हर रोज बचाइए सिर्फ 75 रुपए, बेटी के कन्यादान के लिए मिलेंगे 11 लाख

सिर्फ 75 रुपए रोज बचाकर आप अपनी बेटी को सुखी जीवन दे सकते हैं। 75 रुपए रोज बचाकर बेटी की शादी के लिए 11 लाख रुपए आपको मिल जाएंगे जिससे बेटी भी खुश रहेगी और आप भी।

यह प्लान एलआईसी का है जिसके तहत आपको 18 साल तक 75 रुपए रोज जमा करने होंगे। तीन साल के लिए लॉक-इन पीरियड होगा। यानी कि बच्ची के जन्म के तुरंत बाद यह प्लान शुरू कर देते हैं तो बेटी के 21 साल होने पर आपके हाथ में 11 लाख रुपए होंगे। एलआईसी के इस प्लान के तहत आपको कई कवर भी मिलेंगे।

क्या है प्लान

एलआईसी के इस प्लान का नाम है प्लान 833, जीवन लक्ष्य। इस प्लान की खासियत है कि बच्ची के पिता के नहीं रहने पर या असमायिक मृत्यु होने पर एलआईसी को किस्त नहीं देना होगा, लेकिन बच्ची को निर्धारित अवधि के बाद पैसे मिल जाएंगे।

पिता के नॉर्मल निधन होने पर तत्काल रूप से 5 लाख मिलने का प्रावधान है। दुर्घटना होने पर 10 लाख रुपए तक मिलेंगे औऱ विवाह के लिए 11.50 लाख रुपए। एलआईसी के मुताबिक कन्यादान पॉलिसी का सबसे बड़ा फायदा है कि इससे आपके इंवेस्टमेंट पर बेहतर रिटर्न मिलता है।

 

कितनी राशि देने पर क्या-क्या मिलेंगे

इस पॉलिसी के तहत 1000 रुपए प्रतिमाह देने पर बच्ची के पिता के रिस्क कवर होने के साथ उसकी मां की दुर्घटना होने पर 2 लाख रुपए मिलेंगे। 21 साल के लिए बच्ची को 4.25 लाख रुपए मिल जाएंगे।

2000 रुपए प्रतिमाह जमा करने पर बच्ची की मां का दुर्घटना कवर 4 लाख का रहेगा, वहीं बच्ची को 8.5 लाख रुपए मिल जाएंगे। 3000 रुपए प्रतिमाह जमा करने पर बच्ची की मां का दुर्घटना कवर 6 लाख रुपए का होगा और बच्ची को 21 साल के बाद 12.75 लाख रुपए मिलेंगे।

मां की दुर्घटना पर मिलेगा 20 लाख

अगर आप 10,000 रुपए प्रतिमाह इस प्लान के तहत जमा करते हैं तो बच्ची की मां का दुर्घटना कवर 20 लाख को होगा और बच्ची को 21 साल के बाद 52.50 लाख रुपए मिलेंगे। इस प्लान के संबंध में विस्तृत जानकारी के लिए आप एलआईसी की नजदीकी ब्रांच से संपर्क कर सकते हैं।

मोदी सरकार इस फैसले से, आपकी बेटी को होगा 4 लाख का फायदा

सरकार ने गुरुवार को ऐसा फैसला लिया, जिसका फायदा सीधे आपकी बेटी को मिलेगा। सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की फेवरेट स्कीम के लिए ब्याज दर में 0.40 फीसदी का इजाफा कर दिया है। इस स्कीम में अब 21 साल की उम्र होने पर बेटी को 4 लाख रुपए का ज्यादा फायदा मिलेगा।

पहले जहां इस स्कीम में पैसा लगाकर अधिकतम 65.84 लाख रुपए हासिल किए जा सकते थे, वहीं अब ब्याज दर बढ़ने से बाद इसमें लगभग 69.70 लाख रुपए तक मिल सकते हैं। एक व्‍यक्ति अपनी बेटी के नाम यह खाता खोल सकता है। इस वक्‍त जितनी भी फिक्‍स इनकम की स्‍कीम्‍स हैं, उनमें इस स्‍कीम में सबसे ज्‍यादा ब्‍याज भी दिया जा रहा है।

नहीं है लोगों को योजना की पूरी जानकारी

इस स्कीम का नाम है सुकन्या समृद्धि स्कीम, जिसे मोदी सरकार ने ही शुरू किया था। केंद्र सरकार की योजना होने के चलते निवेश करने वालों के पैसों की पूरी सुरक्षा भी रहती है। इसे बैंक से लेकर पोस्‍ट ऑफिस कहीं भी खोला जा सकता है।

इसके अलावा इस खाते में निवेश किए गए पैसों पर इनकम टैक्‍स की धारा 80C के तहत छूट भी ली जा सकती है। अगर योजना को ठीक से समझ लिया जाए अच्‍छा फायदा उठाया जा सकता है।

सुकन्या समृद्धि योजना में मिल रहा है 8.5 फीसदी ब्‍याज

सुकन्या समृद्धि योजना में इस वक्‍त सबसे अच्‍छा ब्‍याज दिया जा रहा है। इस स्कीम में पहले जहां 8.1 फीसदी ब्याज मिल रहा था, जिसे अब बढ़ाकर 8.5 फीसदी कर दिया गया है।

