ये लक्षण बताते है की आपके शरीर में है खून की कमी, ना करें नजरंदाज

अगर किसी व्‍यक्ति के शरीर में आयरन की कमी हो जाए, तो इससे उसे कई परेशानियां हो सकती हैं। दिन भर थकान और किसी काम में मन न लगना भी कहीं न कहीं इस बात का इशारा हो सकता है कि व्‍यक्ति के शरीर में पर्याप्‍त मात्रा में आयरन नहीं है। अगर यह रोग अधिक गम्‍भीर न हो, तो इसके लक्षण नजर भी नहीं आते। आयरन डेफिशिएंसी अनीमिया के कई लक्षण सभी प्रकार के अनीमिया में नजर आते हैं-

ऐसे पहचाने शरीर में खून की कमी को :-

बालो का झड़ना :-

जब कभी खून की कमी शरीर में होती हैं, तो आपके बालों पर इसका असर साफ दिखने लगता हैं और आपके बाल गिरने लगते हैं ।

सांसे फूलना :-

जरा सी दूर चलने पर कभी आपकी साँसे फुल जाती हैं , थोडा़ सा काम करने पर ही आप थक जाते हैं , तो ये लक्षण हैं। आपके शरीर में खून की कमी होने के जो आपके लिए परेशानी खड़ा कर देते हैं ।

सिरदर्द :-

काम के दवाब और सर्दी जुखाम में तो सभी को सर दर्द हो जाता हैं , लेकिन सर्दी झुकाम या इन्फेक्शन ना होने के बजाये आपको लगातार सिरदर्द जैसे समस्या हो रही हैं, तो पहचान लीजिये आपको भी खून की कमी होने लगी हैं ।

पीरियड्स में अधिक दर्द होना :-

अगर आपको पीरियड्स में अधिक दर्द होता हैं , और कभी कभी इनके बीच गैप भी ज्यादा हो जाता हैं , जिससे आपको चक्कर आना , सिरदर्द और घबराहट भी होने लगती है ,तो ये वजह है आपके शरीर में खून की कमी होने की ।

छाती में जलन :-

अक्सर ऐसा पाया गया हैं की जिन लोगों को सीने में जलन काफी समय तक रहती हैं, उनको खून की कमी के कारण ये समस्या होने लगती हैं ।

बच्‍चों के लिए अधिक खतरा :-

बच्‍चों में आयरन डेफिशियंसी अधिक खतरनाक होती है। जिन बच्‍चों को यह परेशानी होती है, उन्‍हें पॉयजनिंग और संक्रमण की भी परेशानी हो सकती है। नवजात शिशुओं और बढ़ते बच्चों में अनीमिया के लक्षणों में भूख में कमी, धीमा विकास और व्य्वहारगत समस्यालयें हो सकती हैं। ऐसे में माता-पिता को चाहिये कि अपने बच्‍चों के आहार का पूरा ध्‍यान रखें।

आयरन की कमी को दूर करने के उपाय :-

  • हरी सब्जियो में पालक, मेथी, गोभी, पत्तागोभी, शलजम, शंकरकंद, गुड़, अंडा, चुकंदर, सेम, का सेवन करे।
  • मसूर, टोफू, छिलका युक्त आलू, ब्रोकली, साबुत अनाज, ब्रेड, जौ और आयरन फोर्टीफाइड अनाज आदि के सेवन से भी आयरन की कमी को पूरा किया जा सकता है।
  • नियमित रूप से बादाम, खजूर, किशमिश, अंगूर, अनार, अंजीर, खुबानी खाने से आयरन की कमी पूरी होती है।

शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल बढ़ाने और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए डाइट में शामिल करें ये 4 आहार,

हाई कोलेस्ट्रॉल को कम करने के सबसे अच्छे तरीकों में अपने डाइट में सुधार करना सबसे महत्वपूर्ण है। हालांकि ऐसा कोई जादुई कोलेस्ट्रॉल डाइट नहीं है लेकिन कुछ ऐसे चुनिंदा फूड हैं,

जो एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल के स्तर के कम और एचडीएल (अच्छे) कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाकर ह्रदय संबंधी रोगों के जोखिम को कम करतें है। इन्हीं में से कुछ डाइट हम आपके साथ साझा कर रहे हैं, जिन्हें अपनाकर आप भी अपने कोलेस्ट्रॉल स्तर को संतुलित रख सकते हैं।

बादाम

पर्ड्यू विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं ने पाया कि 23 सप्ताह तक दिन में 2 औंस (किसी चीज का बहुत छोटा सा हिस्सा ) बादाम खाने वाले व्यक्तियों के वजन में कोई इजाफा नहीं हुआ और तो और उनके लिपिड मेटाबोलिज्म व कोलेस्ट्रॉल के स्तर जैसे हृदय संबंधी कारकों में भी सुधार हुआ।

