सिर्फ 15 सूअर से शुरू किया था काम, आज कमा रहा है लाखो रुपये

गंगागंज गाँव के अनूप कुमार राम (23 वर्ष) ने जब सूअर पालन व्यवसाय को शुरू किया था तब लोग उन्हें ताने मारते थे लेकिन उसी कमाई से आज वह खुद तो पढ़ाई कर ही रहे हैं साथ ही अपने पूरे परिवार का खर्चा भी चला रहे हैं।

”जब शुरू किया था तब सिर्फ 15 सूअर थे आज हमारे पास 150 से ज्यादा सूअर है। इनको रखने के लिए 10 पक्के कमरे बने हुए है। शुरू में इस व्यवसाय में कम कमाई हो रही थी लेकिन धीरे-धीरे इसे मुनाफा बढ़ गया।

” ऐसा बताते हैं अनूप राम। लखनऊ जिले के गंगागंज गाँव में अनूप का सूअर फार्म बना हुआ है। अनूप बतातें हैं,”सूअर को बीमारी न हो इसके लिए समय पर टीकाकरण कराते है और उनके खाने-पीने का ध्यान रखा जाता है। सूअर को उनके वजन और उनकी उम्र के हिसाब से दाना दिया जाता है।’

सूअर पालन कम समय में ज्यादा मुनाफा देने वाला व्यवसाय है। सूअर पालन में आने वाले खर्च के बारे में अनूप बताते हैं, “एक सूअर पर पूरे साल में पांच हजार रुपए का खर्चा आता है और बाजार में 12 हजार रुपए में बिकता है। इससे एक फायदा और भी है कि यह एक वर्ष में दो बार बच्चे पैदा करती है और एक बार में 6-12 बच्चों को जन्म देती है।

” सूअर से होने वाले मुनाफे के बारे में अनूप बताते हैं, ”पूरे वर्ष जितना खर्चा इनपर आता है। उतना निकल भी आता है क्योंकि बाजार में इनके दाम काफी अच्छे है। और इनके मांस की काफी मांग भी है।” अनूप अपने सूअर पालन व्यवसाय को और आगे बढ़ाना चाहते है ताकि उनको दोगुना लाभ मिल सके।