इस लड़की ने पीया लौकी का जूस,फिर हुआ वो जो कोई सोच भी नहीं सकता

लौकी का जूस पीने के बाद 42 वर्षीय लेडी सॉफ्टेवयर इंजीनियर की मौत का मामला सामने आया है। 12 जून को लेडी सुबह करीब 5 किमी की वॉक के बाद घर लौटी थी। इसके बाद सुबह 9.30 बजे उसने लौकी का जूस पीया था।

ऑफिस जाते समय रास्ते में कार में उसे उल्टियां होने लगीं, तो वो वापस घर लौटी। दोपहर को उसके पड़ोसी पास के एक निजी हॉस्पिटल ले गए। 4 दिन चले इलाज के बाद 16 जून की रात उसकी मौत हो गई। यह मामला अब मीडिया की सुर्खियों में आया है।

जैसा कि पति मयूर शाह ने मीडिया को बताया

  • ‘गौरी एक प्राइवेट कंपनी में जॉब करती थी। वो अपनी हेल्थ को लेकर काफी सजग थी। कुछ दिनों से वो लौकी, गाजर आदि का जूस भी पीने लगी थी। उसे डायबिटीज या ब्लड प्रेशर जैसी कोई बीमारी नहीं थी। 12 जून को जॉगिंग करने के बाद गौरी घर आई। उसने लौकी का जूस बनाकर पीया।’
  • ‘उस दिन मैं अपने काम के सिलसिले में बैंगलोर गया हुआ था। मुझे पड़ोसियों और फ्रेंड्स ने बताया कि गौरी अपने ऑफिस निकली, तो रास्ते में उसे कार के अंदर उल्टियां होने लगीं। वो वापस घर लौट आई। गौरी को मेरे फैमिली फ्रेंड डॉ. संजय कोलते के हॉस्पिटल ले जाया गया। वहां गौरी का 4-5 दिन ट्रीटमेंट चला। लेकिन दुर्भाग्य से उसकी बॉडी में जहर फैल चुका था। 16 जून की रात उसकी मौत हो गई।’

उल्लेखनीय है कि 2011 में ‘इंडियन कौसिंल ऑफ मेडिकल रिसर्च’ की एक एक्सपर्ट कमेटी ने अपनी रिसर्च रिपोर्ट के बाद लोगों से अपील की थी कि लौकी के ऐसे जूस को पीने से बचें, जिसका स्वाद कड़वा या कसैला हो चुका हो।

‘अगर लौकी का जूस कड़वा हो, तो उसे नहीं पीना चाहिए। यह जहरीला हो जाता है। गौरी के मामले में भी यही हुआ। उसकी पूरी बॉडी में जहर फैल चुका था। ब्लड प्रेशर लो हो चुका था। किडनी-लिवर फेल हो चुके थे। आखिर में ब्रेन हेमरेज से उसकी मौत हो गई।’

केवल 7 घंटे में कानूनी तरीके से पैसे को यहां से कर सकते हैं डबल

पैसा कमाना हर इंसान का सपना होता है। लेकिन आज के दौर में हर कोई जल्द से जल्द ज्यादा पैसा कमाना चाहता है। लेकिन जल्दी ज्यादा पैसा कमाने के चक्कर कई बार लोग गैरकानूनी तरीके अपना लेेते हैं।

लेकिन जल्दी पैसा कमाने के कई कानूनी तरीके भी बाजार में मौजूद है। इन्ही एक तरीकों में से एक तरीका है शेयर बाजार का इंट्रा डे ट्रेडिंग। इसके जरिए आप अपने पैसे को केवल कुछ ही घंटों में डबल कर सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे होता है ये ट्रेडिंग और क्या है इसके नियम…

ऐसे होता है इंट्रा डे ट्रेडिंग

शेयर बाजार सुबह 9.15 बजे खुलता है, जिसके बाद से ट्रेडिंग यानी शेयरों की खरीद-बिक्री शुरु हो जाती है, जो दोपहर 3.15 बजे तक चलता रहता है। शेयर बाजार में एक ही कारोबारी सत्र में कई एक ही शेयरों को कई बार खरीदा बेचा जाता है। इस खरीद बिक्री को इंट्रा डे ट्रेडिंग जाता है।

ऐसे शुरु कर सकते हैं ट्रेडिंग

शेयर बाजार में खरीद-बिक्री शुरु करने के लिए आपके पास डीमैट अकाउंट और ट्रेडिंग अकाउंट का होना जरुरी है। अगर आप जीरो से शुरुआत करने जा रहे हैं तो बेहतर है कि इसके लिए किसी ब्रोकर की सलाह लें। उसके बाद इसे शुरु करें।

ऐसे होता है मुनाफा

यूं तो शेयर बाजार में बेहतर मुनाफे के लिए लॉन्ग टर्म सोच होना जरुरी है। लेकिन इंट्रा डे से आप जल्दी मुनाफा कमा सकते हैं। हांलाकि इसमें नुकसान की भी गुजाइंश होती है। इसलिए बेहतर रणनीति बनाकर ही इसमें निवेश करना उचित होता है।

