बेटी की शादी और पढाई के लिए आपके पास होंगे 64 लाख ,इस बचत स्कीम में करें नवेश

किसी भी परिवार के लिए बेटी की पढाई और शादी सबसे बढ़ी जुमेदारी होती है जिसके लिए काफी पैसा खर्च हो जाता है । हर पिता को इसकी चिंता लगी रहती है ऐसे में आप अभी से थोड़ी थोड़ी बचत कर 14 साल जमा करवाते है तो आपके पास काफी बड़ी रकम हो जाएगी । इस वक़्त सबसे ज्यादा ब्याज (8.3 % ) इसी स्कीम में मिलता है ।

सुकन्या समृद्धि योजना का उद्देश्य बेटियों की पढ़ाई और उनकी शादी पर आने वाले खर्च को आसानी से पूरा करना है। योजना के अंतर्गत बेटी की पढ़ाई व शादी के लिए डाक विभाग के पास ‘सुकन्या समृद्धि योजना’ का अकाउंट खुलवाया जा सकता है।

  • सुकन्या समृद्धि योजना अकाउंट में बेटी के नाम से एक साल में 1 हजार से लेकर 1 लाख पचास हजार रुपए जमा कर सकता है।
  • यह पैसा अकाउंट खुलने के 14 साल तक ही जमा करवाना होगा और यह खाता बेटी के 21 साल की होने पर ही मैच्योर होगा।
  • योजना के नियमों के अंतर्गत बेटी के 18 साल के होने पर आधा पैसा निकलवा सकते हैं।
  • 21 साल के बाद खाता बंद हो जाएगा और पैसा पालक को मिल जाएगा।
  • अगर बेटी की 18 से 21 साल के बीच शादी हो जाती है तो अकांउट उसी वक्त बंद हो जाएगा।
  • अकाउंट में अगर पेमेंट लेट हुई तो सिर्फ 50 रुपए की पैनल्टी लगाई जाएगी।
  • पोस्ट ऑफिस के अलावा कई सरकारी व निजी बैंक भी इस योजना के तहत खाता खोल रही हैं।
  • सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खातों पर आयकर कानून की धारा 80-जी के तहत छूट दी जाएगी।
  • पालक अपनी दो बेटियों के लिए दो अकाउंट भी खोल सकते हैं।
  • जुड़वां होने पर उसका प्रूफ देकर ही पालक तीसरा खाता खोल सकेंगे। पालक खाते को कहीं भी ट्रांसफर करा सकेंगे।

14 साल तक अगर हर महीने 1000 रुपये जमा करवाए तो

योजना के अंतर्गत 2017 में कोई व्यक्ति 1,000 रुपए महीने से अकाउंट खोलता है तो उसे 14 साल तक यानी 2030 तक हर साल 12 हजार रुपए डालने होंगे। मौजूदा हिसाब से उसे हर साल 8.3 फीसदी ब्याज मिलता रहेगा तो जब बच्ची 21 साल की होगी तो उसे लगभग 6 लाख 5 हज़ार रुपए मिलेंगे। गौर करने वाली बात यह है कि 14 सालों में पालक ने अकाउंट में कुल 1.68 लाख रुपए ही जमा करने पड़े। बाकी के रुपए ब्याज के हैं।

14 साल तक अगर हर महीने 12500 रुपये जमा करवाए तो

14 साल तक 1.5 लाख (12500 रुपए महीने) सालाना का निवेश 15 वें साल में हो जाएगा 40 लाख रुपए।इसके बाद 40 लाख रुपए अगर न निकाला जाए तो यह 21वें साल में हो जाएगा 64.8 लाख रुपए।

योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज:

