हर माह जमा करें सिर्फ 42 रु., सरकार आपको देगी 12 हजार रुपए सालाना की पेंशन

सरकार अटल पेंशन योजना (एपीवाई) की लिमिट 5,000 से बढ़ाकर 10,000 रुपए महीना कर सकती है। पेंशन फंड रेग्युलेटरी एंड डवलपमेंट अथॉरिटी (पीएफआरडीए) ने फाइनेंस मिनिस्ट्री को ये प्रपोजल दिया है। इसका मकसद ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस योजना से जोड़ना है।

पीएफआरडीए के चेयरमैन हेमंत जी का कहना है- इस बारे में काफी फीडबैक मिला था, जिसके बाद सरकार को प्रस्ताव भेजा गया। लोगों का कहना था कि 60 साल की उम्र में 5,000 रुपए पर्याप्त नहीं होंगे। APY के अभी 5 स्लैब 1,000 से 5,000 रुपए महीने तक के हैं। इसकी उम्र सीमा भी 40 से बढ़ाकर 50 साल करने का प्रपोजल है।

योजना से जुड़ने के लिए मासिक प्रीमियम

  • अगर आप 60 साल की उम्र पूरी करने पर 1000 रुपए मासिक पेंशन चाहते हैं और 18 साल की उम्र में योजना से जुड़ते हैं, तो आपको 42 रुपए हर महीने देने होंगे। अगर आप 5000 रुपए पेंशन चाहते हैं और 18 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो आपको 210 रुपए देने होंगे।
  • 18 से 40 साल की उम्र का कोई भी व्यक्ति अटल पेंशन योजना (APY) में निवेश करके हर माह 1 हजार रुपए से लेकर 5 हजार रुपए तक की पेंशन पा सकता है। पेंशन 60 साल की उम्र के बाद मिलना शुरू होती है।
  • अटल पेंशन स्कीम खासतौर पर अनओर्गनाइज्ड सेक्टर के इम्प्लॉइज के लिए शुरू की गई है। अभी इसमें 1 हजार, 2 हजार, 3 हजार, 4 हजार या 5 हजार रुपए की फिक्स पेंशन इसमें पा सकते हैं। पेंशन कितनी मिलेगी, यह इस बार पर डिपेंड करता है कि आपका कितना इन्वेस्ट कर रहे हैं।
  • यदि आप 18-20 साल की उम्र से ही इन्वेस्टमेंट शुरू कर देते हैं तो आपको काफी छोटी किस्त हर माह देना होगी। वहीं 60 की उम्र पूरी करने पर पेंशन का पूरा बेनिफिट मिलेगा। हालांकि 18 से 40 साल की उम्र तक का कोई भी व्यक्ति इस स्कीम का फायदा उठा सकता है।
  • इस स्कीम में आप इन्वेस्ट करते हैं टैक्स बचत भी कर सकेंगे। आप इनकम टैक्स एक्ट के सेक्शन 80सीसीडी (1बी) के तहत 50 हजार रुपए तक का डिडक्शन क्लेम कर सकेंगे। वहीं 80सी के तहत 1.5 लाख का डिडक्शन क्लेम किया जा सकेगा। यदि सब्सक्राइबर की डेथ हो जाती है तो पेंशन उसकी पत्नी को दिए जाने का प्रावधान है।

कितना पैसा जमा करने पर, कितनी मिलेगी पेंशन

  • 1000 रुपए की पेंशन चाहते हैं तो 18 साल की उम्र में जुड़ने पर 42 रुपए मासिक किस्त जमा करना होगी। वहीं 40 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो 291 रुपए मासिक किस्त जमा करनी होगी।
  • 2000 रुपए पेंशन चाहते हैं तो 18 साल की उम्र में जुड़ने पर 84 रुपए मासिक किस्त जमा करना होगी। वहीं 40 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो 582 रुपए मासिक किस्त होगी।
  • 3000 रुपए पेंशन चाहते हैं तो 18 साल की उम्र में जुड़ने पर 126 रुपए मासिक किस्त जमा करना होगी। वहीं 40 साल की उम्र में जुड़ते हैं तो यह राशि 873 रुपए होगी।
  • 4000 रुपए पेंशन चाहते हैं तो 18 साल की उम्र में जुड़ने पर 168 रुपए मासिक किस्त जमा करना होगी। वहीं 40 साल की उम्र में जुड़ने पर 1164 रुपए किस्त जमा करना होगी।
  • 5000 रुपए पेंशन चाहते हैं तो 18 साल की उम्र में जुड़ने पर 210 रुपए मासिक किस्त जमा करना होगी। वहीं 40 साल की उम्र में जुड़ने पर 1454 रुपए रुपए हर माह जमा करना होंगे।

क्या हैं इस स्कीम के फायदे

  • योजना सरकार की और से शुरू की गई है, इसलिए इसकी गारंटी है।
  • यह स्कीम योजना धारक की मौत के बाद भी चालू रहती है। डेथ के बाद परिजनों को पेंशन मिलती है।
  • पति-पत्नी दोनों की डेथ हो जाए तो यह राशि नॉमिनी को दे दी जाती है।
  • इसमें खाता खोलने के लिए भारतीय नागरिक होना जरूरी है। उम्र कम से कम 18 साल होना चाहिए।
  • इसके लिए बैंक में सेविंग अकाउंट होना भी जरूरी है।
  • एक व्यक्ति इस स्कीम के तहत केवल एक खाता ही खोल सकता है।
  • इस किसी भी सरकारी बैंक में जाकर खोला जा सकता है।
  • इसमें पेंशन राशि को कभी भी बदला भी जा सकता है। कैंसर, किडनी, दिल जैसी कोई गंभीर बीमारी है तो इसे 60 साल की उम्र से पहले भी बंद किया जा सकता है।
  • आप इसमें मासिक, तिमाही या 6 माह में एक बार की किस्त बंधवा सकते हैं।

पोस्‍ट ऑफिस से मिलेगा 1 करोड़ रुपए गारंटीड, 7500 रुपए से शुरू करें निवेश

अभी भी लोग शेयर बाजार और म्‍युचुअल फंड से दूर ही रहना चाहते हैं, लेकिन चाहते हैं कि उनकी बचत भी तेजी से बढ़े। यह मौका पोस्‍ट ऑफिस देता है। यहां पर कई बचत योजनाएं हैं, जो लोगों को करोड़पति बना सकती हैं। यह बचत योजनाएं लोगों इनकम टैक्‍स बचाने में मदद भी करती हैं।

