SBI ने दी अपने सभी गाहकों को बड़ी खुशखबरी !

बिजनेस डेस्‍क। SBI यानी भारतीय स्‍टेट बैंक के ग्राहकों के लिए एक अच्‍छी खबर है। SBI ने RTGS, NEFT और IMPS के लिए चार्ज खत्‍म कर दिया है। मतलब, अब भारतीय स्‍टेट बैंक के इन सर्विसेज के लिए आपको कोई चार्ज नहीं देना होगा।

आपको बता दें कि YONO एप के जरिये NEFT और RTGS लेनदेन के साथ ही इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैकिंग के लिए चार्ज 1 जुलाइ 2019 से ही समाप्‍त कर दिया गया है। IMPS के चार्ज इन सभी प्‍लैटफॉर्म के लिए 1 अगस्‍त 2019 से खत्‍म हो जाएंगे।

आपको बता दें कि SBI ने अपनी शाखा के जरिए NEFT और RTGS करने वाले लोगों के लिए पहले ही चार्जेज 20 फीसद घटा चुका है। बैंक ने यह कदम डिजिटल ट्रांजैक्‍शन को बढ़ावा देने के लिए उठाया है। देश के सबसे बड़े बैंक ने YONO, इंटरनेट बैंकिंग और मोबाइल बैंकिंग को बढ़ावा देने के लिए यह कदम उठाया है।

कितना लेता था SBI चार्ज?

10,000 रुपये तक के ट्रांसफर के लिए बैंक ढाई रुपये वसूलता था। वहीं 10,000 रुपये से 1 लाख रुपये तक के लिए NEFT चार्ज 5 रुपये है। 1 से दो लाख रुपये तक के लिए चार्ज 15 रुपये और दो लाख रुपये से ऊपर के लिए 25 रुपये है।

अगर RTGS की बात करें तो बैंक 5 रुपये से 50 रुपये तक वसूलता था। RTGS दो लाख रुपये से अधिक की रकम के लिए होता है। RBI ने अपनी हालिया मौद्रिक नीति समीक्षा में RTGS और NEFT चार्ज 1 जुलाई से खत्‍म करने का निर्णय किया था।

31 मार्च 2019 के आंकड़ों के अनुसार, SBI के इंटरनेट बैंकिंग ग्राहकों की संख्‍या 6 करोड़ है। वहीं, 1.41 करोड़ ग्राहक मोबाइल बैंकिंग का इस्‍तेमाल करते हैं। SBI के मोबाइल एप YONO के लगभग 1 करोड़ यूजर्स हैं। बैंक के इस कदम का उद्देश्‍य ज्‍यादा से ज्‍यादा लोगों को डिजिटल प्‍लैटफॉर्म से जोड़ना है।