  • बच्ची का जन्म प्रमाणपत्र
  • एड्रेस प्रूफ
  • आईडी प्रुफ

10 हजार ऐसे बन जाएंगे 49 लाख, ये हैं बड़ी रकम बनाने का हिट फॉर्मूला

अपने भविष्य को वित्तीय रूप से सुरक्षित रखने के लिए आपका फाइनेंस का पंडित बनने की जरूरत नहीं है। आपको सिर्फ अपनी बचत की निरंतरता बनाए रखनी है और बाकी का काम चक्रवृद्धि समय के साथ करता रहेगा। चक्रवृद्धि का प्रभाव दीर्घावधि में देखते ही बनता है और यह लंबी अवधि में आपको धनवान बनाने में भरपूर मदद करता है। आइए, उदाहरण के जरिए समझते हैं कि किस उम्र में कितना निवेश करने पर आपको रिटायरमेंट पर 49 लाख मिलेंगे। 49 लाख की रकम उदाहरण के लिए ली गई है, आपकी या हमारी जरूरत इससे भिन्‍न भी हो सकती है।

कैसे काम करता है चक्रवृद्धि (Compound interest ) ?

मान लीजिए आप 100 रुपये कहीं जमा करते हैं और उस पर सालाना 10 प्रतिशत का ब्याज मिलता है। एक साल बाद आपके पास 110 रुपये होंगे। अगले वर्ष चक्रवृद्धि के कारण आपको 110 रुपये पर 10 प्रतिशत का ब्याज मिलेगा और आपके पैसे बढ़ कर 121 रुपये हो जाएंगे। फिर अगले वर्ष 121 रुपये पर 10 प्रतिशत ब्याज प्राप्त होगा और यह सिलसिला साल दर साल चलता रहेगा। समय के साथ आपके पैसों में आश्चर्यजनक बढ़ोतरी देखने को मिलेगी।

कब होंगे पैसे दोगुने

आपकी बचत के पैसे दोगुने कब होंगे इसकी गणना का एक आम नियम काफी प्रचलित है। रूल 72 है इसका नाम। फाइनेंस में इसका खूब इस्तेमाल होता है। रूल 72 के जरिए आप यह जान सकते हैं कि आपके निवेश के पैसे कितने समय में दोगुने हो जाएंगे। आइए इसका फॉर्मूला जानते हैं।

अगर आप 100 रुपये का निवेश करते हैं जिस पर सालाना 10 प्रतिशत का चक्रवृद्धि ब्याज मिलता है तो रूल 72 के अनुसार इस निवेश को दोगुना होने में 72/10=7.2 साल लगेंगे। अगर आप इससे बड़ी राशि, मान लीजिए एक लाख रुपये, का निवेश करते हैं तो लगभग सात साल में वह दो लाख रुपया हो जाएगा। इसके लिए निवेश की निरंतरता और वर्तमान फंड में बढ़ोतरी करना न भूलें, यह आपको कहीं अधिक लाभ देगा।

पुरानी शराब जैसा है चक्रवृद्धि (Compound interest )

चक्रवृद्धि ब्याज शराब की तरह है। कहते हैं कि वाइन यानी शराब जितनी पुरानी होती है उतनी ही बेहतर होती है। इसी तरह, पैसों का निवेश भी अगर लंबी अवधि के लिए किया जाए तो इसके परिणाम काफी बेहतर होते हैं। इसलिए, अगर आप अपनी रिटायरमेंट के लिए करोड़ों रुपये की बचत करना चाहते हैं तो शुरुआत जितनी जल्दी हो सके, उतनी जल्दी किजीए। अपने पहले वेतन से या फिर 25 साल की उम्र से आप इसकी शुरुआत करें तो ज्यादा अच्छा रहेगा। जब आप 60 साल की उम्र में रिटायर होंगे तो आपके पास पैसों की कमी नहीं होगी और आप शानदार जीवनशैली बरकरार रख सकते हैं।

अभी निवेश करने पर कितना मिलेगा

अगर आप 25 साल की उम्र से 5,000 रुपये का निवेश शुरू करते हैं और इस पर सालाना 10 प्रतिशत का रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र में आपके पास एक करोड़ रुपये से अधिक का फंड होगा। हालांकि, अगर आप इसकी शुरुआत 40 साल की उम्र में करते हैं तो इतने पैसों के निवेश से आप रिटायरमेंट के समय लगभग 33 लाख रुपये प्राप्त कर पाएंगे। यह फर्क काफी अधिक है। 40 साल के व्यक्ति को एक करोड़ रुपये के लिए कितनी बार 5,000-5,000 रुपये अतिरिक्त जमा करने होंगे।