कौन सी है यह बचत योजना

पब्लिक प्रॉविडेंड फंड (PPF) पोस्‍ट ऑफिस की ऐसी योजना है जो लोगों की थोड़ी थोड़ी बचत को बड़ा बना देती है। इस अकाउंट में जमा होने वाले पैसे पर अच्‍छे ब्‍याज के अलावा दो लाभ और मिलते हैं। एक है इनकम टैक्‍स से बचत और दूसरा लाभ है कि जब यह पैसा मिलता है तो पूरा टैक्‍स फ्री होता है। अगर कोई इस योजना में निवेश करके एक करोड़ रुपए का फंड तैयार कर लेता है तो उसको मैच्‍योरिटी वाले साल में कोई टैक्‍स नहीं देना होगा।

कैसे तैयार होगा एक करोड़ रुपए का फंड

PPF योजना में इस वक्‍त 7.6 फीसदी ब्‍याज मिल रहा है। यह योजना 15 साल की होती है, जिसे बीच में बंद नहीं किया जा सकता है। इस योजना में अधिकतम 12.5 हजार रुपए जमा करके 1.5 लाख रुपए का इनकम टैक्‍स हर साल बचाया जा सकता है। लेकिन अगर इस योजना में हर साल 7500 रुपए ही जमा किया जाए तो 30 साल में 1 करोड़ रुपए का टैक्‍स फ्री फंड तैयार हो जाएगा।

PPF में निवेश की रणनीति एक नजर में

  • 7500 रुपए से शुरू करें निवेश
  • अभी है ब्‍याज दर 7.6 फीसदी
  • 30 साल तक करें हर माह निवेश
  • तैयार हो जाएगा 1 करोड़ रुपए का फंड

कैसे होगा 30 साल तक इन्‍वेस्‍टमेंट

PPF वैसे तो 15 साल की स्‍कीम है, लेकिन इसे 15 साल पूरे होने पर 5-5 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। इस प्रकार इस स्‍कीम में अगर 30 साल तक निवेश करना हो तो इसे तीन बार बढ़ाना होगा। इस प्रकार यह स्‍कीम ज्‍यादातर लोगों के रिटारमेंट के वक्‍त तक 1 करोड़ रुपए का फंड तैयार कर देगी।

अधिकतम निवेश पर कितना तैयार होगा फंड

इस योजना में अधिकतम एक साल में 1.5 लाख या महीने में 12500 रुपए का निवेश किया जा सकता है। अगर इतना निवेश किया जाए तो 15 साल में 42.48 लाख रुपए फंड तैयार हो जाएगा। वहीं 20 साल में 70.66 लाख रुपए का फंड और 1.11 करोड़ रुपए का फंड तैयार हो जाएगा। लेकिन अगर यह निवेश 30 साल तक किया जाए तो 1.71 लाख्‍ा रुपए का फंड तैयार हो जाएगा।

121 रु से LIC की इस स्कीम में करें शुरुआत

LIC की एक खास पॉलिसी है, जिसमें आप रोज के 121 रुपए के हिसाब से अगर जमा करते हैं तो 25 साल में 27 लाख रुपए मिलेगा। इसके अलावा अगर पॉलिसी लेने के बाद आपकी मृत्‍यु हो जाती है तो परिवार को इस पॉलिसी का प्रीमियम नहीं भरना होगा और उसे हर साल 1 लाख रुपए भी दिया जाएगा। इसके अलावा 25 साल पूरा होने पर पॉलिसी के नॉमिनी को 27 लाख रुपए अलग से मिलेगा।

बेटी की शादी की तैयारी के लिए अच्‍छी है ये पॉलिसी

आमतौर पर लोग बेटी की शादी के लिए चिंता करते हैं। उन लोगों के लिए यह पॉलिसी सबसे अच्‍छी है। वैसे LIC ने इस पॉलिसी का नाम भी कन्‍यादान योजना रखा है। इस योजना में 121 रुपए रोज के हिसाब से करीब 3600 रुपए की मंथली प्रीमियम पर यह प्‍लान मिल सकता है। लेकिन अगर कोई इससे कम प्रीमियम या इससे ज्‍यादा प्रीमियम भी देना चाहे तो यह प्‍लान मिल सकता है। यह फायदे भी प्रीमियम भी के हिसाब से घट या बढ़ जाएंगे।

किस उम्र में मिलेगी यह पॉलिसी

इस पॉलिसी लेने के लिए 30 साल की न्‍यूनतम उम्र होनी चाहिए और बेटी की उम्र 1 वर्ष। यह प्‍लान 25 के लिए मिलेगा, लेकिन प्रीमियम 22 साल ही देना होगा। लेकिन आपकी और बेटी की अलग अलग उम्र के हिसाब से भी यह पॉलिसी मिलती है। बेटी की उम्र के हिसाब से यह इस पॉलिसी की समय सीमा घटा जाएगी।

पॉलिसी पर एक नजर

  • 25 साल के लिए पॉलिसी को लें।
  • 22 साल तक प्रीमियम देना होगा।
  • रोज 121 रुपए या महीने में लगभग 3600 रुपए।
  • बीच में अगर बीमाधारक की मृत्‍यु हो जाती है परिवार को नहीं देना होगा कोई प्रीमियम।
  • बेटी को पॉलिसी के बचे साल के दौरान हर साल मिलेगा 1 लाख रुपए।
  • पॉलिसी पूरा होने पर नॉमिनी को मिलेगा 27 लाख रुपए।
  • यह पॉलिसी कम या ज्‍यादा प्रीमियम की भी ली जा सकती है।

