प्रदूषण से हैं परेशान, तो अपने घर में लगाए ये चमत्कारी पौधे प्रदूषण से मिलेगा छुटकारा

राजधानी दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण के बाद एक बार फिर लोग इससे बचने के उपाय तलाशने लगे हैं। कोई एयर प्यूरीफायर सर्च कर रहा है तो कोई मास्क तलाश रहा है। अन्य विकल्प बहुत महंगे हैं। ऐसे में हम आपको कुछ ऐसे तरीके बता रहे हैं जो न केवल सस्ते हैं, बल्कि इससे आपके घर की शोभा भी भड़ेगी।

यहां हम बात कर रहे हैं, कुछ ऐसे पौधों कि जो न सिर्फ हमें ताजी हवा देते हैं, बल्कि कई बीमारियों को भी दूर करते हैं।

स्नेक प्लांट

इस पौधे को मदर-इन-लॉज-टंग के नाम से भी जाना जाता है। वायु में मौजूद खतरनाक तत्व फॉरमलडिहाइड को फिल्टर करने के लिहाज से यह बेस्ट है। उपरोक्त हानिकारक तत्व आमतौर पर केमिकल बेस्ड क्लीनर्स, पेंट्स, टॉयलेट पेपर, टिश्यूज और पर्सनल केयर प्रोडक्टस के जरिए वातावरण में रिलीज होता रहता है।

चूंकि इस पौधे को ज्यादा धूप की जरूरत नहीं होती और यह नमीयुक्त वातावरण में जीवित रह सकता है, इसलिए स्नेक प्लांट के गमले को बाथरूम में लगाना अच्छा आइडिया है। एक अन्य मामले में स्नेक प्लांट दूसरे पौधों से उलटा है। रात में यह कार्बन डाइ ऑक्साइड को अवशोषित करके ऑक्सीजन रिलीज करता है, इसलिए इसे बेडरूम में लगाना अच्छा रहता है।

एलोवेरा

सूरज की थोड़ी सी रोशनी में भी भली प्रकार पनपने वाला यह पौधा एक अच्छा एयर प्यूरीफायर होने के साथ ही अनेक औषधीय गुणों से भी परिपूर्ण है। यह न सिर्फ केमिकल बेस्ड क्लीनर्स पेंट्स इत्यादि में पाए जाने वाले हानिकारक फॉरमलडिहाइड और बेंजीन से वातावरण को मुक्त करता है, बल्कि इसकी पत्तियों से निकलने वाला जेल त्वचा में कांति लाने के साथ ही घावों को भरने व जली हुई त्वचा को ठीक करने में लाभकारी रहता है। इसे आप अपनी किचेन विंडो पर भी रख सकती हैं।

स्पाइडर प्लांट

अगर आप पौधों की देखभाल के लिए समय निकालने में असमर्थ हैं तो भी इस पौधे को घर के भीतर रखने में कोई परेशानी नहींहै। छोटे-छोटे सफेद फूलों व घनी पत्तियों वाला यह खूबसूरत पौधा समुचित देखभाल के अभाव में भी जीवित रहता है और वायु को शुद्ध करता है।

लेदर, रबर और प्रिटिंग मैटेरियल में इस्तेमाल किए जाने वाले तत्व जाइलीन, बेन्जीन, फॉरमलडिहाइड और कार्बन मोनो ऑक्साइड जैसी विषैली गैसों से यह वातावरण को मुक्त करता है। अगर आपके घर में पालतू जानवर हैं तो उनके लिहाज से भी यह पौधा सुरक्षित है।

रबर प्लांट्स

ऑफिस के बंद कमरे में अगर आपको शुद्ध वायु और प्रकृति के स्पर्श की जरूरत महसूस होती है तो वहां रखने के लिए रबर प्लांट्स बेस्ट हैं। थोड़ी सी धूप भी उन्हें जीवित रखने के लिए पर्याप्त है। ये धीरे-धीरे बढ़ते हैं, लेकिन ऑफिस के वुडन फर्नीचर द्वारा रिलीज किए जाने वाले हानिकारक ऑर्गेनिक कंपाउंड फॉरमलडिहाइड से वातावरण को मुक्त करने की इनकी क्षमता लाजवाब है।

यह जानना आवश्यक है कि आमतौर पर फर्नीचर्स के निर्माण में फॉरमलडिहाइड बेस्ड ग्लू का इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए अगर आप कमरे में सोफे या बेड के नजदीक रबर प्लांट रखती हैं तो यह आपके स्वास्थ्य के लिहाज से भी अच्छा रहेगा।

पाम ट्री

आकर्षक व सहजता से उगाए जा सकने वाले इनडोर प्लांट्स में शुमार पाम ट्री बतौर एयर प्यूरीफायर हानिकारक फॉरमलडिहाइड से वातावरण को मुक्त करते हैं। इस लिहाज से ड्वार्फ डेट पाम, बैंबू पाम, एरिका पाम, लेडी पाम या पार्लर पाम ट्री बेस्ट हैं।

तुलसी

तुलसी एक नेचुरल एयर प्यूरिफायर है। यह पौधा 24 में से 20 घंटे ऑक्सीजन छोड़ता है। तुलसी का पौधा कार्बन मोनो ऑक्साइड, कार्बन डाई ऑक्साइड व सल्फर डाईऑक्साइड सोखता है।

फाइकस बेंजामिना

कारपेट व फर्नीचर द्वारा रिलीज किए जाने वाले फॉरमलडिहाइड, बेंजीन और ट्राइक्लोरोथाइलीन जैसे तत्वों से वातावरण को मुक्त बनाने में फाइकस बेंजामिना अहम भूमिका निभाता है। यह पौधा समय पर पानी व देखभाल मांगता है, पर एक बार यह पर्याप्त रोशनी व देखभाल पाकर आपकी इनडोर कंडीशन में सेट हो गया तो यह लंबे समय तक जीवित भी रहता है।