इसके अलावा इस योजना में ब्‍याज की गणना ईयरली कंपाउंडेड बेसिस पर की जाती है, जिससे रियल रिटर्न थोड़ा ज्‍यादा हो जाता है।

3 लड़कियों के नाम भी खुल सकता है अकाउंट

सरकार की तरफ से कहा गया है कि कोई भी व्‍यक्ति केवल दो लड़कियाें के नाम ही यह खाता खोल सकता है। हालांकि इसमें एक राइडर है कि अगर बड़ी बेटियां जुड़वां हों तो उनके अलावा एक और बेटी के नाम भी खाता खाेला जा सकता है।

समझें 14 साल के फायदे का गणित

कोई भी व्‍यक्ति अपनी 10 साल तक की बेटियों के नाम यह अकाउंट खोल सकता है। इस अकाउंट की एक श्‍ार्त है कि इसमें निवेश 14 साल तक ही किया जा सकता है। ऐसे में अगर कोई अपनी एक साल की बेटी के नाम यह खाता खोलता है, तो वह बेटी की 15 साल तक की उम्र तक ही निवेश कर सकता है।

ऐसे में 15 साल से 21 साल के बीच में इस अकाउंट में बिना निवेश किए ही ब्‍याज पाया जा सकता है। इस खाते में अधिकतम 1.5 लाख रुपए एक वित्‍तीय साल में जमा किया जा सकता है।

ऐसे मिलेगा फायदा

  • पुरानी ब्याज दर पर देखें तो 15वें साल में यह रकम 38,16,930 रुपए होती है। वहीं अगर रकम नहीं निकालने पर तो 21वें साल में आपको 65.84 लाख रुपए मिलते।
  • वहीं नई ब्याज दर पर 14 साल तक 1.5 लाख (12500 रुपए महीने) सालाना का निवेश 15वें साल में 39,36,009 लाख रुपए हो जाएगा। इसके बाद यह रकम नहीं निकाली जाए तो यह 21वें साल में 69.67 लाख रुपए हो जाएगी। इस प्रकार नई ब्याज दर से आप 3.83 लाख रुपए का फायदा उठा सकते हैं।

अकाउंट मैच्‍योर होने के नियम

इस अकाउंट को बेटी की शादी पर 18 साल में बंद कराया जा सकता है। अगर ऐसा नहीं कराया जाता है तो यह बेटी की उम्र 21 वर्ष होने पर अपने आप ही मैच्‍योर हो जाता है।

कहां खुलवा सकते हैं अकाउंट

सुकन्या समृद्धि अकाउंट आप देश भर के किसी भी पोस्ट ऑफिस या फिर कुछ प्रमुख बैंकों में खुलवा सकते हैं। इसके लिए पोस्ट ऑफिस अथवा बैंक में जाकर आपको फॉर्म भरना होगा। फॉर्म भरने के बाद कैश, ड्राफ्ट या चेक की मदद से पैसा डिपॉजिट करना होगा। पैसा जमा होने के बाद आपको पासबुक भी मिल जाएगी, ताकि‍ आप अपने पैसे का पूरा हि‍साब देख सकें।

इन डॉक्युमेंट्स की पड़ेगी जरूरत

सुकन्या स्कीम में अकाउंट खोलने के लिए आपको जिन डॉक्युमेंट्स की आवश्यकता पड़ेगी, वे हैं

  • बेटी का बर्थ सर्टिफिकेट
  • माता-पिता का एड्रेस प्रूफ
  • माता-पिता का आइडेंटिटी प्रूफ

अब चलते-फिरते Google से कमाएं 3000 रु महीना ,यह है तरीका

गूगल सर्च इंजन से अभी तक आपने ढ़ेर सारी जानकारियां सर्च की होंगी लेकिन अब आप इसके जरिए पैसे भी कमा सकते हैं. तीन ऐसे तरीके हैं जिनके जरिए आप गूगल से जुड़ कर चलते-फिरते पैसे कमा सकते हैं.

पहला तरीका-गूगल ने जुलाई में भारत में गूगल ओपीनियन रिवॉर्ड्स लॉन्च किया है. इसमें कुछ सर्वे के आपको अपनी राय देनी होती है जिसके बदले आपको प्रति सर्वे 10 रुपये मिलते हैं. सोचिए यदि आप रोज 10 सर्वे करते हैं, तो आप एक महीने में 3000 रुपये की इनकम कर सकते हैं.

ये पैसे आपके एकाउंट में क्रेडिट हो जाते हैं जिसका यूज आप गूगल प्ले स्टोर से गेम, म्यूजिक सहित कई ऐप खरीदने के लिए कर सकते हैं. इस ऐप को आप गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं.

दूसरा तरीका-स्‍क्रीनवाइज मीडिया पैनल नाम का ऐप है. इस ऐप को डाउनलोड करने पर आपको पैसे मिलेंगे. इसके लिए आपको सिर्फ यह ऐप अपने फोन में रखना है. इस पर साइनअप करने के लिए आपको 300 रुपये मिलेंगे. इसमें हर महीने 10-10 रुपये बढ़ाए जाएंगे.

