मैटेरियल और यूटिलिटी प्रोडक्ट का खर्च शामिल है। इसके अलावा इसमें किराया, बिजली, पानी, टेलिफोन का बिल जैसे खर्च भी शामिल हैं।

क्या होना चाहिए जरूरी?

इसके लिए आपके पास एक जगह होनी चाहिए। अगर आपके पास जगह नहीं है तो इसे रेंट पर लिया जा सकता है, जिसके लिए आपको 3 हजार रुपए महीने तक रेंट देना होगा। मैन पावर में 3 अनस्किल्ड लेबर, 2 स्किल्ड लेबर और एक सुपवाइजर रखना होगा। इन सबकी सैलरी पर 25,000 रुपए खर्च होगा, जो जो वर्किंग कैपिटल में ऐड किया गया है।

लेनी होगी ये मशीनरी

  • शिफ्टर
  • डो मिक्सर
  • प्लेटफॉर्म बैलेंस
  • इलेक्ट्रिकली ऑपरेटेड ओवन
  • मार्बल टेबल टॉप, चकला-बेलन
  • एलूमिनियम के बर्तन और रैक्स

इतनी चाहिए जगह..

पापड़ का बिजनेस करने के लिए 250 वर्ग मीटर का एरिया चाहिए।

मुद्रा स्कीम में करें अप्लाई

इसमें आपको 2 लाख रुपए अपने पास से लगाना होगा। सरकार की मुद्रा योजना के तहत 4 लाख रुपए तक का लोन मिल जाएगा।

कैसे करें अप्लाई?

इसके लिए प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप किसी भी बैंक में अप्लाई कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक फॉर्म भरना होगा, जिसमें ये डिटेल देनी होगी…

नाम, पता, बिजनेस एड्रेस, एजुकेशन, मौजूदा इनकम और कि‍तना लोन चाहिए। इसमें किसी तरह की प्रोसेसिंग फीस या गारंटी फीस भी नहीं देनी होती। लोन का अमाउंट 5 साल में लौटा सकते हैं।

आधे दाम में मिल रही है महिंद्रा स्कॉर्पियो और टाटा सफारी, यह से खरीदें

अगर आप सेकंड हैंड एसयूवी खरीदने के बारे में प्लान कर रहे हैं तो आज हम आपको उन बेहतरीन एसयूवी के बारे में बता रहे हैं जो कि आपको दिल्ली के सेकंड हैंड कार बाजारों में आधे दामों में मिल जाएगी। इन एसयूवी की खास बात ये है कि ये लंबे समय तक चलने के बाद अच्छी कंडीशन में रहती हैं। आइए जानते हैं कौन सी हैं ये एसयूवी और किन जगहों पर सस्ती मिल सकती हैं।

महिंद्रा स्कॉर्पियो 

इंजन और पावर की बात की जाए तो महिंद्रा स्कॉर्पियो में 2523 सीसी का 4 सिलेंडर वाला इंजन है जो कि 75 बीएचपी की पावर और 200 एनएम का टार्क जनरेट करता है। इसी के साथ स्कॉर्पियो में 2179 सीसी का सीआरडीआई इंजन दिया गया है जो कि 120 बीएचपी की पावर और 280 एनएम का टार्क जनरेट करता है। स्कॉर्पियो में 6-स्पीड गियरबॉक्स और 4×4 पावर का विकल्प आता है। सीटिंग स्पेस की बात की जाए तो स्कॉर्पियो में 8-9 सीटिंग का विकल्प आता है। कीमत की बात की जाए तो महिंद्रा स्कॉर्पियो की एक्स शोरूम कीमत 10 लाख से 16.35 लाख रुपये तक है।

टाटा सफारी

इंजन और पावर इंजन और पावर की बात करें तो टाटा सफारी में 2179 सीसी का 4 सिलेंडर वाला इंजन दिया गया है जो कि 138 बीएचपी की पावर और 320 न्यूटन मीटर का टार्क जनरेट करता है। 7 सीट वाली ये एसयूवी 5 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से लैस है। फीचर्स की बात की जाए तो इस एसयूवी में पावर स्टीयरिंग, एसी, पावर विंडो, पावर ब्रेक और म्यूजिक सिस्टम जैसे ज्यादा दमदार फीचर्स दिए गए हैं। सेफ्टी फीचर्स के लिए इसमें एयरबैग्स और एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम जैसे फीचर्स दिए गए हैं। कीमत की बात की जाए तो इस एसयूवी की एक्स शोरूम कीमत लगभग 15 लाख रुपये है।