सिंगल इनडाउमेंट प्‍लान LIC की इस योजना में केवल एक बार ही प्रीमियम देना होता है। इस योजना को 90 दिन के बच्‍चे से लेकर 65 वर्ष की उम्र के लोग ले सकते हैं। यह प्‍लान 10 साल के लिए मिलता है। इसमें न्‍यूनतम 50 हजार का बीमा लिया जा सकता है, लेकिन अधिकतम की कोई सीमा नहीं है। अगर कोई व्‍यक्ति न्‍यूनतम 50 हजार का बीमा लेता है तो उसे 40 हजार रुपए का प्रीमियम देना होगा। दस साल बाद पॉलिसी पूरी होने पर 75 से 80 हजार रुपए के करीब उसे वापस मिल जाता है। अगर बीच में बीमित व्‍यक्ति की मृत्‍यु होती है तो नॉमिनी को 50 हजार रुपए मिलेगा।

सिंगल मनी बैक पॉलिसी LIC की इस योजना में तीन विकल्‍प के साथ्‍ा निवेश किया जा सकता है। इसमें निवेशक को 9 साल, 12 साल और 15 साल का विकल्‍प मिलता है। इन सभी विकल्‍पों में न्‍यूनतम बीमा लेना जरूरी होता है, लेकिन अधिकतम की कोई सीमा नहीं है।

9 साल के विकल्‍प का विवरण इस विकल्‍प में निवेश करने वाले को न्‍यूनतम 28 हजार रुपए का प्रीमियम देना होगा और उसे 40 हजार रुपए का बीमा मिलता है। इस योजना के तहत तीसरे और छठवें साल में 15-15 फीसदी पैसा मनी बैंक के रूप में वापस मिलता है। यह पैसा करीब 6-6 हजार रुपए होता है। 9वें साल में 16 हजार रुपए और बोनस मिलता है। औसतन यह बीमा लेने वाले को कुल मिलाकर करीब 45 हजार रुपए वापस मिलता है।

12 साल का विकल्‍प इस विकल्‍प में न्‍यूनतम 50 हजार रुपए का बीमा मिलता है, जिसके लिए 40 हजार रुपए प्रीमियम देना होता है। इसमें 3-6-9वें साल में मनी बैंक के रूप में 15 फीसदी पैसा वापस मिलता है। 12वें साल में पूरा पैसा वापस मिल जाता है। इस योजना में लोगों को अंत तक करीब 80 से 85 रुपए वापस मिलता है।

15 साल का विकल्‍प इस योजना में न्‍यूनतम 70 हजार रुपए का बीमा लेना होता है, जिसके लिए 50 हजार रुपए का प्रीमियम देना होता है। इस योजना में 3-6-9 और 12वें वर्ष में हर बार 15-15 फीसदी पैसा वापस मिलता है। अंत में 15वें साल में बचा हुआ पैसा वापस मिल जाता है। निवेशक को कुल मिला कर अंत तक करीब 1.40 लाख रुपए मिल जाता है।

जीवन अक्षय VI योजना एक सिंगल प्रीमियम प्‍लान

LIC की जीवन अक्षय VI योजना एक सिंगल प्रीमियम प्‍लान है। LIC पॉलिसी देते वक्‍त ही बता देती है कि जीवनभर कितना पैसा मिलेगा। यह बाद में घटता या बढ़ता नहीं हैं। पेंशन के रूप में मिलने वाला पैसा मंथली, तीन माह, छ माह और साल में एक बार लिया जा सकता है।

पैसा पाने के विकल्‍प के अनुसार ही इसका भुगतान शुरू होता है। अगर मंथली विकल्‍प चुना है तो निवेश के अगले महीने से ही पैसा मिलना शुरू हो जाएगा और वार्षिक विकल्‍प चुना है तो अगले साल से यह पैसा मिलेगा। इस प्‍लान को लेने के लिए किसी भी तरह के मेडिकल की जरूरत भी नहीं होती है।

कितनी मिल सकती है हर माह पेंशन

LIC के कानपुर क्षेत्र में डेवलपमेंट अफसर अवधेश कुमार राजपूत के अनुसार इस प्‍लान में 7 निवेश के विकल्‍प हैं। इसमें एक लाख रुपए के निवेश पर 6410 रुपए से लेकर 6750 रुपए के बीच हर साल पैसा पाया जा सकता है। अगर आप हर साल इस योजना में 1 लाख रुपए का निवेश करते जाएंगे, तो आज के हिसाब से आपकी आमदनी हर साल औसतन 6.5 हजार रुपए बढ़ती जाएगी।

कितना पैसा किया जा सकता है निवेश

इस योजना में चाहे जो भी विकल्‍प लें, लेकिन एजेंट के माध्‍यम से निवेश की शर्त पर न्‍यूनतम 1 लाख रुपए और ऑनलाइन निवेश पर 1.5 लाख रुपए का निवेश करना होगा। अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। इस प्‍लान को 30 साल से लेकर 85 साल तक का कोई भी व्‍यक्ति या महिला खरीद सकती है। इस प्‍लान में निवेश पर इनकम टैक्‍स की छूट धारा 80 C के तहत ली जा सकती है। इस पॉलिसी को सरेंडर नहीं किया जा सकता है और न ही इस पॉलिसी के आधार पर आप लोन ले सकते हैं।

ये हैं 7 विकल्‍प

विकल्प 1: जीवन के लिए एन्युटी

इस विकल्प के अंतर्गत पालिसी धारक के जीवित रहने तक एन्युटी(वार्षिकी) का भुगतान किया जाएगा। बीमाधारक के मृत्यु होने पर एन्युटी का भुगतान बंद हो जाएगा।

विकल्प 2 : कुछ समय की गारंटी के लिए एन्युटी

इस विकल्प के अंतर्गत पालिसीधारक (वो जीवित है या नहीं) को निश्चित रूप से उसके तरफ से तय की गई अवधि के अनुसार 5, 10,15, 20 साल के लिए एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। इस अवधि के बाद जब तक पालिसीधारक जीवित है, उसे पेंशन का भुगतान किया जाएगा।

विकल्प 3 :

इस विकल्प के अंतर्गत बीमाधारक के जीवित रहने तक उसे एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। पालिसीधारक की मृत्यु के बाद एन्‍युटी का भुगतान बंद हो जाएगा। इसके बाद खरीद की कीमत नॉमिनी को मृत्यु लाभ के रूप में मिलेगी।

विकल्प 4 : 

इस विकल्प के अंतर्गत बीमाधारक के जीवित रहने तक उसे एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। प्रत्येक वर्ष में एन्युटी को 3 फीसदी की साधारण दर से बढाया जाएगा।