 

क्या काम करता है ऐप

दरअसल इस ऐप के जरिये गूगल ये ट्रैक करता है कि आप किन साइट्स पर जा रहे हैं और क्या सर्च कर रहे हैं. अगर आपको ये जानकारी गूगल से साझा करने में दिक्कत नहीं है, तो इस ऐप से आप पैसे कमा सकते हैं. इस ऐप को यूज करने से आपके एकाउंट में जो पैसे आएंगे इन्हें गूगल आपको कैशमिंत्रा, शॉपर्स स्टॉप और लाइफस्टाइल के कूपन के तौर पर देता है. इनका इस्तेमाल आप शॉपिंग करने के लिए कर सकते हैं.

तीसरा तरीका-इस तरीके में आप गूगल मैप्स पर फोटो अपलोड कर पैसे कमा सकते हैं. गूगल मैप्स गाइड के जरिये आपको ‘गूगल मैप्‍स’पर कुछ सवालों का जवाब देना होता है. इसके अलावा दूसरों को गाइड करने के लिए आप मार्केट प्लेस के फोटो और रिव्यू भी अपलोड कर सकते हैं. दरअसल इससे गूगल मैप्स पर सर्च करने वाले दूसरे लोगों को मदद मिलती है. नए प्रॉडक्ट को सार्वजनिक तौर लॉन्च करने से पहले आपको एक्सेस मिलेगी.

इसमें टॉप लोकल गाइड्स को ‘ओला सेलेक्‍ट एक्‍सेस’ कूपन भी दिया जाता है जिससे कि आप ओला की प्राइम कार को कम किराये में बुक कर सकते हैं. साथ ही आपको ओला एयरपोर्ट लाउंज एक्सेस भी मिल सकता है. इसके लिए वैसे आपको 539 रुपये चुकाने पड़ते हैं.

नए दौर में शुरू करे फ़ूड ट्रक का बिज़नेस,पहले साल में ही होगा प्रॉफिट

नए दौर में लाइफ में बदलाव के साथ लोगों की प्राथमिकताएं भी बदल गई हैं। जिंदगी में इसी बदलाव की वजह से नए बिजनेस आइडिया भी सामने आ रहे हैं। खास बात ये है कि इसमें से कुछ बिजनेस आइडिया नए दौर के कारोबारियों के लिए काफी फिट भी हैं। जो अपनी शर्तों पर काम करना चाहते हैं, फिक्स ऑफिस ऑवर से दूर रहते हैं और साथ ही चाहते हैं कि उनके काम को अपनी पहचान भी मिले। मैगजीन एंट्रप्रेन्योर के द्वारा नई पीढ़ी के लिए जारी बिजनेस आइडिया की लिस्ट में ऐसे कई बिजनेस आइडिया शामिल किए गए हैं । जिसमे से फ़ूड ट्रक बिज़नेस एक है

एंट्रप्रेन्योर मैगजीन के मुताबिक लोगों की आदतें बदलने का सबसे बड़ा असर उनकी फूड हैबिट्स पर पड़ा है। लोग हेल्दी खाना चाहते हैं लेकिन समय की कमी से भी जूझते हैं। इसी वजह से फूड ट्रक लगातार सफल हो रहे हैं। क्योंकि ये सीधे आपकी ऑफिस से सटी पार्किंग में भी स्वादिष्ट खाना ऑफर कर सकते हैं।फ़ूड ट्रक का एक फ़ायदा यह है के आप को किसी एक फिक्स जगह पर नहीं रुकना पड़ता । ग्राहक के हिसाब से अपनी स्थिति बदल सकते है मतलब यहाँ ग्राहक वहां आपका ट्रक ।


फूड ट्रक विदेशों में काफी पहले से चल रहा एक आम बिजनेस आइडिया है। हालांकि भारत में अब ये धीरे धीरे अपने कदम बढ़ा रहा है। मीडिया में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका में कई फूड ट्रक सेलेब्रिटी का दर्जा पा चुके हैं और इन ट्रक के अपने पहले से तय जगह पर पहुंचने से काफी पहले इनके ग्राहक लाइन में खड़े रहते हैं।

ऐसे ही एक फूड ट्रक मिस चीजियस को शुरू करने वाले ब्रायंस मलिंस न केवल मीडिया में काफी मशहूर हैं साथ ही 2015 में अपने एक छोटे से ट्रक से शुरूआत करने के बाद फिलहाल वो 2 बड़े फूड ट्रक और दो रेस्टोरेंट के मालिक बन चुके हैं। साथ ही उनका फूड ट्रक अब एक कंपनी बन चुका है।

एंट्रप्रेन्योर के मुताबिक स्वाद, सर्विस और सफाई 3 फैक्टर पर खरे उतरने वाले फूड ट्रक साल भर में निवेश निकाल कर प्रॉफिट में आ जाते हैं। इसके लिए अगर आप अच्छा खाना बना लेते है तो आप को सिर्फ एक हेल्पर की जरूरत होगी । इसके इलावा आप आइस क्रीम और किसी ड्रिंक का भी फ़ूड ट्रक शुरू कर सकते है । शुरुआत एक पुराना ट्रक और मिनी ट्रक लेकर कर सकते है ।बहुत सारी कंपनी फाइनेंस से पर ट्रक खरीद सकते है ।