टोयोटा फॉर्च्यूनर 

इंजन और पावर की बात की जाए तो टोयोटा फॉर्च्यूनर में 2982 सीसी का 4 सिलेंडर वाला इंजन दिया गया है जो कि 169 बीएचपी की पावर और 360 न्यूटन मीटर का टार्क जनरेट करता है। माइलेज की बात की जाए तो ये एसयूवी प्रति लीटर में 13 किमी का दमदार माइलेज दे सकती है।

अधिकतम स्पीड की बात की जाए तो ये एसयूवी 176 किमी प्रति घंटे की स्पीड से दौड़ सकती है और मात्र 9.6 सेकंड में 0-100 किमी प्रति घंटे की स्पीड पकड़ सकती है।सेफ्टी फीचर्स की बात की जाए तो ये एसयूवी एंटी लॉक ब्रेकिंग सिस्टम और एयरबैग्स जैसे फीचर्स दिए गए हैं। कीमत की बात की जाए तो टोयोटा फॉर्च्यूनर की एक्स शोरूम कीमत लगभग 32 लाख रुपये है।

ये है दुनिया का सबसे महंगा फल, एक फल की क़ीमत महीने भर के राशन से ज्यादा

फल सेहत के लिए बहुत अच्छे होते है, रोज़ाना फल खाने से आपकी सेहत पर काफी अच्छा असर पड़ता है और साथ ही ये चेहरे पर निखार भी लाते हैं. आपने बहुत से ऐसे फलों के बारे में तो सुना होगा जो बहुत महंगे आते हैं.

जैसे कि अगर देखा जाये तो अवोकेडो, ड्रैगन फ्रूट, कीवी ये सारे फल एक मध्यम वर्ग के परिवार के लिए महंगे ही होते हैं, जिनको वो रोजाना के तौर पर नहीं खा सकते ऐसे में आपको पता चले कि आपके महीने कि तनख्वा से भी कई ज्यादा महंगा एक फल है, तो आपको ये बात मजाक लगेगी, पर दरसल ये सच है.

डूरियन का नाम फल है सबसे महंगा

इंडोनेशिया में इस वक्त डूरियन का नाम फल काफी चर्चा में, ये फल बाहर से दिखने में तो बिलकुल कटहल कि तरह है पर अंदर से ये हल्के पिले रंग का होता है और इसका स्वाद मूंगफली के मक्खन जैसा होता है. इस फल कि जो सबसे जानी मानी नस्ल है उसका नाम है डुरियो zibethinus है और इसकी कीमत 71,145 रुपए ($1,000) बताई जा रही है. ये फल इंडोनेशिया के वेस्ट जावा के एक शॉपिंग सेंटर में बिक रहा हैं.

डूरियन का विश्व में बचा है बस एक ही पेड़

डूरियन फल कि कीमत इतनी ज्यादा इसलिए बताई जा रही है क्योंकि ये फल J-QUEEN पेड़ पर उगता है और ये केवल वहां एक लौता पेड़ है और इस पर भी तीन साल में एक बार ही फल लगता है. इस पेड़ को दक्षिण पूर्व एशिया में कई पुरूस्कार भी मिल चुके हैं. आपको बता दें कि रिपोर्ट्स के अनुसार लोग शॉपिंग सेंटर आकर इस फल के साथ तस्वीर खिंचवा रहे हैं. अब तक ये 2 फल बेचे भी जा चुके हैं.

इन 15 स्मार्टफोन से निकल रही है खतरनाक रेडिएशन, कहीं आप तो नहीं कर रहे Use

अगर आप स्मार्टफोन यूजर हैं, तो स्मार्टफोन से निकलने वाली रेडिएशन के बारे में तो जानते ही होंगे। स्मार्टफोन से निकलने वाली तरंगे इंसान के शरीर और दिमाग पर असर डालती हैं और ज्यादा रेडिएशन से आपको गंभीर नुकसान पहुंच सकता है। इसीलिए इन स्मार्टफोन के निर्माण के समय उनसे निकलने वाली रेडिएशन को एक स्टेंडर्ड लिमिट के अंदर होना जरूरी है।