अब आपको बताते हैं कि इस ट्रेडिंग में कैसे केवल कुछ ही घंटो में आपका पैसा डबल तक हो सकता है। इसे एक उदाहरण से समझें। अगर आपने किसी कंपनी का शेयर सुबह खरीदा जब आपने उसे खरीदा तो उसकी वैल्यु 300 रुपए की थी, लेकिन यही शेयर अपने दिन के उच्चतम स्तर पर गया जो 350 रुपए हो। तो आपको इसकी न्यूनतम और उच्चतम के बीच के अतंर यानी 50 रुपए का फायदा हुआ।

  • सुबह पैसा लगाया – 300 x 100 (शेयर) = 30,000 खरीद मूल्य
  • शाम को रिटर्न – 350 x 100 (शेयर) = 35,000 बिक्री मूल्य

मतलब आपने केवल 9.15 बजे से 3.15 बजे के बीच 5000 रुपए की कमाई कर डाली।

इंडिया की बेस्ट माइलेज देने वाली 6 CAR, फ्यूल भी आता है 40 रुपए प्रति किलो

इंडिया में कार पेट्रोल, डीजल और CNG वेरिएंट में मिलती हैं। इन तीनों वेरिएंट के माइलेज में बड़ा अंतर होता है। पेट्रोल की तुलना में डीजल कार का माइलेज ज्यादा होता है। वहीं, CNG का माइलेज दोनों से ज्यादा होता है।

ऐसे में ज्यादा माइलेज के लिए CNG मॉडल बेस्ट ऑप्शन बन सकता है। इंडिया में सबसे सस्ती CNG कार टाट नैनो है, जिसकी दिल्ली एक्स-शोरूम प्राइस 2.96 लाख रुपए है। वहीं, इस कार का माइलेज 36km का है।

कीमत और माइलेज में अंतर

  • पेट्रोल वेरिएंट की तुलना में CNG कार की कीमत में लगभग 50 से 80 हजार का अंतर आता है। वहीं, पेट्रोल और डीजल वेरिएंट में ये अंतर लगभग 1 लाख के करीब होता है।

  • जैसे, टाटा नैनो के पेट्रोल वेरिएंट की स्टार्टिंग प्राइस एक्स-शोरूम (दिल्ली) 2.36 लाख रुपए है, जबकि CNG वेरिएंट की कीमत 2.96 लाख रुपए है। यानी दोनों की कीमत में 60 हजार का अंतर है।
  • इस समय CNG मॉडल की सबसे ज्यादा कार मारुति सुजुकी बना रही है। इनमें Alto 800, Alto K10, Celerio, WagonR, Eeco शामिल हैं।

  • CNG का बड़ा फायदा है कि इससे किसी तरह का प्रदूषण नहीं होता। हालांकि, इससे कार को पिकअप भी नहीं मिलता।
  • CNG की कीमत पेट्रोल और डीजल की तुलना में काफी कम होती है। दिल्ली में इसकी कीमत 40 रुपए प्रति किलो के आसपास है।

CNG मॉडल्स की कीमत

  • Tata Nano EMax XM : 2,96,662 रुपए (माइलेज 36km)
  • NEW ALTO 800 LXI CNG : 3,71,906 रुपए (माइलेज 33.44km)
  • NEW ALTO K10 LXI CNG(O) : 4,14,807 रुपए (माइलेज 32.26km)
  • CELERIO VXI CNG : 5,14,880 रुपए (माइलेज 31.76km)
  • EECO MC 5 STR STD WITH CNG : 4,01,694 रुपए (माइलेज 20km)
  • WAGONR LXI CNG : 4,68,854 रुपए (माइलेज 26.6km)

नोट : सभी मॉडल की कीमत दिल्ली एक्स-शोरूम की हैं। ऑनरोड प्राइस में अंतर आएगा।

कमाल की है ये मिनी वाशिंग मशीन ,यहाँ से खरीदे

कपडे धोने के लिए वाशिंग मशीन का प्रयोग बहुत समय से हो रहा है । क्योंकि इस से कपड़े धोने का काम बहुत आसान हो जाता है । लेकिन अभी भी भारत में बहुत से लोग है जो वाशिंग मशीन खरीद नहीं सकते क्योंकि उनके पास इतना बजट नहीं होता । लेकिन अब एक ऐसे वाशिंग मशीन आ गई जो इतनी सस्ती है की हर कोई इसको आसानी से खरीद सकता है ।

इस मशीन का दूसरा फ़ायदा यह है की छोटी होने के कारण इस मशीन को आप कहीं भी लेकर जा सकते है । इस से हॉस्टल में पढ़ने वाले बच्चों जा फिर जो लोग हमेशा बहार घूमते रहते है उनके लिए बहुत ही बढ़िया सौदा है । इस मशीन को अपने बस बाल्टी पर लगाना है यह मशीन अपने आप सारे कपडे धो देगी ।

मशीन के फीचर

एक कपड़ा धोने के लिए इस मशीन को सिर्फ 4 मिंट का समय लगता है । और एक समय में आप 2.5 किलो तक कपडे डाल सकते है । यह मशीन बहुत ही कम बिजली का इस्तेमाल करती है और साथ ही इसकी ज्यादा देखभाल भी नहीं करनी पड़ती। इस मशीन को आप 25 लीटर की बाल्टी के साथ इस्तेमाल कर सकते है ।