विकल्प 5 :

इस विकल्प के अंतर्गत बीमाधारक के जीवित रहने तक उसे एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। बीमाधारक की मृत्यु के बाद उसके जीवनसाथी को 50 फीसदी पेंशन का भुगतान किया जाएगा। ये भुगतान जीवनसाथी के मृत्यु के बाद बंद हो जाएगा।

विकल्प 6 :

इस विकल्प के अंतर्गत बीमाधारक के जीवित रहने तक उसे एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। बीमाधारक की मृत्यु के बाद उसके जीवनसाथी को 100 फीसदी पेंशन का भुगतान किया जाएगा। ये भुगतान जीवनसाथी के मृत्यु के बाद बंद हो जाएगा।

विकल्प 7 : 

इस विकल्प के अंतर्गत बीमाधारक के जीवित रहने तक उसे एन्युटी का भुगतान किया जाएगा। बीमाधारक की मृत्यु के बाद उसके जीवनसाथी को 100 फीसदी पेंशन का भुगतान किया जाएगा। ये भुगतान जीवनसाथी की मृत्यु के बाद बंद हो जाएगा और नॉमिनी को खरीद रकम का भुगतान किया जाएगा।

अंबानी के साथ जुड़कर लाखों कमाने का मौका

अगर आप बिजनेस करने की सोच रहे हैं और ज्यादा पैसे भी इन्वेंस्ट नहीं करना चाहते हैं तो आपके लिए यह खबर काम की है। रिलायंस ग्रुप के चेयरमैन अनिल अंबानी के जुड़कर कमाई करने का मौका है। इसके लिए आपका लाखों नहीं बल्कि सिर्फ 35 हजार रुपए निवेश करने हैं। आइए जानते हैं कैसे अंबानी से जुड़कर कर सकते हैं लाखों में कमाई…

रिलायंस सिक्युरिटीज के साथ मिलाएं हाथ

बेहतर रिटर्न की वजह से शेयर बाजार औऱ म्युचुअल फंड्स ने निवेशकों का ध्यान अपनी ओर खींचा है। शेयर बाजार में बढ़ते रुझान को देखते हुए अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस सिक्युरिटीज को निवेशकों तक अपनी पहुंच बनाने के लिए पार्टनर्स की जरूरत है। इसके लिए वो सिर्फ मामूली फीस चार्ज कर रहे हैं। ऐसे में आप भी उनके साथ जुड़कर महीने में लाखों रुपए कमा सकते हैं।

35 हजार निवेश कर बने पार्टनर कंपनी के दिल्ली रिजन के रिजनल चैनेल मैनेजर नीरज कुमार कवि ने बताया कि रिलायंस सिक्युरिटीज का पार्टनर बनने के लिए ज्यादा फीस नहीं ली जा रही है। कोई भी व्यक्ति 35 हजार रुपए के निवेश में हमसे जुड़ सकता है। इसमें से 25 हजार रुपए रिफंडेबल डिपॉजिट के तौर पर लिए जा रहे हैं।

इसके अलावा वन टाइम नॉन-रिफंडेबल के रूप में 7140 रुपए पेय करने होंगे। वहीं 1500 रुपए प्रोसेसिंग फी लगेगा। इस तरह कुल मिलाकर करीब 35 हजार रुपए का खर्च बैठता है। इसमें ऑफिस सेटअप का खर्चा शामिल नहीं है। इसके अलावा आवेदक का आधार कार्ड, पैन कार्ड, 4 फोटो, 100 रुपए वाला 5 स्टाम्प पेपर एग्रीमेंट के लिए जरूरी होंगे। आगे भी पढ़ें,

पार्टनर कोड जेनरेट होने के बाद शुरू करें काम

उन्होंने बताया कि एग्रीमेंट बनने के बाद एक पार्टनर कोड जेनरेट होता है। पार्टनर कोड जेनरेट होने के बाद आपका डिजिटल अकाउंट ओपन हो जाएगा। टर्मिनल आईडी मिलने के बाद आप काम शुरू कर सकते हैं।

कितनी होगी कमाई

रिलायंस सिक्युरिटीज के साथ ऑनलाइन और ऑफलाइन मॉड्यूल के जरिए जुड़ सकते हैं। ऑफलाइन मोड में आपको एक ऑफिस सेटअप करना होगा। लेकिन यहां कमिशन भी ज्यादा मिलेगा। ब्रोकिंग पर 50 से 70 फीसदी शेयरिंग का मॉडल है।

वहीं ऑनलाइन बिजनेस पर 20 से 30 फीसदी शेयरिंग हैं। कमाई आपकी कार्यक्षमता पर निर्भर करेगी। हालांकि आप महीने में 50 हजार से 1 लाख रुपए तक की कमाई कर सकते हैं। अधिक जानकारी के लिए आप कंपनी की वेबसाइट पर जाकर संपर्क कर सकते हैं।

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में 5500 रु मंथली इनकम की है गारंटी

अगर आप रेग्युलर मंथली इनकम या एक्स्ट्रा इनकम का कोई उपाय खोज रहे हैं पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम आपकी मदद कर सकती है। बस इसके लिए आपको एक बार इस स्कीम के तहत पोस्ट ऑफिस में खाता खुलवाना पड़ेगा।

इस स्कीम के तहत 5500 रुपए मंथली तक इनकम की गारंटी है। वहीं, आपके द्वारा खाते में जमा हर एक पैसे पर सुरक्षा की भी गारंटी है। खास बात है कि इस अकाउंट को आप मिनिमम 1500 रुपए से भी खुलवा सकते हैं।

यह अकाउंट उनके लिए भी बेहतर है, जिनके पास कुछ पैसे एकमुश्‍त पड़े हों। उन पैसों को किसी रिस्की निवेश या बैंक के बचते खाते में डालने की बजाए, पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में जमा करा दें तो यह आपके लिए हर महीने इनकम देने की गारंटी बन जाएगी।

हर महीने आपको कमाई कराती भी रहेगी और स्कीम का समय पूरा होने के बाद पोस्ट ऑफिस के खाते में जमा पूरे पैसे भी आपको मिल जाएंगे। खास बात यह है कि इस स्कीम को हर 5 साल बाद उसी खाते के जरिए आगे भी जबतक चाहें बढ़ा सकते हैं। यानी यह सालों तक आपके लिए इनकम की गारंटी साबित होगी।