क्या आप जानते हैं कि आप जो मोबाइल यूज कर रहे हैं उसमें से कितनी रेडिएशन निकलती है और वो फोन आपके लिए काफी खतरनाक हो सकता है। द जर्मन फेडरल ऑफिस फॉर रेडिएशन प्रोटेक्शन ने हाल ही में कुछ स्मार्टफोन की लिस्ट पेश की है, जिनसे सबसे ज्यादा रेडिएशन निकलती है।यहां हम टॉप 16 स्मार्टफोन की लिस्ट लेकर आए हैं,अगर आपके पास भी इनमें से कोई स्मार्टफोन है, तो सावधान हो जाइए क्योंकि ये आपको खतरनाक नुकसान पहुंचा सकती है।

हर मोबाइल से रेडिएशन निकलती है लेकिन चीनी स्मार्टफोन ब्रांड इस लिस्ट में सबसे ऊपर हैं। शाओमी का मी ए1 स्मार्टफोन इस लिस्ट में सबसे ज्यादा रेडिएशन छोड़ने वाले मोबाइल है।न सिर्फ चीनी एंड्राइड स्मार्टफोन निर्माता कंपनी बल्कि अमेरिकी दिग्गज कंपनी ऐपल के आईफोन भी इस लिस्ट में शामिल हैं। आईफोन 7, आईफोन 7 प्लस और आईफोन 8 से भी खतरनाक रेडिएशन निकलती हैं। इसके अलावा सोनी, ज़ेडटीई और ब्लैकबेरी कंपनी के स्मार्टफोन भी यहां लिस्ट हैं।

आइए जानते हैं किस मोबाइल से कितनी रेडिएशन निकलती है…

Oneplus 5T-1.68 रेडिएशन

Huawei mate 9-1.64 रेडिएशन

Nokia lumia 630-1.51 रेडिएशन

Huawei p9 plus-1.48 रेडिएशन

Huawei g8x-1.44 रेडिएशन

Huawei nova plus-1.41 रेडिएशन

Oneplus 5-1.39 रेडिएशन

Huawei p9 lite- 1.38 रेडिएशन

iphone 7-1.38 रेडिएशन

Sony xperia xz1 compact- 1.36 रेडिएशन

iphone 8- 1.32 रेडिएशन

zte axon 7 mini- 1.29 रेडिएशन

blackberry DTEK60- 1.28 रेडिएशन

कभी अपने सोचा है की बल पेन के ढक्क्न में क्यों होता है छेद?

हर चीज का अपना एक डिजाइन होता है, डिजाइन तय होता है जरूरत से. कई चीजें बड़ी विचित्र होती हैं मगर उनको देखकर समझ ही नहीं आता कि उसकी क्या जरूरत पड़ती होगी. ऐसे ही, बॉल पेन के ऊपर लगे कैप में बना छेद. ज्यादातर बॉल पेन के डिजाइन में ये बात कॉमन होती है. आपने कभी सोचा है कि ये छेद होता क्यों है?

कई लोग सोचते हैं कि ये स्याही की वजह से होता है. ताकि पेन के अंदर हवा जाती रहे और रिफिल के अंदर भरी स्याही न सूखे. मगर ये छेद इसलिए नहीं होता. बल्कि, सावधानी के तौर पर बनाया जाता है. पेन बनाने वाली कंपनियां एहतियातन ये छेद बनाती हैं.

मान लो कभी कोई इंसान गलती से पेन के कैप को गटक जाए. फिर क्या होगा? पेन जाकर उसके गले में फंस जाएगा. सांस लेने वाली नली में. वो नली बहुत संकरी होती है. पतली सी. तो ढक्कन फंसने पर इंसान सांस नहीं ले पाएगा और दम घुटने से मर जाएगा. बस उसी समय का सोचकर कंपनियां पेन के ढक्कन में छेद बना देती हैं. ताकि, इस छेद के रास्ते हवा आती-जाती रहे. जोखिम कम हो जाए

हर साल कई लोग ऐसी मौत मरते हैं

पेन का इस्तेमाल बच्चे भी खूब करते है, बच्चों के इस्तेमाल से जुड़ी चीजों को बनाने में ज्यादा सावधानी बरती जाती है. ये जो छेद होता है, वो अंतरराष्ट्रीय सेफ्टी फीचर है. अमेरिका में हर साल करीब 100 लोग ऐसे ही मरते हैं. बाकी देशों में भी ऐसी मौतें होती हैं.

