सिर्फ 5 मिनट में दूसरी ब्रांच में ट्रांसफर करें अपना SBI अकाउंट, जानें पूरी प्रोसेस

अब अपने एसबीआई अकाउंट को अपनी मनचाही ब्रांच में ट्रांसफर कराना और आसान हो गया है. आप बैंक का चक्कर काटे बिना घर बैठे यह काम कर सकते हैं.  आइए जानते हैं बैंक की ब्रांच बदलने का पूरा ऑनलाइन प्रोसेस क्या है.

यह सर्विस केवल उन ग्राहकों के लिए उपलब्ध है जिनका केवायसी (नो योर कस्टमर) अपडेटेड है. इसके अलावा, ऑनलाइन प्रोसेस तभी पूरी की जा सकती है जब आपका मोबाइल नंबर रजिस्टर हो. वैसे भी एसबीआई ने 1 दिसंबर से बिना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर वाले कस्टमर की नेट बैंकिंग सर्विस ब्लॉक कर दी है.

बैंक ब्रांच बदलने का प्रोसेस इस प्रकार है:

  • सबसे पहले नेट बैंकिंग लॉगिन करें. अपने खाते के होम पेज पर ‘ई-सर्विस’ टैब पर क्लिक करें. ‘ई-सर्विसेज’ सेक्शन में बाईं ओर आप “बचत खाते के स्थानांतरण” (Transfer of Savings Account) का विकल्प दिखाई देगा. इस ऑप्शन पर क्लिक करने पर स्क्रीन पर आपको एसबीआई में उपलब्ध खाते दिखाई देंगे. आप जिस खाते को दूसरी शाखा में ट्रांसफर करना चाहते हैं, उसे चुनें. फिर आपसे एसबीआई शाखा का शाखा कोड डालने को कहा जाएगा.
  • फिर ‘गेट ब्रांच नेम’ टैब पर क्लिक करें, जिसके बाद शाखा का नाम, शाखा कोड के नीचे दिए गए बॉक्स में दिखाया जाएगा. वहां से चुन लें. अगर आप पहले से ही शाखा कोड जानते हैं तो उसे भर दें. ‘नियम और शर्तें’ पढ़ने के बाद एक्सेप्ट पर टिक करके सबमिट पर क्लिक करें.
  • सबमिट के बटन पर क्लिक करते ही आपको नई शाखा का नाम और कोड दिखाएगा, जिसमें आप अपना खाता ट्रांसफर करना चाहते हैं. पूरी डीटेल्स एक बार जांचें और यदि आपको सब कुछ सही लगता है तो कंफर्म बटन पर क्लिक करें.
  • इसके बाद, आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी (OTP) आएगा, जिसे आपको डालना होगा. जब आप “कन्फर्म” पर क्लिक करेंगे तो एक नया पेज खुलेगा.
  • इस पर ट्रांसफर कंफर्मेशन मैसेज, आपकी मौजूदा शाखा और उस शाखा का विवरण दिखेगा, जिस पर आपने अपना खाता ट्रांसफर किया है.

ध्यान दें: यदि आप अपने सभी खाते ट्रांसफर करना चाहते हैं तो CIF अनिवार्य रूप से प्रदान करना होगा. CIF का मतलब कस्टमर इन्फॉर्मेशन फाइल है जिसमें खाताधारक के संपूर्ण खातों की जानकारी होती है.