कहाँ से खरीदें

अगर आप इस मशीन को खरीदना चाहते है तो सिर्फ 2100 रुपये में निचे दिए हुए लिंक पर क्लीक करके Amazon से खरीद सकते है । इस मशीन की आपको होम डिलीवरी मिलेगी ।

खरीदने के लिए यहाँ क्लिक करें

इसके इलवा भी बहुत सारी कंपनी है जो यह मिनी वाशिंग मशीन बनाती है ।आप कहीं से भी खरीद सकते है  ।

यह मशीन कैसे काम करती है उसके लिए वीडियो देखें

सोलर लाइट्स से लेकर सन ग्लासेज और स्क्रू ड्राईवर तक सब पर Paytm दे रहा है ज़बरदस्त डिस्काउंट

Paytm मॉल पर मिल रहे ऑफर्स के बारे में हम अक्सर बताते हैं, लेकिन आज हमेशा की तरह हम आपको केवल गैजेट्स पर मिल रहे ऑफर्स की जानकारी नहीं दे रहे हैं।

आज हमने इस लिस्ट में ऐसे प्रोडक्ट्स शामिल किए हैं जो काफी दिलचस्प हैं और आपको पसंद आएंगे और आप इन्हें किफायती कीमत में खरीद सकते हैं। इन प्रोडक्ट्स में सन ग्लासेज, स्क्रू ड्राईवर, सोलर लाइट्स, ट्रीमर और वॉच आदि शामिल हैं।

Solar Emergency Light Lantern Solar Lights

इन लाइट्स की कीमत वैसे Paytm मॉल पर 339 रूपये रखी गई है लेकिन ONCEAMONTH प्रोमो कोड के ज़रिए आप इसे 139 रूपये की कीमत में खरीद सकते हैं। इसकी बैटरी कैपेसिटी 1500 mah है और यह प्लास्टिक मटेरियल में उपलब्ध है।

UDTIP Mini Water Cooler Turbine With Aroma Air Usb

इस प्रोडक्ट की कीमत 326 रूपये रखी गई है लेकिन Paytm मॉल के बढ़िया ऑफर के तहत आप ONCEAMONTH कूपन कोड का उपयोग कर के इस प्रोडक्ट को 126 रूपये की कीमत में खरीदा जा सकता है। यह प्रोडक्ट प्लास्टिक मटेरियल में उपलब्ध है।

Nova NS-7 Professional Cordless Trimmer for Men

इस प्रोडक्ट की कीमत 345 रूपये रखी गई है और ONCEAMONTH प्रोमो कोड का उपयोग कर के आप इसे 145 रूपये की कीमत में खरीद सकते हैं। इस प्रोडक्ट के साथ आपको 15 दिन की सेलर वारंटी मिल रही है।

Jackly 31 In 1 Screw Driver Set

इस प्रोडक्ट की कीमत 95 रूपये रखी गई है। इस स्क्रू ड्राईवर सेट को 7 दिन के अन्दर रिप्लेस किया जा सकता है। इस डिवाइस की असली कीमत 500 रूपये है लेकिन Paytm के 81% के डिस्काउंट के बाद यह प्रोडक्ट 95 रूपये में उपलब्ध है।

Wake Wood Black Dial Watch For Men

इस प्रोडक्ट की कीमत 199 रूपये रखी गई है, इसमें आपको वॉच के साथ-साथ फ्री वॉलेट, इयर फोन, औक्स केबल और OTG भी मिल रहा है।

David Martin Combo of Black & Brown Wayfarer Sunglass

इस प्रोडक्ट को Paytm मॉल से खरीदा जा सकता है, जहां यह प्रोडक्ट 149 रूपये की कीमत में उपलब्ध है। अगर आप अपने लिए नए सन ग्लासेज खरीदना चाह रहे हैं तो इस विकल्प पर नज़र डाल सकते हैं।

Jack Klein Gift Box Black Dial Golden Strap Quartz Analogue Wrist Watch

इस वॉच की कीमत 299 रूपये रखी गई है लेकिन FIRSTTIMELUCKY प्रोमो कोड के ज़रिए इसे 99 रूपये में खरीदा जा सकता है। वॉच के साथ आपको इस कॉम्बो में बेल्ट और वॉलेट भी मिल रहा है।

Wireless Bluetooth Headset With In Line Button For Music & Call

इस हेडसेट की कीमत 343 रूपये रखी गई है लेकिन ONCEAMONTH प्रोमो कोड के ज़रिए आप इसे 143 रूपये में खरीद सकते हैं। यह हेडसेट स्वेट प्रुफ है और इसे रिचार्ज किया जा सकता है तथा इसमें बिल्ट-इन माइक्रोफोन भी मौजूद है।

घर बैठे कमाना चाहते हैं पैसा तो डाउनलोड करें ये 5 एंड्रॉयड एप्स

घर बैठे हर कोई पैसा कमाना चाहता है। लेकिन सवाल यह उठता है कि बिना घर से बाहर निकले सिर्फ घर बैठकर पैसा कैसे कमाया जाए। इसका जवाब हम आपको इस पोस्ट में देने जा रहे हैं। आपको बता दें कि गूगल प्ले स्टोर पर कई एप्स ऐसी हैं जिनकी मदद से आप घर बैठे कमाई कर सकते हैं। तो चलिए आपको इन एप्स के बारे में विस्तार से बता दें।

