सिर्फ 10 लाख में ऐसे शुरू करें ऑक्सीजन गैस का बिज़नेस

देश में इन दिनों कोरोना महामारी लगातार अपना विकराल रूप लेती जा रही है। ऐसे में हर जगह ऑक्सीजन की कमी देखने को मिल रही है आज हम आपको बताने जा रहे है के आप कैसे बेहद ही कम पैसों में ऑक्सीजन सिलेंडर का काम शुरू कर सकते हैं।

ऑक्सीजन उपलब्ध करवाना मानवता का भी सबसे बड़ा धर्म होगा। आइए आपको ऑक्सीजन सिलेंडर के इस कारोबार के बारे में विस्तार से बताते हैं। जैसे जैसे प्रदूषण बढ़ रहा है वैसे वैसे ऑक्सीजन की मांग बढ़ती ही रहेगी ऐसे में इस बिज़नेस में आपार संभावनाएं है

Advertisement

इस बिज़नेस की शुरुआत से पहले आपको ये जानना ज़रूरी है कि ऑक्सीजन सिलेंडर का काम केवल महामारी के दौरान ही चलने वाला काम नहीं है। ये काम निरंतर चलता रहता है। जैसा कि आप जानते हैं कि इस तरह का काम लोगों के स्वास्थ्य से जुड़ा होता है। आपकी जरा-सी चूक ना जाने कितने ही लोगों की जान पर भारी पड़ सकती है। इसलिए इस काम को शुरू करने के लिए राज्य सरकार से अनुमति लेनी पड़ती है।

इस काम को शुरू करने के लिए सबसे पहले आपको कोई बड़ी जगह तलाशनी होगी। ध्यान रहे कि ये जगह रिहायशी इलाके से थोड़ी दूर हो। साथ ये देखना होगा कि उस जगह से रोड और बिजली की अच्छी कनेक्टिविटी हो। जिससे कभी भी सप्लाई में बाधा न उत्पन्न हो।

ऑक्सीजन सिलेंडर लगाने के लिए आपको इसका प्लांट स्थापित करना पड़ता है। जिसकी वज़ह से इसका ख़र्चा थोड़ा ज़्यादा बढ़ जाता है। यदि आप ऑक्सीजन प्लांट का काम छोटे पैमाने पर शुरू करना चाहते हैं, तो इसमें आपको 10-20 लाख रुपये तक निवेश करने पड़ सकते हैं।

जिसके बाद में इससे आपकी आमदनी भी शुरू हो जाएगी। यदि आप सीधा बड़े प्लांट से शुरुआत करना चाहते हैं तो आप बैंक से लोन भी ले सकते हैं। सरकार आजकल स्टार्टअप के लिए सस्ती दरों पर लोन भी उपलब्ध करवा रही है।

पिछले साल आई कोरोना महामारी के बाद लोग ऑक्सीजन सिलेंडर को लेकर जागरूक हो गए हैं। आजकल बहुत से लोग अपने घरों तक में छोटे ऑक्सीजन सिलेंडर रखने लगे हैं। यदि हम ‘पोर्टेबल ऑक्सीजन सिलेंडर’ की क़ीमत की बात करें तो इसके 75 लीटर की क़ीमत लगभग 5500 रुपए होती है।

75 लीटर सुनकर आप ये मत सोचिएगा कि ये कोई भारी भरकम सिलेंडर होता होगा। आपको बता दें कि हमेशा सिलेंडर में गैस को कम्प्रैस करके भरा जाता है। जिससे ऑक्सीजन सिलेंडर का वज़न 700 से 1200 ग्राम तक होता है। लेकिन इसे इस्तेमाल लंबे समय तक किया जा सकता है।