अंडा भुर्जी

जर्नल ऑफ न्यूट्रिशन के एक अध्ययन में पाया गया कि अंडे खाने से अच्छा (एचडीएल) कॉलेस्ट्रॉल बढ़ता है न कि खराब (एलडीएल) कॉलेस्ट्रॉल इसलिए अंडे वास्तव में आपकी धमनियों को साफ रखते हैं। जो लोग, जरदी सहित अंडे खाते हैं उनका ऊर्जा स्तर अधिक पाया जाता है और वह 65 फीसदी तक अपना वजन कम कर सकते हैं। इसके अलावा उनके कॉलेस्ट्रॉल स्तर पर भी कोई प्रभाव नहीं पड़ता है।

डार्क चॉक्लेट

शोध से पता चला है कि डार्क चॉकलेट सेहत के लिए काफी फायदेमंद है। यह हृदय स्वास्थ्य में सुधार, उच्च रक्तचाप को कम करने, एलडीएल (खराब) कोलेस्ट्रॉल को कम करने, रक्त के थक्कों के जोखिम को घटाने और मस्तिष्क में रक्त के प्रवाह को बढ़ाने में मदद कर सकता है।

राजमा

राजमा में काफी पोषक तत्व होते हैं, जिनके सेवन से आपके शरीर को ऊर्जा मिलती है। राजमा में कैलोरी की मात्रा संतुलित होती है, जो कि सभी उम्र के लोगों के लिए लाभकारी है। इसके अलावा इसे खाने से वजन भी नहीं बढ़ता है। राजमा में ढेर सारे प्रोटीन्स होते हैं,जो आमतौर पर मांसाहार से ही मिलते हैं। राजमा में मौजूद फेजोलिन नाम के प्रोटीन से एलर्जी से बचाव होता है।

ट्रम्प के इस फैसले से भारत के किसान होंगे मालामाल

अमेरिका ने ईरान से तेल खरीदने के मामले में भारत सहित आठ देशों की छूट को खत्म कर दिया है। इससे भारत, चीन जैसे देशों में क्रूड ऑयल की सप्लाई प्रभावित होगी। अमेरिका इसमें अहम भूमिका निभा सकता है। दरअलल अमेरिका अब क्रूड इंपोर्टर से क्रू़ड एक्सपोर्टर बन चुका है और अब वह हर दिन करीब 1.22 करोड़ बैरल का रिकॉर्ड क्रूड ऑयल का उत्पादन करता है।

भारत ग्वार गम का सबसे बड़ा उत्पादक

अमेरिका क्रूड ऑयल के उत्पादन के लिए ग्वार गम का प्रयोग करता है। ऐसे में अमेरिका ग्वार गम की खरीद बढ़ाएगा और इसकी मांग बढ़ेगी जिसके कारण ग्वार गम की कीमतें बढ़ रही हैं। दिलचस्प बात यह है कि दुनिया में सबसे अधिक करीब 80 फीसदी ग्वार गम भारत और पाकिस्तान में होता है। इसमें भी सबसे अधिक भारत के राजस्थान में होता है। ऐसे में ग्वार गम की खेती मुनाफे वाली हो सकती है।

ग्वार गम की मांग फूड प्रोसेसिंग में भी

क्रूड ऑयल एक्सप्लोरेशन के अलावा ग्वार गम की मांग फूड प्रोसेसिंग में भी है। अमेरिका के अलावा यूरोप से भी इसकी मांग अधिक है। इसका इस्तेमाल पशुओं को खिलाने के लिए भी किया जाता है और कैडबरी जैसे प्रॉडक्ट में भी किया जाता है.

विस्फोटक पदार्थों में भी इसका प्रयोग होता है। ग्वार गम की मांग की तुलना में इसकी आपूर्ति बहुत कम है जिसके कारण इसकी कीमतें बढ़ रही हैं. कमोडिटी एक्सचेंज एनसीडीईएक्स के मुताबिक फरवरी से लेकर अब तक ग्वार गम की कीमतें करीब 500 रुपये प्रति 100 किग्रा तक बढ़ चुकी हैं.

