अब आपकी पुराणी पेट्रोल और डीज़ल कार बनेगी इलेक्ट्रिक, जानें कितना आएगा खर्च

पेट्रोल और डीज़ल की कीमतें लगातार बढ़ती जा रही हैं जो कि आम लोगों के लिए एक बड़ी समस्या है। बहुत से लोग अब पेट्रोल और डीज़ल वाहनों को छोड़करअब इलेक्ट्रिक कारों की तरफ रुख कर रहे हैं। लेकिन अभी कुछ ही कंपनियां भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक गाड़ियां लेकर आई हैं और उनकी कीमत आम आदमी के बजट से बाहर होती है।

लेकिन अब हर कोई अपनी पुराणी पेट्रोल डीज़ल वाली गाडी को इलेक्ट्रिक कार में बदल सकता है और ईंधन की कीमत के बोझ को कम कर सकता है। आज हम आपको इसके बारे में पूरी जानकारी देंगे कि आप किस तरह से अपनी पुराणी कार को इलेक्ट्रिक कार में बदल सकते हैं।

Advertisement

आपको बता दें कि पेट्रोल डीज़ल वाहनों को इलेक्ट्रिक में बदलने का काम ज्यादातर हैदराबाद की कंपनियां करती हैं। यह काम उन कंपनियों द्वारा किया जाता है जो इलेक्ट्रिक कारों के लिए पुर्जे बनाती हैं। ये कंपनियां मोटर, नियंत्रक, रोलर्स और बैटरी का उपयोग करके आपकी पुराणी कार को इलेक्ट्रिक कार में बदल देती हैं।

खर्चे की बात करें तो ये इसके ऊपर निर्भर होगा कि आप अपनी कार में कितनी किलोवाट की बैटरी और कितनी किलोवाट की मोटर लगवाते हैं। जानकारी के अनुसार 20 किलो वॉट की इलेक्ट्रिक मोटर और 12 किलो वॉट की लिथियम-आयन बैटरी की कीमत लगभग 4 लाख रुपये तक होती है।

यानि अगर आप अपनी पेट्रोल या डीज़ल गाडी को इलेक्ट्रिक कार में बदलना चाहते हैं तो इसके ऊपर आपका करीब 4 से 5 लाख रुपये का खर्च आएगा। आप चाहें तो इस खर्चे को अपने हिसाब से बड़ी या छोटी बैटरी लगवाकर कम या ज्यादा भी कर सकते हैं।