10,000 रुपये सालाना का निवेश 10 प्रतिशत की ब्याज दर के हिसाब से।

इस टेबल से आप समझ गए होंगे कि पांच साल का फर्क भी निवेश से प्राप्त होने वाले पैसों में भारी फर्क पैदा करता है। हो सकता है कि आप अधिक उम्र में निवेश की शुरुआत करें और 49 लाख रुपये के रिटायरमेंट फंड के लक्ष्य को प्राप्त करें जो 20 साल वाले व्यक्ति ने आसानी से प्राप्त किया था। आपको इसी लक्ष्य के लिए ज्यादा रकम का निवेश करना होगा ताकि आप बीते समय की भरपाई कर पाएं। इससे आपका बजट प्रभावित हो सकता है क्योंकि इस लक्ष्य के लिए आपको ज्यादा पैसे आवंटित करने होंगे। इसे समझने के लिए, दूसरा टेबल भी देखते हैं कि किस उम्र में व्यक्ति को कितने पैसों का निवेश करना होगा ताकि वह 49 लाख रुपये के लक्ष्य को पा सके।
49 लाख के लक्ष्य के लिए सालाना निवेश की राशि

निवेश के शुरुआत की उम्र रिटायरमेंट फंड

  • 20  6 लाख रुपये
  • 25  11 लाख रुपये
  • 30  18 लाख रुपये
  • 35  30 लाख रुपये
  • 40  49 लाख रुपये

नोट: यह लेख वरिष्ठ आर्थिक पत्रकार मनीष मिश्रा के ब्लॉग सबसे बड़ा रुपइया से लिया गया है।

नए दौर में शुरू करे फ़ूड ट्रक का बिज़नेस, पहले साल में ही होगा बढ़िया प्रॉफिट

नए दौर में लाइफ में बदलाव के साथ लोगों की प्राथमिकताएं भी बदल गई हैं। जिंदगी में इसी बदलाव की वजह से नए बिजनेस आइडिया भी सामने आ रहे हैं। खास बात ये है कि इसमें से कुछ बिजनेस आइडिया नए दौर के कारोबारियों के लिए काफी फिट भी हैं।  जो अपनी शर्तों पर काम करना चाहते हैं, फिक्स ऑफिस ऑवर से दूर रहते हैं और साथ ही चाहते हैं कि उनके काम को अपनी पहचान भी मिले।

मैगजीन एंट्रप्रेन्योर के द्वारा नई पीढ़ी के लिए जारी बिजनेस आइडिया की लिस्ट में ऐसे कई बिजनेस आइडिया शामिल किए गए हैं । जिसमे से फ़ूड ट्रक बिज़नेस एक है, एंट्रप्रेन्योर मैगजीन के मुताबिक लोगों की आदतें बदलने का सबसे बड़ा असर उनकी फूड हैबिट्स पर पड़ा है। लोग हेल्दी खाना चाहते हैं लेकिन समय की कमी से भी जूझते हैं।

इसी वजह से फूड ट्रक लगातार सफल हो रहे हैं। क्योंकि ये सीधे आपकी ऑफिस से सटी पार्किंग में भी स्वादिष्ट खाना ऑफर कर सकते हैं।फ़ूड ट्रक का एक फ़ायदा यह है के आप को किसी एक फिक्स जगह पर नहीं रुकना पड़ता । ग्राहक के हिसाब से अपनी स्थिति बदल सकते है मतलब यहाँ ग्राहक वहां आपका ट्रक ।

फूड ट्रक विदेशों में काफी पहले से चल रहा एक आम बिजनेस आइडिया है। हालांकि भारत में अब ये धीरे धीरे अपने कदम बढ़ा रहा है। मीडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में कई फूड ट्रक सेलेब्रिटी का दर्जा पा चुके हैं और इन ट्रक के अपने पहले से तय जगह पर पहुंचने से काफी पहले इनके ग्राहक लाइन में खड़े रहते हैं।