क्या है ये स्कीम

पोस्ट ऑफिस की मंथली इन्वेस्टमेंट स्कीम यानी पीओएमआईएस आपको मंथली इनकम करने का मौका देती है। यह एक ऐसी सरकारी योजना है जिसमें एक बार पैसा निवेश करने पर हर महीने तय आय होती रहती है। एक्सपर्ट्स इस योजना को निवेश के सबसे अच्छे विकल्पों में से एक मानते हैं, क्योंकि इसमें 4 बड़े फायदे हैं।

  •  इसे कोई भी खोल सकता है और आपकी जमा-पूंजी हमेशा बरकरार रहती है।
  • बैंक एफडी या डेट इंस्ट्रूमेंट की तुलना में आपको बेहतर रिटर्न मिलता है।
  • हर महीने एक निश्चित आय आपको होती रहती है।
  • स्कीम पूरी होने पर आपकी पूरी जमा पूंजी मिल जाती है जिसे आप दोबारा इस योजना में निवेश कर मंथली आय का साधन बनाए रख सकते हैं।

कितना कर सकते हैं निवेश –

अगर आपका अकाउंट सिंगल है तो आप 4.5 लाख रुपए तक अधिकतम जमा कर सकते हैं। कम से कम 1500 रुपए की राशि जमा की जा सकती है। वहीं अगर आपका अकाउंट ज्वॉइंट है तो इसमें अधिकतम 9 लाख रुपए जमा किए जा सकते हैं। एक शख्‍स पोस्ट ऑफिस द्वारा तय लिमिट के अनुसार अकाउंट खोल सकता है। मेच्योरिटी पीरियड 5 साल है। 5 साल बाद अपनी पूंजी को फिर योजना में निवेश कर सकते हैं।

ऐसे होगी मंथली इनकम

  • मंथली इन्वेस्टमेंट स्कीम के तहत 7.3 फीसदी सालाना ब्याज मिलता है।
  • इस सालाना ब्याज को 12 महीनों में बांट दिया जाता है जो आपको मंथली बेसिस पर मिलता रहता है।
  • अगर आपने 9 लाख रुपए जमा किए हैं तो आपका सालाना ब्याज करीब 65700 रुपए होगा। इस लिहाज से आपको हर महीने करीब 5500 रुपए की आय होगी।
  • 5500 रुपए आपको हर महीने मिलेंगे, वहीं आपका 9 लाख रुपए मेच्योरिटी पीरियड के बाद कुछ और बोनस जोड़कर वापस मिल जाएगा। अगर आप मंथली पैसा न निकालें अगर आप मंथली पैसा न निकालें तो वह आपके पोस्ट ऑफिस सेविंग अकाउंट में रहेगी और मूलधन के साथ इस धन को भी जोड़कर आपको आगे ब्याज मिलेगा।

मेच्योरिटी के पहले पैसा निकालें तो……

अगर किसी जरूरत पर आपको मेच्योरिटी से पहले ही पूरा पैसा निकालना पड़ गया तो यह सुविधा आपको अकाउंट के 1 साल पूरा होने पर मिल जाती है। अकाउंट खोलने की तारीख से 1 साल से 3 साल तक पुराने अकाउंट होने पर, उसमें जमा रकम में से 2% काटकर बाकी रकम आपको वापस मिलती है। साल से ज्यादा पुराना अकाउंट होने पर, उसमें जमा रकम में से 1 फीसदी काटकर बाकी रकम आपको वापस मिलती है।

कौन खोल सकता है अकाउंट –

पोस्ट ऑफिस की मंथली इन्वेस्टमेंट स्कीम कोई भी खोल सकता है चाहे वह एडल्ट हो या माइनर। – आप अपने बच्चे के नाम से भी अकाउंट खोल सकते हैं। अगर बच्चा 10 साल से कम उम्र का है तो उसके नाम पर उसके माता-पिता या कानूनी अभिभावक की ओर से अकाउंट खोला जा सकता है। बच्चे की उम्र 10 साल होने पर वह खुद भी अकाउंट के संचालन का अधिकार पा सकता है।

कैसे खुलेगा अकाउंट

आप अपनी सुविधा के अनुसार किसी भी पोस्ट ऑफिस में जाकर अकाउंट खुलवा सकते हैं। इसके लिए आपको आधार कार्ड, वोटर आईडी, पैन कार्ड, राशन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस में से किसी एक की फोटो कॉपी जमा करनी होगी। इसके अलावा एड्रेस प्रूफ जमा करना होगा, जिसमें आपका पहचान पत्र भी काम आ सकता है। इसके अलावा आपको 2 पासपोर्ट साइज के फोटोग्राफ जमा करने होंगे।

टैक्स छूट का लाभ नहीं

इसमें जमा की जाने वाली रकम पर और उससे आपको मिलने वाली ब्याज पर किसी तरह की टैक्स छूट का लाभ नहीं मिलता है। हालांकि इससे आपको होने वाली कमाई पर डाकघर किसी तरह का TDS नहीं काटता, लेकिन जो ब्याज आपको मंथली मिलती है, उसके एनुअल टोटल पर आपकी टैक्सेबल इनकम में शामिल किया जाता है।

आपके ATM कार्ड में जुड़ गया यह नया फीचर

भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) ने अपने ग्राहकों को फर्जीवाड़े से बचाने के लिए एक नई सेवा शुरू की है। उपभोक्ता के पास स्मार्ट फोन हो तो वह अपने एटीएम कार्ड को ऑन या ऑफ कर सकेगा।

इसके लिए स्मार्ट फोन पर एसबीआई क्विक एप बैंक में पंजीकृत मोबाइल नंबर से ही डाउनलोड करना होगा। डाउनलोड करने के बाद इसमें पंजीकरण करना होगा। एप में उस नंबर को डालना होगा जिसमें ग्राहक नेट बैंकिंग की सुविधा का प्रयोग कर रहा है।