ट्रक के अंदर की सेटिंग्स आप अपने त्यार होने वाले फ़ूड के हिसाब से कर सकते है । इस लिए शुरआत में 2 -3 लाख में आप अपना बिज़नेस शुरू कर सकते है। बहुत सी जगह पर ट्रक से फ़ूड बेचने के लिए परमिशन लेनी पड़ती है लेकिन ज्यादातर शहरों में आप को कोई खास परमिशन की जरूरत नहीं पड़ती । अगर आप अपना ब्रांड नेम बनाने में सफल रहते है तो आप का बिज़नेस एक नई ऊंचाई पर पहुँच सकता है ।

खुलवाएं NPS अकाउंट,पत्नी नहीं करती जॉब तो भी मिलेगी रेगुलर इनकम

अगर आप की वाइफ नौकरी नही करती है तब भी आप उनके लिए रेगुलर इनकम का इंतजाम कर सकते हैं। ऐसा आप उनके नाम पर न्‍यू पेंशन सिस्‍टम यानी (NPS) अकाउंट खुलवा कर सकते हैं। NPS अकाउंट आपकी वाइफ को 60 साल की उम्र पूरी होने पर एकमुश्‍त रकम देगा।

इसके अलावा उनको हर माह पेंशन के रूप में रेगुलर इनकम भी होगी। एनपीएस अकाउंट के साथ आप यह भी तय कर सकते हैं कि आपकी वाइफ को हर माह कितनी पेंशन मिलेगी। इससे आपकी वाइफ 60 साल की उम्र के बाद पैसों के लिए किसी पर भी निर्भर नहीं रहेंगी।

खुलवाएं एनपीएस अकाउंट

आप अपनी वाइफ का न्‍यू पेंशन सिस्‍टम यानी एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं। इस अकाउंट में आप अपनी सुविधानुसार हर महीने या सालाना पैसा जमा कर सकते हैं। आप 1,000 से भी वाइफ के नाम पर एनपीएस अकाउंट खुलवा सकते हैं। 60 वर्ष की उम्र में एनपीएस अकाउंट मैच्‍योर हो जाता है। नए नियमों के तहत आप चाहें तो NPS अकरउंट वाइफ की उम्र 65 साल होने तक चलाते रहें।

5,000 रुपए मंथली निवेश से बनेगा 1 करोड 14 लाख रुपए का फंड

उदाहरण के तौर पर मान लेते हैं आपकी वाइफ की उम्र उम्र 30 साल है और आप उनके एनपीएस अकाउंट में हर माह 5,000 रुपए का निवेश करते हैं। अगर उनको निवेश पर सालाना 10 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 60 साल की उम्र में उनके अकाउंट में कुल 1.14 करोड़ रुपए होंगे।

उनको इसमें से 45 लाख रुपए मिल जाएंगे। इसके अलावा उनको हर माह 45,000 रुपए पेंशन मिलेगी। यह पेंशन उनको हर जीवन भर मिलती रहेगी।

नोट: निवेश पर रिटर्न अनुमानित है।

प्रोफेशनल फंड मैनेजर करते हैं आपके पैसे का प्रबंधन

एनपीएस केंद्र सरकार की सोशल सिक्‍युरिटी स्‍कीम है। इस स्‍कीम में आप जो पैसा निवेश करते हैं उसका प्रबंधन प्रोफेशनल फंड मैनेजर करते हैं। केंद्र सरकार इन प्रोफेशनल फंड मैनेजर्स को इसकी जिम्‍मेदारी देती है।

ऐसे में एनपीएस में आपका निवेश पूरी तरह से सुरक्षित रहता है। हालांकि इस स्‍कीम के तहत आप जो पैसा निवेश करते हैं, उस पर रिटर्न की गारंटी नहीं होती है। फाइनेंशियल प्‍लानर तारेश भाटिया के अनुसार एनपीएस अपनी शुरुआत के बाद से अब तक सालाना औसत 10 से 11 फीसदी रिटर्न दिया है।

ऐसे 10 साल मे बन जाएगा 1 करोड़ का फंड, बस समझना होगा 5 और 20 का फॉर्मूला

आप 5 और 20 का फॉर्मूला समझ कर 10 साल में 1 करोड़ का फंड बना सकते हैं। इसके लिए आपको एकमुश्‍त 5 लाख रुपए इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश करना होगा। इसके साथ ही आपको सिस्‍टमैटिक इन्‍वेस्‍टमेंट प्‍लान यानी SIP में 20 हजार रुपए मंथली निवेश करना होगा।

अगर आप अगले 10 साल तक एसआईपी में 15 फीसदी निवेश बढ़ाते रहते हैं और आपके निवेश पर सालाना 15 फीसदी रिटर्न मिलता है तो आप 10 साल में 1 करोड़ रुपए का फंड बना लेंगे। म्‍युचुअल फंड में एकमुश्‍त या एसआईपी के जरिए निवेश करने से पहले आपको यह ध्‍यान रखना होगा कि म्‍युचुअल फंड में रिटर्न की गारंटी नहीं होती और इस पर रिटर्न इस बात पर निर्भर करता है कि शेयर बाजार का प्रदर्शन कैसा रहता है।

कैसे बन जाएगा 10 साल में 1 करोड़ का फंड

  • म्‍युचुअल फंड में एकमुश्त 5 लाख का निवेश करें।
  • इसके साथ एसआईपी में 20,000 रुपए हर माह निवेश करें। पहले साल के अंत तक आप कुल 2.4 लाख रुपए निवेश कर चुके होंगे।
  • एसआईपी में अपना निवेश हर साल 15 फीसदी बढ़ाते रहें।
  • अगर आपके निवेश पर 14 से 16 फीसदी की रेंज में सालाना रिटर्न मिलता है तो आप 10 साल में 1 करोड़ का फंड बना लेंगे।