ऐसे ही एक फूड ट्रक मिस चीजियस को शुरू करने वाले ब्रायंस मलिंस न केवल मीडिया में काफी मशहूर हैं साथ ही 2015 में अपने एक छोटे से ट्रक से शुरूआत करने के बाद फिलहाल वो 2 बड़े फूड ट्रक और दो रेस्टोरेंट के मालिक बन चुके हैं। साथ ही उनका फूड ट्रक अब एक कंपनी बन चुका है।

एंट्रप्रेन्योर के मुताबिक स्वाद, सर्विस और सफाई 3 फैक्टर पर खरे उतरने वाले फूड ट्रक साल भर में निवेश निकाल कर प्रॉफिट में आ जाते हैं। इसके लिए अगर आप अच्छा खाना बना लेते है तो आप को सिर्फ एक हेल्पर की जरूरत होगी । इसके इलावा आप आइस क्रीम और किसी ड्रिंक का भी फ़ूड ट्रक शुरू कर सकते है ।

शुरुआत एक पुराना ट्रक और मिनी ट्रक लेकर कर सकते है ।बहुत सारी कंपनी फाइनेंस से पर ट्रक खरीद सकते है। ट्रक के अंदर की सेटिंग्स आप अपने त्यार होने वाले फ़ूड के हिसाब से कर सकते है । इस लिए शुरआत में 2 -3 लाख में आप अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है।

बहुत सी जगह पर ट्रक से फ़ूड बेचने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है लेकिन ज्यादातर शहरों में आप को कोई खास परमिशन की जरूरत नहीं पड़ती । अगर आप अपना ब्रांड नेम बनाने में सफल रहते है तो आप का बिज़नेस एक नई ऊंचाई पर पहुँच सकता है ।

7 साल में बच्चे के लिए बन जाएगा 20 लाख का फंड, ये है तरीका..

हर व्‍यक्ति अपने बच्‍चों को बेहतर एजुकेशन दिलाना चाहता है। कई बार लोग पैसों की व्‍यवस्‍था न हो पाने के कारण अपने बच्‍चों को मनचाहे कॉलेज या कोर्स में दाखिल नहीं कर पाते हैं। या इसके लिए उनको एजुकेशन लोन या पर्सनल लोन जैसा महंगा लोन लेना पड़ता है।आज हम आपको ऐसा तरीका बता रहे हैं

जिससे आप अपने बच्‍चे के लिए 7 साल में 20 लाख का फंड बना सकते हैं। 20 लाख रुपए आपके बच्‍चे की हायर एजुकेशन में काफी मदद कर सकता है। अगर आप समय रहते ऐसा करते हैं तो पैसों की कमी आपके बच्‍चे के कैरियर में बाधा नहीं बनेगी।

कैसे बनेगा 20 लाख का फंड

7 साल में 20 लाख रुपए का फंड बनाने के लिए आपको सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान यानी एसआईपी में हर माह 15000 रुपए निवेश करना होगा। अगर आपको 7 साल में आपके निवेश पर 13 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 7 साल के बाद आपका कुल फंड 20 लाख रुपए हो जाएगा। लंबी अवधि में एसआईपी म्‍यूचुअल फंड स्‍क्‍ीमों में 15 फीसदी तक रिटर्न मिला है।

  • मंथली निवेश = 15000
  • निवेश की अवधि = 7 साल
  • रिटर्न = 13 %
  • कुल फंड = 20 लाख रुपए

हायर एजुकेशन की बढ़ रही है लागत

अगर आपको लगता है कि आपके बच्‍चे की हायर एजुकेशन के लिए यह रकम कम होगी तो आप इसी के हिसाब से मंथली एसआईपी की रकम बढ़ा सकते हैं। इसके अलावा अगर आपका बच्‍चा 2 या 3 साल का है तो आपको उसकी हायर एजुकेशन के लिए फंड बनाने के लिए ज्‍यादा समय मिलेगा। ऐसे में आप कम निवेश में बड़ा फंड बना सकते हैं।