कमजोर मानसून बढ़ा सकता है मुसीबत

भारतीय मौसम विभाग ने अलनीनो की किसी भी संभावना से इनकार किया है लेकिन स्काईमेट और अंतरराष्ट्रीय स्तर के एक मौसम विभाग के मुताबिक इस बार मानसून सामान्य से कम रहेगा और अलनीनो का असर देखने को मिल सकता है. इसकी वजह से ग्वार गम का उत्पादन प्रभावित होने की संभावना है. इस कारण भी इसकी कीमतें उछाल मार रही हैं।

इलेक्शन से पहले ही मुकेश अंबानी ने देश को दिया यह बड़ा तोहफा, अब सबको मुफ्त में मिलेंगी ये सुविधाएं

Reliance jio ने अपनी शुरुआत साल 2016 में टेलीकॉम सेक्टर से की थी। इस सेक्टर से मिली बड़ी कामयाबी के बाद कंपनी ने फीचर फोन और ब्रॉडबैंड सर्विस में भी कदम रखा रहा है।

कंपनी अपना दायरा बढ़ाते ही जा रही है। अब कंपनी ने मोबाइल उपभोगताओं के लिए अपना नया प्लेटफॉर्म जियो न्यूज़ ऐप (jio news App) लॉन्च किया है। यह ऐप एंड्रॉयड और IOS दोनों ही यूजर के लिए होगा।

कंपनी की माने तो जियो न्यूज़ 12 भारतीय भाषाओं को सपोर्ट करेगा। इनमें बंगाली, अंग्रेजी, गुजराती, हिन्दी, मराठी, पंजाबी, तमिल और उर्दू भाषाएं शामिल हैं। इसके अलावा ऐप पर 150 से ज्यादा लाइव चैनल्स, 800 मैगजीन, 250 से ज्यादा न्यूज़ पेपर्स साथ ही भारत और दुनिया भर की वेबसाइट्स के कंटेंट मुहैया कराए जाएंगे।

बयान में कहा गया है, “उपयोगकर्ता अपनी रुचि के मुताबिक अपना होमपेज पर्सनलाइज कर सकते हैं। आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस ( AI ) और मशीन लर्निग ( ML ) प्रौद्योगिकी से समेकित जियो न्यूज़ विभिन्न समाचार स्रोतों से हजारों खबरों को छांटकर महत्वपूर्ण एवं प्रासंगिक खबरें पेश करेगी।

इस ऐप का इस्तेमाल सभी जियो यूजर कर सकेंगे। इतना ही नहीं, जो जियो के उपभोक्ता नहीं वे भी लाग इन करके इसकी सेवा ले सकते हैं। इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर और एप्पल ऐप स्टोर से मुफ्त में डाउनलोड किया जा सकता है। इस प्लेटफार्म पर जियोएक्सप्रेस, जियोमैग्स और जियोन्यूजपेपर के साथ ही लाइव टीवी एक साथ लॉन्च किया गया है।

अब अपनी शादी में बाराती बुलाने के मिलेंगे पैसे, जितने ज्यादा बाराती उतने ज्यादा पैसे, जानें क्या है पूरी स्कीम

अगर आप जयपुर, मुंबई, दिल्ली की मशहूर शादी में शामिल होना चाहते हैं तो अब बिना झिझक के शामिल हो सकते हैं इसके लिए आपको कुछ पैसे चुकाने होंगे। इन दिनों भारत में एक नया पर्यटन ट्रेंड ‘वेडिंग टूरिज्म’ शुरू हुआ है। इस टूरिज्म के जरिए वैसे विदेशी भारत आते हैं जो भारतीय शादी देखने के इच्छुक होते हैं।

वेडिंग टूरिज्म का यह कॅान्सेप्ट जयपुर, दिल्ली और मुंबई जैसे शहरों में तेजी से बढ़ रहा है। ऐसे टूरिस्ट को भारत लाकर उन्हें भारतीय शादी में शामिल करने के लिए ज्वॅाइन मॅाय वेडिंग (JMW) पोर्टल सक्रिय है। इस पोर्टल के जरिए भारतीय जोड़ा अपनी शादी में विदेशियों को आमंत्रित करता है।

JMW की को-फाउंडर अॅास्ट्रेलिया की ओरसी है। उन्होंने एक अंग्रेजी अखबार को दिए गए इंटरव्यू में बताया कि भारतीय शादी से ज्यादा रीति रिवाज कहीं नजर नहीं आते। शादियों में स्थानीय खाना, स्थानीय लोग, रीति-रिवाज, कपड़े और संगीत सबकुछ होता है। दो साल पहले एक विदेशी पर्यटक को भारतीय शादी में शामिल होने के लिए भेजा था, उसके बाद से अब तक लगभग 100 लोग उनके जरिए भारत की 25 शादियों में शामिल हो चुके हैं। ये डिमांड लगातार बढ़ रही है।

जानें शादी में शामिल होने के लिए एक दिन का खर्च

इसका वेडिंग अटैंडेंस पैकेज 150 डॉलर है जो भारतीय मुद्रा के अनुसार लगभग 10,500 रुपये रोज के हिसाब से पड़ता है। दो दिनों की शादी में शामिल होने के लिए 250 डॉलर (19,000 रुपये) देने पड़ते हैं। यह चार्ज शादी में शामिल होने और खाने-पीने के लिए होते हैं।

इसके अलावा अगर कोई टूरिस्ट शादी की रस्मों मेंहदी, संगीत, फेरों आदि को जानने के लिए सेरेमनी टूरिस्ट लेता है तो उसके चार्ज अलग से लिए जाते हैं। वहीं ट्रांसपॉर्ट, रहने और भारतीय शादी के परिधान लेने के चार्ज अलग होते हैं।

कैसे काम करता है टूरिज्म बिजनेस?

