गर्मी की उलटी गिनती शुरू, 18 मई को इस जगह पहुंचेगा मानसून

इस बार शुरुआत से ही रिकॉर्ड तोड़ गर्मी पड़ रही है और लोग गर्मी से राहत पाने के लिए मानसून का इंतज़ार कर रहे हैं। आपको बता दें कि अब जल्द ही आपको तेज गर्मी से राहत मिलने वाली है। मौसम विभाग के अनुसार 13 मई के बाद राजस्थान के बिना देश के और किसी भी हिस्से में लू चलने के आसार नहीं है।

हालांकि, 11 से 13 मई तक दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और आधे मध्यप्रदेश में गर्मी बढ़ेगी। उसके बाद 14 मई से तापमान में लगातार गिरावट देखि जाएगी और लू का प्रकोप कम होगा। बता दें कि तापमान में गिरावट की यह स्थिति 24 मई तक रहेगी। उसके बाद फिर से तापमान में हल्की बढ़ोतरी का अनुमान है।

Advertisement

मौसम विभाग का कहना है कि केरल में मानसून के दस्तक देते ही पूरे मध्य भारत में प्री-मानसून एक्टिविटी और बारिश शुरू हो जाएगी। इसके साथ ही एक अच्छी खबर ये भी है कि इस बार अंडमान में मानसून केरल से 12 से 13 दिन पहले पहुंचेगा। आम तौर पे ये 9 से 10 दिन पहले पहुंचता है।

केरल में मानसून 1 जून तक पहुंचता है और इस हिसाब से अंडमान में मानसून 18 मई तक पहुंच जाएगा। इससे भी देश के ज्यादातर हिस्सों में गर्मी से राहत मिलनी शुरू हो जाएगी। हालांकि, देश में मानसून की दस्तक केरल से ही मानी जाती है। मौसम विभाग का कहना है कि 20 मई के बाद केरल में बारिश में इजाफा होगा जिसे मानसून के आने का संकेत माना जा रहा है।

जानकारी के अनुसार 13 मई की शाम से एक पश्चिमी पश्चिमी विक्षोभ अपना असर दिखाना शुरू करेगा जिसके चलते गर्मी से राहत मिलेगी। मौसम माहिरों का कहना है कि 13 मई की शाम से पश्चिमी विक्षोभ के असर से पूरे उत्तर-पश्चिम भारत में तापमान कम होना शुरू होगा।

इसके साथ ही जानकारी दी गयी है कि तूफान असानी जब ओडिशा तट पर पहुंच जाएगा तो इसके प्रभाव से बंगाल की खाड़ी से नमी आना शुरू होगी। जिसके साथ ही एक और पश्चिमी विक्षोभ 12 मई तक एक्टिव हो रहा है। इसके प्रभाव से भी 12 मई के बाद गर्मी से राहत मिलेगी। ऐसे में मध्य प्रदेश समेत मध्य भारत में बदल छाए रहेंगे और तापमान में गिरावट आएगी।