1 करोड़ का फंड बनाने का लंबी अवधि का प्‍लान

बैंकबाजारडॉटकॉम के सीईओ आादिल शेट्टी ने बताया कि जो लोग एकमुश्‍त निवेश के साथ एसआईपी को जोड़ना चाहते हैं उनके लिए लंबी अवधि का शानदार प्‍लान है। अगर आप 5 लाख रुपए म्‍युचुअल फंड में एकमुश्‍त निवेश करते हैं और इस पर सालाना 15 फीसदी रिटर्न मिलता है तो यह 10 साल में 20.22 लाख रुपए हो जाएगा।

आप इसी फंड में 20,000 रुपए की एसआईपी शुरू कर सकते हैं। आप एसआईपी में निवेश को हर साल 15 फीसदी बढ़ाते रहें। आपके निवेश पर सालाना 15 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 10 साल बाद आपके एसआईपी अकाउंट 95.56 लाख रुपए होंगे। आपका एकमुश्‍त 5 लाख रुपए का निवेश और एसआईपी निवेश मिलाकर 10 साल में आपको 1. 15 करोड़ का फंड दे सकता है।

27 लाख का एकमुश्‍त निवेश 10 साल में बन जाएगा 1 करोड़

आप इक्विटी म्‍युचुअल फंड में एकमुश्‍त 27 लाख रुपए निवेश करें और अगर आपके निवेश सालाना 14 से 16 फीसदी रिटर्न मिलता है तो 10 साल में आपका फंड 1 करोड़ रुपए का हो जाएगा। यह प्‍लान ऐसे लोगों के लिए है, जिनके पास एक बार में निवेश करने के लिए 27 लाख रुपए जैसी बड़ी रकम है। लेकिन अगर आपके पास एकमुश्‍त निवेश के लिए बड़ी रकम नहीं है तो आप 5 और 20 का फार्म्‍यूला समझ सकते हैं।

सेविंग अकाऊंट की तरह जल्द खुलेगा गोल्ड सेविंग अकाऊंट

सेविंग अकाऊंट की तर्ज पर जल्द ही लोग बैंकों और पोस्ट ऑफिसों में गोल्ड सेविंग अकाऊंट खोल सकेंगे। । इस प्रस्ताव को जल्द ही मंजूरी के लिए कैबिनेट में भेजा जाएगा।

वित्त मंत्रालय के उच्च अधिकारियों का कहना है कि सरकार का मकसद इस योजना के तहत लोगों को सेविंग अकाऊंट के जरिए गोल्ड उपलब्ध कराना है, ताकि गोल्ड का इम्पोर्ट कम हो सके।

इस योजना को सरकार शहरों के साथ गांवों में भी जोरदार तरीके से लांच करना चाहती है ताकि आम ग्रामीण भी इस योजना से लाभान्वित हो सकें। इसके लिए बैंकों के साथ पोस्ट आफिसों की चेन का भी भरपूर इस्तेमाल किया जाएगा, ताकि इस योजना का लाभ आम आदमी तक पहुंच सके।

कितना मिलेगा गोल्ड

सूत्रों के अनुसार गोल्ड सेविंग अकाऊंट में जमा पैसे के बराबर गोल्ड मिलेगा। हालांकि इसमें विकल्प भी मौजूदा रहेगा। लोग पैसा निकासी के वक्त गोल्ड या पैसा जो चाहे निकाल सकेंगे। पैसे की निकासी पर कैपिटल गेन्स टैक्स नहीं लगेगा। सॉवरेन बॉन्ड स्कीम पर बैंक जितना ब्याज देते हैं उतना ही ब्याज गोल्ड सेविंग अकाऊंट पर दिया जाएगा।

यानी 2.5 प्रतिशत सालाना ब्याज। एक खास बात यह है कि पैसे की निकासी के समय जितना गोल्ड मिलेगा उस पर गोल्ड के इम्पोर्ट पर लगने वाली ड्यूटी लागू नहीं होगी। पी.पी. ज्वैलर्स के वाइस प्रैजीडैंट पवन गुप्ता का कहना है कि इस स्कीम के जरिए आम लोगों को गोल्ड खरीदने के लिए सेविंग करने का विकल्प मिलेगा। इसके अलावा सरकार ने जो पैसा लेने का विकल्प रखा है, वह भी तर्कसंगत है।

पोस्ट ऑफिस की टाइम डिपॉजिट स्कीम में तेजी से बढ़ेगा आपका पैसा, बैंक से ज्यादा हैं फायदे, 1 से 5 साल की हैं स्कीम

ज्यादातर लोग तय इनकम के लिए बैंक में एफडी कराते रहे हैं। लेकिन अब आप ऐसा ही निवेश डाकघर में भी कर सकते हैं, वह भी ज्यादा फायदे के साथ। यह स्कीम है पोस्ट ऑफिस की टाइम डिपॉजिट स्कीम। एक ओर जब बैंकों ने पिछले कुछ महीनों में सेविंग स्कीम पर मिलने वाला ब्याज घटाया है, डिपॉजिट रेट भी कम किए हैं, पोस्ट ऑफिस की यह स्कीम ज्यादा बेहतर होगी।