रोजाना दूध के गिलास में डालें यह 5 चीज़ें, नहीं पड़ेगी वायग्रा की ज़रूरत

बहुत से लोग सेक्स क्षमता बढ़ाने के लिए वियाग्रा का इस्तेमाल करते हैं. जबकि कुछ लोग सेक्स इच्छा प्रबल करने के लिए ऐसा करते हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं आप कुछ घरेलु नुस्खों से ऐसा फॉर्मूला तैयार कर सकते हैं जो आपकी जरूरत को हमेशा के लिए खत्म कर देगा. चलिए जानते हैं आपको क्या करना होगा.

आपको जानकर हैरानी होगी दूध सिर्फ आपकी ओवरऑल हेल्थ को ठीक नहीं करता बल्कि आपकी सेक्सुअल हेल्थ के लिए भी अच्छा है. यदि आप आधा कप दूध में 3 चम्म‍च बरगद के पेड़ की जड़ों का पाउडर मिलाकर पीएंगे तो ये नुस्खा वियाग्रा जैसा काम करेगा.

1 कप दूध में 1 चम्मच ताजे पिसे हुए अदरक को उबालें. 15-20 मिनट के लिए इसे धीमी आंच पर उबाल लें. स्वादानुसार चीनी डालें और इसे दिन में दो बार लें. आपको कुछ ही समय में फायदा दिखने लगेगा. रोजाना केसर का सेवन अपनी बेड पर परफॉर्मेंस बढ़ा सकता है.

केसर न्यूरोट्रांसमीटर के स्तर को बढ़ाकर और तनाव को कम करके और आपको मूड को बेहतर करती है और सेक्स क्षमता में सुधार करता है. गर्म दूध में केसर मिलाकर रोजाना लेने से ये दोगुना ज्यादा काम करेगा.  सौंफ खाने से हैप्पी हार्मोन एंडोर्फिन रिलीज होता है.

दूध के साथ इसे लेने से आपको रिलैक्स होने में मदद मिलती है. शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन में पाया गया कि सेफ्ड मूसली के सूखी जड़ों में 25 एल्कलॉइड होता है. इसमें शुक्राणुओं की संख्या और पुरुषों की शक्ति को बढ़ाने की क्षमता होती है. गर्म दूध के साथ मूसली को लें.

यह है गन्ने की आटोमेटिक मशीन, एक मिंट में निकलती है एक लीटर रस

आप ने अपने आस पास जा शहर में बहुत सी गन्ने का रस निकलने वाली मशीने देखि होंगी | ज्यादातर गन्ने की रस निकलने वाली मशीने को चलाने के लिए डीजल इंजन लगा होता है जो बहुत आवाज और प्रदूषण फैलता है | और इस मशीन का आकर और वजन भी काफी ज्यादा होता है साथ में इसे आप किसी बंद दुकान में नहीं लगा सकते क्योंकि इस से दुकान में बहुत धुआं हो जायेगा | इसके इलावा हाथ से चलने वाली मशीने भी आती है जिसमे बहुत मेहनत और वकत लगता है |

ऐसे में किसान एग्रो मार्ट कंपनी एक बहुत ही बढ़िया बिजली से चलने वाली मशीन ले कर आई है | इस मशीन की खास बात ये है के छोटी होने के साथ साथ यह मशीन बिलकुल भी प्रदूषण नहीं फैलती | क्योंकि यह मशीन पूरी तरह से औटोमैटिक है | यह मशीन गोदरेज कंपनी की 1 HP की सिंगल फेस मोटर पर बिजली से चलती है |

यह मशीन स्टेनलेस स्टील से त्यार की गई है और दूसरी मशीनों की तरह इसमें एक गन्ने को बार बार नहीं डालना पड़ता इस मशीन के अंदर 3 रोल होते है जिस से सिर्फ एक बार में यह मशीने साफ सुथरा गन्ने का रस त्यार कर देती है |

यह मशीने एक मिंट में 1 लीटर से ज्यादा रस निकल देती है | इसका एक मॉडल डस्टबिन के साथ भी आता है | जिसके अंदर गन्ने के अवशेष अपने आप चले जाते है और बिलकुल भी गंदगी नहीं फैलती | इस मशीन को आप अपनी दुकान ,घर कहीं भी इस्तेमाल कर सकते है | इस मशीन की कीमत लगभग 90 हज़ार है |