Keettoo

इस एप को गूगल प्ले स्टोर से फ्री में डाउनलोड किया जा सकता है। इस एप पर अलग-अलग ब्रैंड्स के लिए विज्ञापन प्लेटफॉर्म मौजूद हैं। यह एप आपको विज्ञापन देखने के लिए नोटिफिकेशन भेजता है। प्रत्येक विज्ञापन देखने के बाद आपके Keettoo अकाउंट में 1 रुपया क्रेडिट कर दिया जाता है। इस एप से पेटीएम और मोबिक्विक लिंक्ड होते हैं। ऐसे में आप अपनी कमाई हुई राशि रीडिम भी कर सकते हैं।

Foap

इस एप के जरिए यूजर्स फोन से कैप्चर की गई तस्वीरों को बेचकर पैसे कमा सकते हैं। अगर कोई व्यक्ति आपकी तस्वीर खरीदता है तो आपको लगभग 300 से 350 मिल सकते हैं। इन पैसों को आप Paypal अकाउंट ट्रांसफर में कर सकते हैं।

Slidejoy

यह भी फ्री एप है। एप डाउनलोड करने के बाद आपको लॉकस्क्रीन थीम को चुनना होता है। जब भी आप अपने फोन को अनलॉक करने के लिए स्वाइप करेंगे तो आपकी स्क्रीन पर विज्ञापन आएगा। इसे ऐसे ही छोड़ दें। विज्ञापन देखने के लिए यह एप करीब 66 रुपये देती है। आप अपने जमा किए गए पैसे को हर 15 दिनों में Paypal खाते में नकदी के लिए रिडीम कर सकते हैं।

mCent

इस एप से कमाए गए पैसों को प्रीपेड नंबर रिचार्ज कराने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। एप को इंस्टॉल करने के बाद इसमें कुछ टास्क दिए गए होते हैं जिससे आप पैसे कमा सकते हैं। साथ ही अगर आप इस एप को अपने दोस्त को रेफर करते हैं तो आपको और आपके दोस्त को पेटीएम कैश भी मिल सकता है।

Tengi

यह एक चैट एप है। इस एप में पैसे नहीं दिए जाते हैं। बल्कि दोस्तों को इनवाइट या उनसे चैट कर टिकट मिलते हैं। इसके बाद एक साप्ताहिक ड्रॉ होता है जिसमें इन टिकट्स का इस्तेमाल किया जा सकता है। अगर आप जीत जाते हैं तो आप अपने बैंक खाते में ट्रांसफर किए गए पैसे या उपहार वाउचर के रूप में चुन सकते हैं।

भारत में कम पूँजी में कौन कौन से बिज़नेस शुरू कर सकते हैं?

भारत के श्रम मंत्रालय के आंकड़े बताते हैं कि भारत में 2017 में 17 करोड़ लोग बेरोजगार है और बेरोजगारी बढ़ने की दर अपने सबसे ऊंचे स्तर पर है. इस तरह में माहौल में सभी लोगों के लिए अपनी रोजी-रोटी की व्यवस्था करना सबसे बड़ा सवाल है. इसलिए इस लेख में हम इन बेरोजगार लोगें की समस्याओं को कम करने के लिए कुछ ऐसे उद्योगों और व्यवसायों के बारे में बता रहे हैं जो कि थोड़ी पूँजी की सहायता से शुरू किये जा सकते है.

इस लेख में हमने यह भी बताया है कि कौन सा बिज़नेस 10 हजार रुपये में और कौन सा 50 हजार या उससे अधिक का निवेश करने पर खोला जा सकता है. लोगों की सुविधा के लिए यहाँ यह भी बताया गया है कि रुपये की व्यवस्था कहाँ से करें.

आइये अब जानते हैं कि कितने रुपये की मदद से कौन सा बिज़नेस शुरू किया जा सकता है.

15 हजार रुपए में शुरू होने वाले बिजनेस

इन सभी बिज़नेस को शुरू करने के लिए भारत सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत बिना कुछ गिरवी रखे 50 हजार का ऋण शिशु उद्योग केटेगरी के अंतर्गत लिया जा सकता है.

  • प्रिंट और फोटो कॉपी बिजनेसः यह बिजनेस 10 हजार रुपए में शुरू हो सकता है. इसके लिए आपको एक प्रिंटर, फोटो स्टेट मशीन और एक उपयुक्त स्थान जो कि किसी बस्ती, कॉलेज, स्कूल, सरकारी दफ्तर या कोर्ट के पास होना चाहिए.

  • मोबाइल रीचार्ज और सिम कार्ड बिक्री: यह बिजनेस 7 से 10 हजार रुपए में शुरू हो सकता है. यह हमेशा चलने वाला बिज़नेस माना जाता है क्योंकि लोग साल भर अपने मोबाइल के रिचार्ज कूपन खरीदते हैं. इसका सबसे अच्छा फायदा यह है कि इस बिज़नेस को घर के किसी बाहरी कमरे में खोला जा सकता है और घर को कोई भी सदस्य इसे चला सकता है. इसे चलाने के लिए व्यक्ति को किसी डिग्री धारक होने की जरुरत भी नही होती है.
  • ब्रेकफास्ट शॉपः इस बिसनेस को चलाने के लिए बहुत ज्यादा शुरूआती खर्चे की जरुरत नही होती है. आप इस बिज़नेस को चलाने के लिए घर की लेडीज की मदद भी ले सकते हैं. अगर इस प्रकार की मूवेबल शॉप किसी कॉलेज, स्कूल या किसी ऑफिस या कोर्ट के बाहर लगायी जाये तो बिज़नेस बहुत ही लाभदायक सिद्ध होगा. आपके घर के आस पास भी बहुत से ऐसे लोग होंगे जो अपनी फैमिली के साथ नही रहते हैं और सुबह अच्छा नास्ता खोजते रहते हैं.ऐसे लोग आपके ग्राहक हो सकते हैं.