क्विक एप के जरिये एटीएम कार्ड को कंट्रोल किया जा सकेगा। एप आपको एटीएम कार्ड ब्लॉक करने, ऑन या ऑफ करने और एटीएम पिन जेनरेट करने की सुविधा देता है। एप में अंतरराष्ट्रीय या राष्ट्रीय स्तर पर एटीएम को संचालित करने का विकल्प भी दिया गया है। अगर आप चाहते हैं कि एटीएम कार्ड सिर्फ पास (प्वाइंट आफ सेल) मशीन में काम करे और एटीएम में न करे तो भी आप विकल्प पर जाकर चयन कर सकते हैं।

एसबीआई के क्षेत्रीय कार्यालय के मुख्य प्रबंधक आरके सिंह ने बताया कि अभी तक सिर्फ मिस्ड कॉल और एसएमएस बैंकिंग एप था। खाते में शेष राशि जानने के साथ ही पिछले दस लेनदेन का विवरण जान सकते थे साथ ही चेकबुक के लिए अनुरोध भी कर सकते थे। इस एप को अपडेट करते हुए एटीएम के लिए विशेष फीचर दिया गया है।

क्विक एप में कार और गृह ऋण, प्रधानमंत्री सोशल सिक्योरिटी स्कीम, एटीएम कार्ड ब्लॉकिंग, एटीएम कार्ड स्विच ऑन-ऑफ, पिन जेनरेटेड, बैलेंस इंक्वायरी, मिनी स्टेटमेंट, चेकबुक के लिए आवेदन, छह माह के ई-स्टेटमेंट आदि की सुविधा भी उपलब्ध है।

अगर आपका एटीएम कार्ड खो गया है और आप उसे ब्लॉक करना चाहते हैं तो आपको एप के एटीएम कम डेबिट कार्ड फीचर में जाकर एटीएम कार्ड ब्लॉकिंग को चुनना होगा। उसके बाद अपने कार्ड के आखिरी चार अंक दर्ज करना होगा और एटीएम कार्ड ब्लॉक हो जाएगा।

SBI में खुलवा लें बस ये एक अकाउंट,

कुछ ऐसा ही ऑफर भारतीय स्‍टेट बैंक (एसबीआई) द्वारा दिया जा रहा है। एसबीआई आपको फ्री में पांच लाख रुपए का पर्सनल एक्‍सीडेंट इंश्‍योरेंस कवर दे रहा है।

बस इसके लिए आपको बैंक में खाता खुलवाना होगा। यह खाता भी आम खाता नहीं है, बल्कि खास है, क्‍योंकि इसमें एक सीमित समय के लिए मिनिमम बैंलेंस की जरूरत नहीं है और ना किसी खाता खुलवाने का झंझट। यानी कि, एसबीआई द्वारा जीरो बैलेंस पर खाता खोला जा रहा है, वो भी ऑनलाइन।

 

क्‍या है खासियत :

इस खाते की खासियत यह है कि यह खाता जीरो बैलेंस पर खुल जाएगा। और तो और खाता खुलवाने के लिए आपको बैंक जाने की जरूरत नहीं है। आपको एसबीआई की मोबाइल ऐप yonosbi.com डाउनलोड करनी होगी।

इसी ऐप में आप खाते के लिए ऑनलाइन अप्‍लाई कर सकते हैं। बैंक खाता खुलने के साथ ही आपका पर्सनल एक्‍सीडेंट इंश्‍योरेंस हो जाएगा, जो फ्री में किया जाएगा और यह इंश्‍योरेंस 5 लाख रुपए का होगा।

45 लाख मिलेगी पेंशन, इस सरकारी स्‍कीम में 5,000 मंथली करना होगा निवेश

आप प्राइवेट नौकरी करते हैं या अपना बिजनेस। आप भी हर अपने लिए हर माह एक निश्चित पेंशन सुनिश्चित कर सकते हैं। अगर आप की उम्र 30 साल है और आप 60 साल की उम्र में हर माह 45 लाख रुपए पेंशन चाहते हैं तो आप को सरकारी स्‍क्‍ीम एनपीएस यानी न्‍यू पेंशन सिस्‍टम में हर माह 5,000 रुपए निवेश करना होगा। अगर आप 30 साल तक ऐसा करते हैं तो आपको हर माह 45 लाख रुपए पेंशन के अलावा एकमुशत 46 लाख रुपया भी मिलेगा।

45,000 रुपए प्रति माह पेंशन मिलेगी

आप एक उदाहरण के जरिए आप समझ सकते हैं कि आप अगर 30 साल के हैं और हर माह 5,000 रुपए एनपीएस में जमा करते हैं आपको कितनी पेंशन मिलेगी और मैच्‍योरिटी पर आपको कितना पैसा मिलेगा।

  • उम्र  =  30 साल
  • निवेश की कुल अवधि =  30 साल
  • मंथली कंट्रीब्‍यूशन = 5,000 रुपए
  • निवेश पर अनुमानित रिटर्न  = 10 फीसदी
  • कुल पेंशन फंड = 1,13,96,627 रु
  • एन्‍युटी प्‍लान खरीदने के लिए रकम = 68,37,777 रु
  • अनुमानित एन्‍युटी रेट  =  8 फीसदी
  • मंथली पेंशन  =  45,557 रुपए
  • मैच्‍योरिटी पर निकाल सकते हैं  = 45,58,650 रु

नोट: निवेश पर रिटर्न अनुमानित है।

मैच्‍योरिटी पर मिलेगा 45 लाख रुपए एनपीएस के तहत आपको 60 साल की उम्र होने पर यानी मैच्‍योरिटी पर आपको 45 लाख रुपए मिलेंगे। इसके अलावा आपको हर माह 45,557 रुपए पेंशन मिलेगी।

ज्‍यादा पेंशन के लिए बढ़ाएं मंथली कंट्रीब्‍यूशन अगर आपको लगता है कि आज के 30 साल बाद जब आप रिटायर होंगे उस समय आपको मंथली खर्च के लिए ज्‍यादा पैसे की जरूरत होगी तो आप अपनी जरूरत के मुताबिक मंथली कंट्रीब्‍यूशन बढ़ सकते हैं। इस तरह से आपकी मंथली पेंशन और मैच्‍योरिटी पर मिलने वाला अमाउंट बढ़ जाएगा।