यह एफडी के मुकाबले अधिक सुरक्षित है क्योंकि इसमें निवेश की गई रकम और उस पर मिलने वाले ब्याज की पूरी गारंटी होती है। एफडी की गई रकम डिपॉजिट इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी स्कीम के तहत इंश्योर्ड होती है। अगर बैंक को किसी तरह का नुकसान होता है तो इस स्कीम के तहत जमाकर्ता को सिर्फ 1 लाख रुपये की राशि मिलती है, लेकिन पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉडिट के साथ ऐसा नहीं है।

200 रुपए से शुरू कर सकते हैं निवेश

बैंक के फिक्स्ड डिपॉजिट की तर्ज पर पोस्ट ऑफिस की टाइम डिपॉजिट स्कीम भी है। इसमें मिनिमम 200 रुपए से अकाउंट खुलवा सकते हैं। अधिकतम राशि जमा करने की कोई सीमा नहीं है।

जितना चाहें, उतने अकाउंट खुल जाएंगे

इस स्कीम की खास बात है कि एक निवेशक कई अकाउंट खुलवा सकता है। यानी आपके पास अतिरिक्त पैसे हैं तो आप ज्यादा अकाउंट में पैसे निवेश कर अपना भविष्‍य ज्यादा सुरक्षित कर सकते हैं।

1 से 5 साल की स्कीम पर कितना ब्याज

  • समय ब्याज
  • 1 साल 6.6%
  • 2 साल 6.7%
  • 3 साल 6.9%
  • 5 साल 7.4%

नोट: इसमें डिपॉजिट अमाउंट पर क्वार्टली कंपाउंडेड इंटरेस्ट कैलकुलेट किया जाता है जो सालाना आधार पर पे किया जाता है।

बैंक FD पर ब्याज (7 दिन से 10 साल)

SBI: 5.75-6.75%, HDFC बैंक: 3.5-6%, ICICI बैंक: 4-7.25%, 4-7.25%, केनरा बैंक: 4.20-6%

यस बैंक: 5-7%, एक्सिस बैंक: 3.5-6.9%, बैंक ऑफ बड़ौदा: 4.25-6.60% etc.

समय से पहले पैसे निकालने की हो जरूरत

  • टाइम डिपॉजिट होल्डर एमरजेंसी में अपना फंड मेच्योरिटी से पहले वापस पा सकता है। हालांकि इसके लिए अकाउंट में पहला डिपॉजिट किए हुए 6 माह पूरे होने चाहिए।
  • अगर आपने 1 साल, 2 साल, 3 साल या 5 साल के लिए अकाउंट खुलवाया है लेकिन 6 माह बाद लेकिन 1 साल के पहले ही विद्ड्रॉल करते हैं तो डिपॉजिट पर पोस्ट ऑफिस की सेविंग अकाउंट की बेसिक इंटरेस्ट के हिसाब से रिटर्न मिलेगा।
  • एक साल के बाद लेकिन मेच्योरिटी से पहले विद्ड्रॉल करने पर की डेट तक जितने साल और महीने पूरे हो गए हैं उस पर तय ब्याज दर से 2 फीसदी तक कम इंटरेस्ट रेट देकर पूरा फंड मिल जाएगा।

स्कीम के फायदे

  • टाइम डिपॉजिट स्कीम पर ब्याज दर 7.4 फीसदी तक है जो बैंक एफडी से ज्यादा है।
  • इसमें निवेश की कोई अधिकतम राशि तय नहीं है, वहीं 200 रुपए से शुरूआत हो जाती है।
  • इस स्कीम में 5 साल के लिए किया गया निवेश टैक्स बेनेफिट के लिए एलिजिबल होता है और इनकम टैक्स एक्ट 1961 के Section 80C के अंतर्गत छूट ली जा सकती है।
  • गवर्नमेंट डिपॉजिट होने की वजह से कोई रिस्क नहीं रहता है।
  • आप अकाउंट को सिक्योरिटी के रूप में रखकर इसके बदले लोन भी ले सकते हैं।
  • अगर अपने डिपॉजिट पर मिलने वाले सालाना ब्याज की निकासी नहीं करना चाहते हैं तो फिर आप उस रकम को अपने बचत खाते में ट्रांसफर करा सकते हें। ऐसा तभी होगा, जब निवेश की समय सीमा 2,3 या 5 साल हो।
  • आप अपने सालाना ब्याज को रिकरिंग डिपॉजिट में भी ट्रांसफर कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी है कि आपकी आरडी 5 साल के लिए हो।

कहां खुलेगा अकाउंट

पोस्ट ऑफिस टाइम डिपॉजिट में निवेश के लिए यह जरूरी नहीं है कि आप अपने नजदीकी पोस्ट ऑफिस में ही खाता खुलवाएं। इसके अलावा केंद्र सरकार ने पब्लिक सेक्टर के सभी बैंकों और एचडीएफसी, एक्सिस और आईसीआईसीआई जैसे प्राइवेट बैंकों को भी इन अकाउंट्स को खोलने की मंजूरी दी है।