  • प्लांट नर्सरीः घर को खूबसूरत बनाने के लिए प्लांट नर्सरी पर बहुत-से लोग डिपेंड रहते हैं.आप इस बिज़नेस को लोकल नगर पालिका के अधिकारी की मदद से शुरू कर सकते हैं. इसके लिए सबसे उपयुक्त जगह सड़क के किनारे ही होती है क्योंकि इससे प्रदूषण कम करने में मदद मिलती है और सड़क का किनारा होने के कारण ग्राहक भी बड़ी मात्रा में मिलते हैं.
  • जूस की दुकान: जैसे जैसे लोगों की जिंदगी में आपा-धापी बढ़ रही है वैसे ही लोगों में अपने स्वास्थ्य के प्रति जागरूकता भी बढ़ रही है. अब लोग बचत की नही बल्कि सेहत की ज्यादा चिंता करते हैं. आपने देखा होगा कि हर मौसम में जूस की दुकान पर हमेशा भीड़ लगी रहती है.
    भारत में रोजगार और विकास के विभिन्न कार्यक्रमों की सूची

50 हजार तक की लागत से शुरू होने वाले बिज़नेस इस प्रकार हैं :

  • डिजिटल स्टूडियोः यह बिजनेस 50 हजार रुपए से शुरू किया जा सकता है. कम्प्यूटर, यूपीएस, फोटो क्वालिटी प्रिंटर आदि की बिक्री और मरम्मत का बिजनेस बेहतर विकल्प है. इस बिज़नेस की डिमांड भी साल के ज्यदातर महीनों में रहती है. यह बिज़नेस फैमिली फंक्शन जैसे बर्थडे, तिलक, मुंडन, शादी की सालगिरह इत्यादि में ठीक चलता है.

  • घर में ब्यूटी पार्लर: यह बिज़नेस अपने घर में ही शुरू किया जा सकता है. इसके लिए आपको ब्यूटिशियन का कोर्से करना पड़ सकता है. यह रिसेशन प्रूफ अर्थात हमेशा चलने वाला बिज़नेस है क्योंकि हर किसी के पड़ोस में शादी, बर्थडे, सालगिरह इत्यादि फंक्शन होते ही रहते हैं. इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको सिर्फ कॉस्मेटिक सामान और अच्छे संपर्क जुटाने की जरुरत होगी.
  • क्रेच सेंटर: इन तरह के सेंटर की मांग ज्यादातर शहरों में होती है जहाँ पर पति और पत्नि दोनों जॉब करते हैं और जिनके पास बच्चों को सँभालने का समय नही होता है.इस सेंटर में बच्चों के लिए कुछ खिलौने और गेम्स खरीदने के लिए रुपयों की जरुरत पड़ती है.

50 हजार से 1 लाख रुपये में शुरू होने वाले बिज़नेस

इन सभी बिज़नेस को शुरू करने के लिए भारत सरकार की प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत बिना कुछ गिरवी रखे 50 हजार से 5 लाख रुपये तक का ऋण “किशोर केटेगरी” में तहत लिया जा सकता है.

  • मिनरल वाटर सप्लायरः जैसे-जैसे प्रदूषण बढ़ रहा है वैसे वैसे प्रथ्वी का जल भी दूषित होता जा रहा है और भूजल के अधिक दोहन के कारण जल स्रोतों का जल सूखता जा रहा है. इन परिस्तिथियों में शुद्ध पानी की पूर्ती करना एक बहुत बड़ा बिज़नेस बन गया है. वर्तमान में शुद्ध जल का बिज़नेस 60 अरब रूपये का हो चुका है और यह हर साल 33% की दर से बढ़ रहा है. इस बिज़नेस के लिए आप किसी ब्रांडेड पानी की एजेंसी लेकर बोतल बंद पानी की सप्लाई घरों में शुरू कर सकते हैं. लेकिन यदि आप अपना वाटर ट्रीटमेंट प्लांट लगाना चाहते हैं तो खर्चा 5 लाख से 8 लाख तक का हो सकता है.
  • ट्रैवल एजेंसीः रेल-बस रिजर्वेशन और शहर के भीतर टैक्सी बुक करने का व्यवसाय भी अच्छे मुनाफे वाला है. इसके लिए आपको ज्यादा से ज्यादा 50 हजार रुपये की जरुरत पड़ेगी.
  • आर्टिफिशियल ज्वैलरी शॉपः इस बिजनेस की बाजार में अच्छी मांग है. 1 लाख रुपए खर्च करें तो आर्टिफिशियल ज्वैलरी का बिजनेस स्टार्ट किया जा सकता है.