LIC की ये 4 पॉलिसी देंगी डबल बेनिफिट, सिर्फ एक बार लगाना होगा पैसा

LIC देश की सबसे बड़ी जीवन बीमा ढेर सारी योजनाएं चलाती है, लेकिन इसके कुछ प्‍लान ऐसे में जिनमें डबल फायदा होता है। एक तो इनमें निवेश पर इनकम टैक्‍स बचता है दूसरा फायदा है कि इनमें एक बार ही निवेश करना होता है।

इसके चलते LIC के ये प्‍लान काफी पापुलर हो रहे हैं। LIC के कानपुर क्षेत्र में डेवलपमेंट अफसर अवधेश कुमार राजपूत के अनुसार 31 मार्च के पहले लोग इन सिंगल प्रीमियम प्‍लान में निवेश करके पूरा फायदा उठा सकते हैं।

सिंगल इनडाउमेंट प्‍लान

LIC की इस योजना में केवल एक बार ही प्रीमियम देना होता है। इस योजना को 90 दिन के बच्‍चे से लेकर 65 वर्ष की उम्र के लोग ले सकते हैं। यह प्‍लान 10 साल के लिए मिलता है। इसमें न्‍यूनतम 50 हजार का बीमा लिया जा सकता है, लेकिन अधिकतम की कोई सीमा नहीं है।

अगर कोई व्‍यक्ति न्‍यूनतम 50 हजार का बीमा लेता है तो उसे 40 हजार रुपए का प्रीमियम देना होगा। दस साल बाद पॉलिसी पूरी होने पर 75 से 80 हजार रुपए के करीब उसे वापस मिल जाता है। अगर बीच में बीमित व्‍यक्ति की मृत्‍यु होती है तो नॉमिनी को 50 हजार रुपए मिलेगा।

जीवन अक्षय पेंशन प्‍लान

इस प्‍लान के तहत लोग जीवन भर पेंशन पा सकते हैं और बाद में नॉमिनी को प्रीमियम के रूप में जमा पैसा वापस मिल जाएगा। इस स्‍कीम में 30 साल से लेकर 85 साल के बीच के व्‍यक्ति शामिल हो सकते हैं। इस योजना में न्‍यूनतम 1 लाख का निवेश करना जरूरी है। निवेश के एक माह बाद ही इस योजना के तहत हर साल 6500 रुपए की पेंशन शुरू हो जाएगी।

यह पेंशन व्‍यक्ति मासिक, तिमाही, छमाही या वार्षिक के रूप में ले सकता है। इस योजना में अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। यह पेंशन व्‍यक्ति को जीवन भर मिलेगी और बाद में उसके नॉमिनी को जितना भी पैसा प्रीमियम के रूप में दिया है वह वापस हो जाएगा।

सिंगल मनी बैक पॉलिसी

LIC की इस योजना में तीन विकल्‍प के साथ्‍ा निवेश किया जा सकता है। इसमें निवेशक को 9 साल, 12 साल और 15 साल का विकल्‍प मिलता है। इन सभी विकल्‍पों में न्‍यूनतम बीमा लेना जरूरी होता है, लेकिन अधिकतम की कोई सीमा नहीं है।

9 साल के विकल्‍प का विवरण

इस विकल्‍प में निवेश करने वाले को न्‍यूनतम 28 हजार रुपए का प्रीमियम देना होगा और उसे 40 हजार रुपए का बीमा मिलता है। इस योजना के तहत तीसरे और छठवें साल में 15-15 फीसदी पैसा मनी बैंक के रूप में वापस मिलता है। यह पैसा करीब 6-6 हजार रुपए होता है। 9वें साल में 16 हजार रुपए और बोनस मिलता है। औसतन यह बीमा लेने वाले को कुल मिलाकर करीब 45 हजार रुपए वापस मिलता है।

12 साल का विकल्‍प

इस विकल्‍प में न्‍यूनतम 50 हजार रुपए का बीमा मिलता है, जिसके लिए 40 हजार रुपए प्रीमियम देना होता है। इसमें 3-6-9वें साल में मनी बैंक के रूप में 15 फीसदी पैसा वापस मिलता है। 12वें साल में पूरा पैसा वापस मिल जाता है। इस योजना में लोगों को अंत तक करीब 80 से 85 रुपए वापस मिलता है।

15 साल का विकल्‍प

इस योजना में न्‍यूनतम 70 हजार रुपए का बीमा लेना होता है, जिसके लिए 50 हजार रुपए का प्रीमियम देना होता है। इस योजना में 3-6-9 और 12वें वर्ष में हर बार 15-15 फीसदी पैसा वापस मिलता है। अंत में 15वें साल में बचा हुआ पैसा वापस मिल जाता है। निवेशक को कुल मिला कर अंत तक करीब 1.40 लाख रुपए मिल जाता है।

जीवन उत्‍कर्ष सिंगल प्रीमियम प्‍लान

LIC ने जीवन उत्‍कर्ष नाम से सिंगल प्रीमियम प्‍लान जारी किया है। इस प्‍लान की सबसे बड़ी खासियत इसका 12 साल में मैच्‍योर हो जाना है। 12 साल के बाद पूर्ण लाभ के साथ पैसा वापस मिल जाएगा। इस प्‍लान को न्‍यूनतम 6 साल की उम्र के बच्‍चे के नाम के लिए भी जा सकता है और अधिकतम 47 साल तक का व्‍यक्ति भी इस प्‍लान को ले सकता है।

कितने का मिलेगा न्‍यूनतम सम एश्‍योर्ड

इसमें पैसा लगाने वालों को न्‍यूनतम 75 हजार रुपए का सम एश्‍योर्ड मिलेगा। हालांकि अधिकतम सम एश्‍योर्ड लेने की कोई सीमा नहीं है। लोग अपनी क्षमता के अनुसार इसका चयन कर सकते हैं। यही नहीं अगर किसी को लगता है कि उसे बाद में पैसे की जरूरत है तो सरेंडर वैल्‍यू की गणना का तरीका काफी अासान है।

अगर कोई इसको एक साल के अंदर सरेंडर करता है तो उसे 70 फीसदी वैल्‍यू वापस मिल जाएगी। लेकिन अगर कोई एक साल के बाद इसे सरेंडर करता है तो उसे 90 फीसदी वैल्‍यू वापस मिलेगी।