कौन खुलवा सकता है

  • टाइम डिपॉजिट स्कीम कोई भी खुलवा सकता है। इसमें 2 लोग मिलकर ज्वॉइंट अकाउंट भी खुलवा सकते हैं।
  • अकाउंट कैश या चेक देकर खुलवाने की सुविधा है।
  • अकाउंट खुलवाते सम या बाद में नॉमिनेशन की भी सुविधा है।

200 रुपए रोज बचाने का करें इंतजाम, 20 साल में बन जाएंगे 45 लाख, 31 लाख का एक्स्‍ट्रा फायदा

आमतौर पर 30 साल की उम्र होते होत बहुत से लोग इस स्थिति में आ जाते हैं कि रोज 150 से 200 रुपयों की बचत कर सकें। लेकिन परेशानी यह है कि ज्यादातर लोग छोटी-मोटी बचत पर ध्‍यान नहीं देते हैं।

उन्हें लगता है कि 100 या 200 रुपयों की बचत से कुछ नहीं हासिल होने वाला है। लेकिन उन्हें इस छोटी बचत की उपयोगिता के बारे में पता नहीं है। छोटी बचत अगर सही ढंग से की जाए तो यह 15 से 20 साल में आपकी तमाम जरूरतें पूरी कर देगा। वहीं आपका भविष्‍य भी सुरक्षित रहेगा।

हम आपको यहां एक ऐसे ही कंपाउंडिंग फॉर्म्युले के बारे में बता रहे हैं, जिसके तहत आप रोज अपने तमाम खर्च में से सिर्फ 200 रुपए बचत करें तो आगे 20 साल में एकमुश्‍त 45 लाख रुपए आपको मिल सकते हैं। यह रिपोर्ट उनके लिए भी बेहद काम की हो सकती है, जिनकी उम्र 25 से 35 साल के बीच है या जिन्हें नौकरी शुरू किए हुए कुछ साल बीते हों।

क्या है कंपाउंडिंग का फॉर्मूला

  • A=P (1+r/n)nt
  • A: कुल अमाउंट मूलधन
  • P: मूलधन
  • r: रेट ऑफ इंटरेस्ट
  • n: एक साल में कितनी बार कंपाउंडिंग
  • nt: कुल समय

ये है आसान सा फॉर्मूला

20 साल में 45.36 लाख रुपए का फंड

अगर आप रोज 200 रुपए के लिहाज से अपनी बचत करते हैं तो पूरे महीने की बचत 6000 रुपए होगी। इस लिहाज से 1 साल की बचत 72000 रुपए होगी। अगर आप ऐसा 20 साल तक करते हैं तो 20 साल की बचत का मूलधन 14.40 लाख रुपए होगा।

आपको निवेश तो पहले साल से ही करना है, ऐसे में म्युचुअल फंड की कई ऐसी स्कीम ऐसी है, जहां औसतन 10 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है। आपके निवेश पर 10 फीसदी की दर से कंपाउंडिंग मिल रहा है तो 20 साल में आपका निवेश बढ़कर 45.368 लाख रुपए हो जाएगा। यानी आपके कुल निवेश से करीब 31 लाख रुपए ज्यादा आपको मिल सकते हैं।

अगर आप 10 साल के लिए ही करें बचत

रोज 200 रुपए के लिहाज से महीने की बचत 6000 रुपए। 1 साल की बचत 72000 रुपए। 10 साल की कुल बचत 7.20 लाख रुपए। वहीं, आपके निवेश पर 10 फीसदी की दर से कंपाउंडिंग मिल रहा है तो 10 साल में आपका निवेश 12.62 लाख रुपए हो जाएगा।

यहां करें निवेश

आपके लिए म्युचुअल फंड की कुछ योजनाएं बेहतर विकल्प हो सकती हैं। म्युचुअल फंड की तरह ही लिक्विड फंड स्कीम है, जो सेविंग अकाउंट की तरह काम करती है।

पिछले एक साल में बेहतर म्युचुअल फंड और लिक्विड फंड योजनाओं ने 10 से 12 फीसदी तक या इससे भी ज्यादा रिटर्न दिया है। लिक्विड फंड योजनाओं में से तो आप जब चाहे तब पैसे निकाल सकते हैं। यानी पैसे फंसने का भी डर नहीं होता है। बस आपको हर साल बेहतर फंड का चुनाव करना होगा।

म्युचुअल फंड क्यों है बेहतर विकल्प

म्युचुअल फंड आपके लिए बेहतर विकल्प इसलिए है कि अच्छे फंड में रिटर्न ऊंचा है। इसका उदाहरण पिछले साल की कुछ फंड के प्रदर्शन से मिल सकता है। पिछले साल की बात करें तो इनमें 78 फीसदी तक रिटर्न मिला है।

मसलन पिछले साल 20 दिसंबर तक SBI Small & Midcap Fund (G) में 78.5 %, L&T Emerging Businesses Fund-RP (G) में 63.8 %, L&T Infrastructure (G) में 59.5 % और HDFC Small Cap Fund – Direct (G) में 58.2 % रिटर्न मिला।

च्‍वॉइस ब्रोकिंग के प्रेसिडेंट अजय केजरीवाल के अनुसार लार्ज कैप या बैलेंस्‍ड फंड की योजना को चुनना चाहिए। इस कैटेगरी के फंड अच्‍छा रिटर्न देते हैं। साथ ही निवेश पर सुरक्षा की भी गारंटी देते हैं। निवेशक चाहे तो निवेश सिप के जरिए भी कर सकता है।