सरकारी मदद से शुरू किये जाने वाले कुछ बिज़नेस इस प्रकार हैं: इन बिज़नेस को शुरू करने के लिए भारत सरकार के प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत जरुरत के अनुसार 50 हजर से 10 लाख तक का ऋण लिया जा सकता है. इसके अलावा स्टार्ट उप इंडिया स्कीम के तहत भी भारत सरकार से तकनीकी और वित्तीय सहायता से सकते हैं.

बेकरी का बिजनेस

आजकल फ़ास्ट फ़ूड के बढ़ते चलन के कारण इस व्यापार को भारत के किसी भी छोटे/बड़े शहर में शुरू किया जा सकता है .

  • स्वयं की लागत: Rs. 85,000
  • सरकारी मदद: 3.50 लाख
  • वार्षिक कमाई : 4.0 लाख
  • विस्तृत जानकारी: इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको शुरुआत में 85000 रुपये स्वयं की जेब से और बकाया के 3.5 लाख रुपये सरकार से ले सकते हैं . प्रधानमंत्री मुद्रा योजना के तहत आप 2.95 लाख रुपये का टर्म लोन तथा 1.50 लाख रुपये का कार्यशील पूंजी लोन (working capital loan) ले सकते हैं . इसे छोटे से शहर में भी शुरू किया जा सकता है . इस बिज़नेस से आप अपनी लागत को निकालकर लगभग 35000 रुपये/महीने कमा सकते हैं .

सेनेटरी नैपकिन का बिज़नेस

इस बिज़नेस को 15000 रुपये की निजी लागत से भी शुरू किया जा सकता है. भारत सरकार द्वारा स्वच्छता पर अधिक ध्यान दिए जाने के कारण इस बिज़नेस में और भी चमक आ गयी है .

  • स्वयं की लागत: 15,000 रुपये
  • सरकारी मदद: 1.50 लाख रुपये
  • वार्षिक कमाई : 1.8 लाख रुपये
  • विस्तृत जानकारी: इस व्यापार को शुरू करने के लिए आपको लगभग 1.5 लाख रुपये की जरुरत होगी जिसमे 1.35 लाख का लोन प्रधानमंत्री मुद्रा योजना से मिल जायेगा . यदि आप 1440 सेनेटरी नैपकिन एक दिन में तैयार करते हैं और एक पैकेट में 8 नैपकिन भी रखी जाती हैं तो एक साल में 54000 पैकेट तैयार किये जा सकते हैं . यदि एक पैकेट की कीमत 13 रुपये रखी जाती है तो आप साल भर में लगभग 7 लाख रुपये की बिक्री के सकते हैं . और यदि इस आय में से पूरी लागत को निकाल दिया जाये तो साल में 2 लाख रुपये तक की बचत की जा सकती है .

मुर्गी पालन के लिए ऋण

वर्तमान समय में मांसाहारी भोजन खाने वालों की संख्या बढ़ने के कारण यह सबसे ज्यादा उभरता हुआ बिज़नेस है. इस बिज़नेस को शुरू करने के लिए आपको पहली यह शर्त पूरी करनी होगी कि आपके 500 मीटर के दायरे में कोई और मुर्गी पालन केंद्र नही होना चाहिये .

इसके लिए अगर आपको लोन की जरुरत है तो आप भारतीय स्टेट बैंक की किसी भी पास की ब्रांच में जाकर “Broiler Plus” नामक योजना के तहत 5000 मुर्गियां पालने के लिए 3 लाख रुपये का लोन ले सकते हैं और यदि आप 15000 मुर्गियां पालना चाहते हैं तो अधिकत्तम 9 लाख रुपये तक का लोन मिल सकता है .

यह लोन छप्पर बनाने, कमरा बनाने, पानी और बिजली की व्यवस्था करने और अन्य उपकरण खरीदने के लिए मिल सकता है . इस लोन को चुकता करने के लिए आपको 5 साल का समय मिलेगा जिसे न चुका पाने की हालत में 6 महीने तक का अतिरिक्त समय भी मिल सकता है.

ऊपर दिए गए बिज़नेस मॉडल के अलावा निम्न तरीके से भी लोग बहुत कमाई कर रहे हैं:

वीडियो बनाकर

लोग कुछ रोचक से वीडियो जो कि किसी भी क्षेत्र के हो सकते हैं जैसे शिक्षा, मनोरंजन, खेलकूद, अजब गज़ब इत्यादि को बनाकर यू ट्यूब को बेच सकते हैं.

कंप्यूटर ट्रेनिंग सेंटर,मोबाइल एप्प बना कर, मछली पालन करके, शहद उत्पादन करके,ब्लॉग्गिंग करके और इलेक्ट्रॉनिक चीजों की रिपेयरिंग करके भी रुपये कमाए जा सकते हैं.

अंत में यह कहना ही ठीक होगा कि मेहनती और जुनूनी लोगों के लिए पैसा कमाना कोई बड़ी समस्या नही है. अगर कोई ईमानदारी से पैसा कमाना चाहता है तो ऊपर दिए गए व्यवसाय में से अपनी योग्यता और सहूलियत के हिसाब से बिज़नेस शुरू कर सकता है. लेकिन सबसे बड़ी समस्या यह है कि लोग फटाफट और बिना संघर्ष किये रुपये कमाना चाहते हैं जो कि बिज़नेस में संभव ही नही है.