और ज्यादा जानकारी के लिए आप किसान एग्रो मार्ट कंपनी से इस नंबर 0903332966 पर सपर्क कर सकते है |

यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए यह वीडियो देखें

नोट: और भी बहुत सी कंपनी है जो ऐसी मशीन बनती है कृप्या कोई मशीन खरीदने से पहले अपनी तसली कर ले हमारा मकसद सिर्फ आप को नई मशीन से अवगत करना है |

जानिए बजट 2019 में आम लोगों और किसानों को क्या कुछ मिला?

मोदी सरकार आज संसद में अंतरिम बजट पेश कर दिया है। लोकसभा में अरुण जेटली की जगह वित्त मंत्रालय संभाल रहे पीयूष गोयल इस बार बजट स्पीच पढ़ी। परंपरा के मुताबिक, चुनाव के बाद आने वाली सरकार ही पूर्ण बजट पेश करेगी। सरकार अंतरिम बजट में किसानों और युवाओं के लिए कई बड़े ऐलान किए है। आइए जानिए बजट में पीयूष गोयल में आम जनता के लिए क्या घोषणाएं की-

किसानों के लिए आई सौगात

पीयूष गोयल ने देश के किसानों के बाद मजदूरों को भी बड़ा तोहफा दे दिया। गोयल ने प्रधानमंत्री श्रम योगी महाधन योजना को लॉन्च किया है जिसके अंतर्गत मजदूरों को 60 वर्ष तक 3000 रुपये महीने की पेंशन मिलेगी। गोयल ने कहा कि हमारी सरकार ने किसानों की आय दोगुनी करने के लिए 22 फसलों का एमएसपी बढ़ाया है।

  • दो हक्टेयर जमीन तक के किसान को 6 हजार तक का डायरेक्ट सपोर्ट दिया जाएगा।
  • मनरेगा के लिए 60 हजार करोड़ का आवंटन दिया साथ ही में 60 साल से अधिक उम्र वाले मजदूरों को 3000 रूपए पेंशन का भी ऐलान किया।
  • गौ माता के लिए बजट में बड़ा ऐलान किया गया जिसने सरकार ने बताया कि सरकार द्वारा जल्द कामधेनु योजना की शुरूआत की जाएगी।

  • कमजोर और छोटे किसान को हर साल 6 हजार रुपए दिए जाएंगे ताकि किसानों की आमदनी बढ़ सके। ये तीन किस्त 2 हजार -2 हजार रुपये मिलेंगे।
  • ये पैसे सीधे किसानों के खाते में जाएंगे, इसकी 100 फीसदी सरकार फंडिंग करेगी।
  • पीयूष गोयल ने कहा कि ये स्कीम एक दिसंबर 2018 से लागू होगी जिससे देश के 12 करोड़ किसान परिवारों को इसका लाभ मिलेगा।
  • तीन किस्तों में किसानों को मिलेगा योजना का लाभ मिलेगा।

मिडिल क्लास को बड़ा तोहफा

सरकार बजट में मिडिल क्लास को बड़ा तोहफा दे दिया। वित्त मंत्री आज इनकम टैक्स छूट की लिमिट को बढ़ा दी है। अब इनकम टैक्स छूट की सीमा को 5 लाख रुपए किया जा सकता है।
5 लाख तक की आय टैक्स फ्री किए जाने की घोषणा के बाद लोकसभा में लगे मोदी-मोदी के नारे। 3 करोड़ टैक्स देने वालों को होगा इससे फायदा।

  • अब 1 लाख 30 करोड़ की सपंति होगी टैक्स के दायरे में साथ में ही नई कंपनियों को भी 25 फीसदी कॉरपोरेट टैक्स देना होगा।
  • बजट में घर खरीदने वालों के लिए जीएसटी घटाने का फैसला विचाराधीन रखा गया है।
  • बजट दौरान घोषणा करते हुए गोयल ने कहा कि अब 15 हजार कमाने वालों को मिलेगी पेंशन।
  • नौकरीपेशा लोगों के लिए बजट काफी खास रहा। सरकार ने बड़ा फैसला लेते हुए 21000 प्रति माह कमाने वालों को भी बोनस देने का फैसला किया है।