18 साल की उम्र में बेटी के अकाउंट में जमा हो जाएंगे 1 करोड़, 5500 रु मंथली का है स्टेपअप प्लान

अधिकांश माता-पिता चाहते हैं कि वह अपने बच्चों के लिए ज्यादा से ज्यादा पैसा छोड़कर जाएं। हालांकि इसके लिए एक बेहतर प्लानिंग की जरूरत होती है। हम आपको ऐसी प्लानिंग के बारे में बता रहे हैं, जिससे आपकी बेटी के नाम 18 साल में एक करोड़ रुपए का फंड तैयार हो सकता है।

एक्सपर्ट के अनुसार अगर बेटी के जन्म के समय से म्युचुअल फंड में इन्वेस्ट किया जाय, तो 18 साल में एक करोड़ रुपए की रकम स्टेप अप प्लान के जरिए तैयार की जा सकती है।

ये है स्‍टेपअप निवेश प्‍लान

अंश फाइनेंशियल एंड इन्‍वेस्‍टमेंट के डायरेक्‍टर दिलीप कुमार गुप्‍ता के अनुसार स्‍टेपअप निवेश प्‍लान में हर साल एक तय प्रतिशत में निवेश को बढ़ाया जाता है। अगर 10 फीसदी का स्‍टेपअप निवेश प्‍लान है, तो इसमें निवेश्‍ा राशि में हर साल 10 फीसदी का इजाफा करना होता है।

अगर किसी का इस तरह के प्‍लान में 1000 रुपए महीने का निवेश हो रहा है, और यह 10 फीसदी स्‍टेपअप निवेश प्‍लान है तो अगले साल इस निवेश को बढ़ाकर 1100 रुपए करना होगा। इसके अगले साल में 1100 रुपए के निवेश को बढ़ाकर 1210 रुपए करना होगा। इसी तरह यह आगे के सालों में भी बढ़ता जाएगा।

कैसी होगी बेटी 18 साल में करोड़पति

बेटी के जन्‍म लेते ही 5500 रुपए महीने का निवेश किसी अच्‍छे इक्विटी म्‍युचुअल फंड में शुरू करें। फिर हर साल इस निवेश में 10 फीसदी का इजाफा करते जाएं। ऐसा करने का सबसे अच्‍छा तरीका है कि म्‍युचुअल फंड में एक-एक साल SIP शुरू करें।

इसका फायदा यह होगा जितना निवेश बढ़ाना उतने रुपए बढ़ा कर हर साल उसी फंड में एक साल की SIP शुरू की जा सकती है। ऐसा निवेश 18 साल तक चलाते जाएंगे तो बेटी के लिए एक करोड़ रुपए का फंड तैयार हो जाएगा। सेबी के अनुसार वित्‍तीय सलाहकार इक्विटी म्‍युचुअल फंड में 15 फीसदी के रिटर्न के हिसाब से कैलुकेशन करके भविष्‍य की वैल्‍यू का अनुमान बता सकते हैं।

निवेश की योजना एक नजर में

  • 5500 रुपए महीने का शुरू करें निवेश
  • इस निवेश में हर साल करें 10 फीसदी का इजाफा
  • 18 साल तक इस निवेश प्‍लान को जारी रखें
  • इस निवेश पर मिले 15 फीसदी का रिटर्न
  • 1 करोड़ रुपए का तैयार हो जाएगा फंड

कौन से फंड दे रहे हैं अच्‍छा रिटर्न

स्‍कीम                                                                       5 साल का रिटर्न

  • रिलायंस स्‍मॉल कैप फंड – Direct (G)                    37.0 फीसदी
  • कैन रोबेको इक्विटीज फंड -Direct (G)                  32.9 फीसदी
  • डीएसपी स्‍मॉल कैप फंड – Direct (G)                    32.3 फीसदी
  • मिरा इमर्जिंग ब्‍लूचिप फंड -Direct (G)                  32.0 फीसदी
  • एलएंडटी मिडकैप फंड -Direct (G)                      30.5 फीसदी

डाटा : 22 जून 2018 तक का अपडेट। 5 साल का रिटर्न कंपाउंडिड एनुअल ग्रोथ रेट (CAGR) में।

एक्‍सपर्ट्स की राय

इक्विटी म्‍युचुअल फंड में लम्‍बे समय में अच्‍छा रिटर्न मिलता है। ऊपर दी म्‍युचुअल फंड स्‍कीम्‍स का 5 साल का रिटर्न 30 फीसदी से ऊपर है। फाइनेंशियल एडवाइजर फर्म बीपीएन फिनकैप के डायरेक्‍टर एके निगम के अनुसार 5 साल से ऊपर का निवेश लम्‍बे समय का माना जाता है, लेकिन अगर यह निवेश 18 साल के लिए करना हो तो रिटर्न वाकई में बहुत ही अच्‍छा मिलता है।

अगर लक्ष्‍य को तय करके इक्विटी म्‍युचुअल फंड में निवेश किया जाए तो यह अच्‍छी फाइनेंशियल प्‍लानिंग माना जाता है। बेटी को करोड़पति बनाने के लिए लक्ष्‍य अच्‍छा है, जिसे 18 साल में आसानी से पाया जा सकता है।