नोट: यदि किसी व्यक्ति को रोजगार/लाइसेंस से सम्बंधित कोई राय लेनी है तो वह टोल फ्री नम्बर 1800-180-6763 पर काल कर सकता है.

15% तक सस्‍ते मिल रहे हैं Solar Fan, Power Cut के दौरान मिलेगी राहत

भीषण गर्मी में हो रहे पावर कट से राहत पाने के लिए आप Solar Fan खरीद सकते हैं। इससे जहां आपका बिजली का बिल बचेगा, वहीं पावर कट होने पर आप सोलर पंखे की मदद ले सकते हैं।बढ़ती डिमांड को देखते हुए कई कंपनियां 6 से 15 फीसदी तक डिस्‍काउंट दे रही हैं।

हालांकि ये पंखे आम पंखों से थोड़े महंगे हैं, लेकिन वन टाइम इन्‍वेस्‍टमेंट के न‍जरिये से देखा जाए तो यह पंखे आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं।आइए, आज हम आपको बताते हैं कि इन पंखों की कीमत कितनी है और कौन सी कंपनी इन दिनों इन पंखों पर डिस्‍काउंट ऑफर कर रही है।

कहां मिल रहे हैं सस्‍ते Solar Fan

सोलर प्रोडक्‍ट्स की बढ़ती डिमांड को देखते हुए एक ऑनलाइन पोर्टल की शुरुआत दो साल पहले हुई थी। इस पोर्टल पर केवल सोलर प्रोडक्‍ट्स ही बिकते हैं। ये प्रोडक्‍ट्स http://www.urjakart.com पर उपलब्‍ध हैं।

आप यहां से ऑनलाइन परचेज कर सकते हैं। इसके अलावा आप http://www.amazon.in पर भी सोलर फैन सर्च करके ऑर्डर कर सकते हैं। यहां भी सोलर फैन पर डिस्‍काउंट चल रहा है।

यहां मिल रहा है 6 फीसदी डिस्‍काउंट

इसी तरह सोलर प्रोडक्‍ट बनाने वाली कंपनी एंडस्‍लाइट एलिजेंट भी सोलर फैन पर 6 फीसदी तक डिस्‍काउंट दे रही है। इसकी कंपनी 3727 रुपए है। कंपनी का दावा है कि फैन का बेकअप 5 से 10 घंटे का है। सोलर पैनल का वेटेज 10 वाट है। इतना ही नहीं, इस पंखे के साथ 2 वाट की एलईडी लाइट भी इनबिल्‍ट है।

इस पंखे पर ले 15 फीसदी डिस्‍काउंट

बीएलडीसी सीलिंग फैन ड्यूल इनपुट हाइब्रिड की कीमत वैसे 3999 रुपए है, लेकिन amazon की वेबसाइट पर यह पंखा 14 फीसदी डिस्‍काउंट पर मिल रहा है। इसका सेलर सिनोक्‍स पावर है। इसकी डिलीवरी भी फ्री है। बल्कि यह 171 रुपए महीना ईएमआई पर भी उपलब्‍ध है।

यह कंपनी दे रही है 8 फीसदी डिस्‍काउंट

सोलर प्रोडक्‍ट बनाने वाली कंपनी ईको द्वारा डीसी फेन, 10 वाट के सोलर पैनल के साथ बेचा जा रहा है। इसकी कीमत वैसे 3999 रुपए है, लेकिन कंपनी अभी इसे 3679 रुपए में बेच रही है। इसमें बैटरी आउटपुट 4400 एमएएच है। इसके अलावा कंपनी 3358 रुपए में 5 वाट के सोलर पैनल के साथ फैन बेच रही है।

ये शख्स साल में कमा रहा 80-90 लाख रुपए, 5 साल पहले शुरू किया ये बिजनेस

यहां के यतीन्द्र कश्यप हेचरी और मछली पालन से साल में 80 से 90 लाख रुपए की इनकम कर एरिया किसानों और बेरोजगारों के लिए प्रेरणा स्त्रोत बने हुए हैं। इससे वे अच्छी आय कर रहे हैं। कश्यप मछली पालन को एक बिजनेस मान रहे हैं।

उन्होंने बताया कि मछली पालन उनका पुस्तैनी पेशा है। कई पीढ़ियों से उनके यहां ये बिजनेस होता आया है। लेकिन वे इस पेशे में वर्ष 2012 में आए और मछली पालन के साथ हेचरी को टैग किया। हालांकि, शुरू में उन्हें काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा। लेकिन दो साल की मशक्कत के बाद आज उनकी इनकम अच्छी हो रही है।

सरकारी तौर सुविधा उपलब्ध

सरकार के द्वारा हेचरी और तालाब पर 50 प्रतिशत अनुदान की व्यवस्था की गई है। एक हेचरी लगाने में 12 से 15 लाख का खर्च आता है। लेकिन व्यवसाय चल जाने पर आमदनी इतनी अधिक होती है कि लोग खुद यह जोखिम उठा लेते हैं। शुरू के दो साल काफी सावधानी से निकालने पड़ते हैं।