लोन भी ले सकते हैं इसके बदले

यही नहीं अगर किसी को लगता है कि उसे पैसों की जरूरत है और वह अपना बीमा भी वापस नहीं करना चाहता है तो उसके लिए भी LIC ने व्‍यवस्‍था की है। LIC इस बीमा पॉलिसी के बदले लोन भी देगी। हालांकि यह लोन शुरू के तीन महीने नहीं मिलेगा। इसके बाद यह पूरी पॉलिसी टर्म में कभी भी लिया जा सकता है।

फ्री लुक पीरियड का लाभ मिलेगा

अगर किसी को लगता है कि उसने गलत पॉलिसी चुन ली है तो वह इसे 15 दिन के फ्री लुक पीरियड के दौरान वापस कर सकता है। यह 15 दिन पॉलिसी मिलने के बाद से गिने जाते हैं। हालांकि अगर कोई पॉलिसी वापस करना चाहता है तो उसे उचित कारण बताना पड़ता है।

फायदा एक नजर में

अगर कोई स्‍वथ्‍य व्‍यक्ति 25 साल की उम्र में इस प्‍लान को लेता है और न्‍यूनतम 75 हजार रुपए का बेसिक सम एश्‍योर्ड लेता है तो उसे 41242 रुपए प्रीमियम देना होगा। यह प्‍लान उसे 12 साल के लिए मिलेगा। इस प्‍लान में उसे मृत्‍यु की दशा में उसके घरवालों को 412420 रुपए मिलेंगे। यह लाभ पूरे पॉलिसी टर्म के दौरान मिलेगा। अगर किसी भी प्रकार की दुर्घटना नहीं होती है तो 79875 रुपए वापस मिलेगा।

31 मार्च का न करें इंतजार

कई बार लोग समय से निवेश का फैसला नहीं ले पाते हैं और वित्‍तीय साल के अंत में जाकर निवेश करते हैं। इस हड़बड़ी में कई बार उनका फार्म इनकंप्‍लीट रह जाता है या कई बार विभिन्‍न कारणों से चेक बाउंस हो जाता है। ऐसे में न तो समय से निवेश हो पाता है और न ही इनकम टैक्‍स की रिबेट मिल पाती है। ऐसे में जरूरी है कि निवेश का फैसला जल्‍दी कर लेना चाहिए, जिससे इस तरह की दिक्‍कतें न आएं।

पोस्ट ऑफ‍िस हर महीने देगा पैसे, आपको करना होगा यह काम

अगर आप चाहते हैं कि आपकी बचत भी हो जाए और आपको हर महीने इस बचत से कमाई भी हो, तो इसके लिए आप पोस्ट ऑफ‍िस का रुख कर सकते हैं.पोस्ट ऑफ‍िस ने एक ऐसी स्कीम शुरू की है, जिसमें निवेश पर आपको हर महीने आय होगी.

यही नहीं, यह स्कीम आपकी एक बड़ी रकम बचाने में भी मदद करेगी.  हम बात कर रहे हैं पोस्ट ऑफ‍िस की मंथली इन्वेस्टमेंट स्कीम (MIS) की. इस स्कीम में अगर आप सिर्फ एक बार भी पैसा निवेश करते हैं, तो भी आपको हर महीने आय होती रहेगी.

कैसे खोलें?

पोस्ट ऑफ‍िस की इस स्कीम में कोई भी खाता खुलवा सकता है. इसमें आप कम से कम 1500 रुपये का निवेश कर सकते हैं. वहीं, अध‍िकतम निवेश की सीमा 4.5 लाख रुपये है.अगर आपका ज्वाइंट अकाउंट है, तो आप अध‍िकतम 9 लाख रुपये तक इसमें डिपोजिट कर सकते हैं. एक व्यक्ति एक से ज्यादा खाते भी खुलवा सकता है.

इस खाते को आप नगद और चेक जमा कर के ही खुलवा सकते हैं. यह खाता 5 साल के लिए होता है. इस पर आपको 7.3 फीसदी सालाना ब्याज मिलता है. यही ब्याज आपको हर महीने कमाई करवाता है. इसमें आपको बैंक एफडी से काफी बेहतर रिटर्न मिलता है.

ऐसे होगी कमाई

सालाना मिलने वाले इस ब्याज को आप हर महीने भी अपने अकाउंट में ले सकते हैं. यह हर महीने आपके बैंक खाते में ईसीएस के जरिये ट्रांसफर किया जाएगा.

जानें कितना आएगा हर महीने 

मान लीजिए आपका इस स्कीम में ज्वाइंट अकाउंट है. इसमें आप ने अध‍िकतम सीमा तक यानी 9 लाख रुपये निवेश किए हैं. ऐसे में आपको इस रकम पर सालाना 65700 रुपये का ब्याज मिलेगा. मासिक स्तर पर लेने के बाद आपको हर महीने 5500 रुपये की आय होगी.

यह अकाउंट खोलने के लिए आप किसी भी पोस्ट ऑफ‍िस में पहुंच सकते हैं. इसके लिए आप पहचान पत्र के तौर पर आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड, पैन कार्ड समेत अन्य कोई दस्तावेज दे सकते हैं. इसके अलावा आपको एड्रेस प्रूफ के तौर पर भी दस्तावेज जमा करना होगा. साथ ही 2 पासपोर्ट फोटो भी आपको इसके साथ देने होंगे.

मैच्योरिटी से पहले भी निकाल सकते हैं पैसे

आप अकाउंट का 1 साल पूरा होने के बाद इसमें रखे पैसे मैच्योरिटी से पहले ही निकाल सकते हैं. हालांकि इसका नुकसान सिर्फ इतना है कि अकाउंट में जमा रकम में से 2 फीसदी काट लिया जाएगा. यह शर्त 1 से 3 साल तक पुराना अकाउंट होने पर लागू है.

अगर यही काम आप 3 साल के बाद करते हैं, तो पोस्ट ऑफ‍िस इसमें जमा रकम में से 1 फीसदी काट लेगा और बाकी पैसे आपको दे देगा. इस स्कीम की अध‍िक जानकारी के लिए आप पोस्ट ऑफ‍िस की वेबसाइट पर पहुंच सकते हैं.