पांच साल पहले शुरू किया था बिजनेस

यतींद्र ने बताया कि उन्होंने पांच साल पहले हेचरी का बिजनेस शुरू किया था। जिसमे दो साल तक जानकारी के अभाव में उन्हें काफी नुकसान उठाना पड़ा। कई स्पेशलिस्ट से मिलकर इस बिजनेस के बारीकियों को जानने के बाद आज उनकी इनकम अच्छी है। उनकी हेचरी से एक हैच में जितना मछली का बच्चा पैदा होता है उसका बाजार मूल्य तीन से पांच लाख रुपया होता है।

जबकि महीने में वैसे पांच हैच कराए जाते हैं जो आमदनी के रूप में लगभग 20 लाख रुपया देता है। पूरे साल में इसकी डिमांड बाजार में छह महीने तक रहती है। वे 25 एकड़ में फैले तालाबों से 50 टन मछली पालन करते हैं। जो बाजार के हिसाब से लगभग 75 लाख रुपए इनकम कराता है।

इनसे प्रेरित होकर इन्होंने शुरू किया मछली पालन

हेचरी और मछली पालन से होने वाले वाले लाभ को देखकर क्षेत्र के कई किसानों ने अपनी जमीन पर तालाब खुदवाकर मछली पालन शुरू किया और आज वे काफी खुशहाल हैं। इस बिजनेस को करने वालों की मानें तो यहां दस हजार एकड़ से भी अधिक भूमि मछली पालन के लिए उपयुक्त है।

यदि सरकार यहां किसानों को सहूलियत और बढ़ावा दे तो पूरे बिहार में सबसे ज्यादा मछली का उत्पादन यहां हो सकता है। लेकिन सरकारी कर्मियों की लापरवाही और विभागीय उदासीनता के कारण लोग इस बिजनेस में आने में दिलचस्पी कम ले रहे हैं।

किसान बेटे ने की खुदकुशी, अब पोते को पढाने के लिए दो रही है गंदी बोतलें

एक 62 साल की बूढ़ी महिला जिसका नाम बलबीर कौर है, उसके हंसते-खेलते परिवार को बेटे के एक्सीडेंट ने तोड़कर रख दिया। पांच एकड़ जमीन, एक ट्रैक्टर आैर कार की मालकिन के पास आज कुछ भी नहीं है। बेटे के इलाज के लिए कर्ज लिया था, फिर भी वो ठीक नहीं हुआ।

ठीक नहीं होने से तंग आकर 2016 में घर में ही फंदा लगाकर उसने मौत को गले लगा लिया। इतना सब होते हुए भी उसने हौसला रखा आैर सोचा कि कर्ज देने वाले तंग न करें इसलिए जमीन, ट्रैक्टर, कार सब बेच दिया आैर लोगों का कर्ज चुका दिया।

    • घर की खराब आर्थिक हालत को देखते हुए बहू भी 3 जुलाई 2016 को 10 साल के बेटे को छोड़कर चली गई। अब बुजुर्ग बलबीर गंदी बोतलें धोकर जो पैसे मिलते हैं उससे पोते को प्राइवेट स्कूल में पढ़ा रही हैं।
    • उसे उम्मीद है कि पोता पढ़-लिखकर फिर से अच्छे दिन लाएगा, भले ही वो दिन देखने के लिए वह जिंदा रहे या नहीं। पोता भी उम्मीदों पर खरा उतर रहा है। हाल ही में पांचवीं क्लास उसने 97% नंबरों के साथ पास की है आैर दादी के साथ खाली समय में बोतलें भी साफ करवाता है।

    गेहूं, धान से भरे रहने वाले बरामदे में आज गंदी बोतलों के क्रेट

    • बुजुर्ग बलबीर कौर ने पुराने दिन याद करते हुए बताया कि उसका हंसता-खेलता परिवार था। बेटा केसर सिंह पिता के साथ अपनी पांच एकड़ जमीन पर आम किसानों तरह खेती करता और खुशहाल जिंदगी व्यतीत कर रहा था। खेती के लिए ट्रैक्टर समेत हर सामान अपना था। घर में कार भी थी। 2011 में परिवार पर मुसीबतों का कहर टूट पड़ा।
    • बेटे केसर का एक्सीडेंट हुआ और कई साल चले इलाज में आमदनी बंद हो गई। उल्टा सिर पर काफी कर्ज चढ़ गया। बेबस होकर बेटे सुसाइड कर लिया। बहू 10 साल का पोता हमारी झोली में डालकर चली गई। कभी घर के इस बरामदे में जहां गेहूं, धान के बोरे और ट्रैक्टर होता था, वहां गंदी बोतलों के ढेर लगे हैं। इतना कहते ही बलबीर कौर की आंखें आंसुओं से भर जाती हैं।

    कमाई का नहीं है कोई साधन

    • वे बताती हैं कि कमाई का कोई साधन नहीं है। गंदी बोतलें साफ करने बदले प्रति क्रेट पांच रुपए मिलते हैं। अब काम भी नहीं होता। बहुत कोशिश करने पर कभी 60 तो कभी पोते के हाथ बंटाने से 75 रुपए दिहाड़ी बन जाती है। इसी से परिवार का गुजारा चला रही हूं।
    • मन में दुख है कि किसी सरकार ने परिवार की सुध नहीं ली और न ही किसी योजना के तहत मदद की। आैर कुछ नहीं तो पोते की आगे की पढ़ाई का ही कुछ इंतजाम हो जाए तो सुकून मिल सके। बलबीर कौर के पति अजैब सिंह भी बीमार रहते हैं।