‘ज्वाइन माय वेडिंग’ वेबसाइट पर कपल अपनी डिटेल डालते हैं । इंटरनेशनल ट्रैवलर्स भी उस वेबसाइट पर आते हैं। अगर उन्हें किसी जोड़े का डेस्टिनेशन और प्रपोजल आकर्षक लगता है तो वो शादी में शामिल होने का टिकट खरीदते हैं। इस टिकट का ज्यादा हिस्सा कपल को मिलता है और स्टार्टअप अपना कमीशन लेता है।

अगर फोन को चार्जिंग पर लगाकर भूल जाते हैं.. तो यूज करें ये स्मार्ट प्लग, पावर Off ही नहीं On भी करता है प्लग

कई लोग फोन चार्जिंग पर लगाकर भूल जाते हैं। ऐसे में फोन की बैटरी खराब होने, यहां तक की उसमें ब्लास्ट होने के भी चांस बढ़ जाते हैं। ठीक इसी तरह, कई दूसरे इलेक्ट्रॉनिक आइटम जैसे जेट पंप, मोटर, आयरन, वाटर हीटर रॉड या अन्य को भी कई बार प्लग-इन करके भूल जाते हैं।

ऐसे में बड़ा नुकसान हो जाता है। इस प्रॉब्लम को स्मार्ट टाइमर सॉकेट प्लग से दूर किया जा सकता है। इन प्लग की ऑनलाइन प्राइस 700 रुपए से शुरू हो जाती है।

ऐसे करता है काम

इस स्मार्ट प्लग में इलेक्ट्रॉनिक सर्किट दिया है। इसे ऑपरेट करने के लिए एक डिजिटल स्क्रीन भी दी है। इस स्मार्ट प्लग में आपको उस इलेक्ट्रिक डिवाइस या मशीन का प्लग लगाना होता है, जिसे पावर देना है। इसके बाद इस प्लग को इलेक्ट्रिक पावरबोर्ड में लगा दिया जाता है।

अब आपको इलेक्ट्रिकल डिवाइस या मशीन को कितनी देर पावर देना है उसका टाइम यहां सेट कर सकते हैं। यानी उसे आधे घंटे में बंद करना है तब 30 मिनट का टाइमर सेट किया जा सकता है। टाइम पूरा होते ही ये प्लग उस मशीन को बंद कर देगा।

20 ON/OFF फंग्शन से लैस

इस स्मार्ट सॉकेट प्लग में 20 ON/OFF फंग्शन दिए हैं। यानी आप किसी डिवाइस या मशीन को टाइमर के साथ बंद और स्टार्ट कर सकते हैं। इस फंग्शन का इस्तेमाल कूलर या AC के लिए किया जा सकता है।

मान लीजिए आपके कूलर का पानी जल्दी खत्म हो जाता है, तब इस प्लग से वाटर पंप को कंट्रोल किया जा सकता है। यानी पंप को दिन या रात में हर आधे घंटे में 10 मिनट के लिए बंद कर सकते हैं। आप इस तरह के 20 टाइमर सेट कर सकते हैं। ऐसे में कूलर के पानी का फ्लो ON/OFF होता रहेगा।

इन चीजों में कर सकते हैं यूज

ये प्लग 250 Volts/16 Amps और 3600 Watts पर काम करता है। ये इतना पावरफुल है कि इससे गीजर, AC, मोटर पंप, वाशिंग मशीन, मोबाइल, लैपटॉप के साथ दूसरे डिवाइस में भी यूज कर सकते हैं। इस स्मार्ट प्लग से आपके घर की बिजली भी सेव होगी।

सोने के वरक से बनाई जाती है भारत की ये सबसे महंगी मिठाई, कीमत जान कर उड़ जायेंगे होश

आपने 500 से 1500 रुपए प्रतिकिलो की मिठाई के बारे में तो अक्सर सुना होगा लेकिन कभी 30000 हजार रुपए किलो की मिठाई के बारे में सुना है। नहीं ना, तो आज हम आपको एक ऐसी ही दुकान के बारे में बताने जा रहे हैं जहां 30000 रुपए प्रति किलो की दर से बर्फी बेची जाती है। देश के दिग्गज कारोबारी मुकेश अंबानी भी इस बर्फी के मुरीद हैं।

सोने जैसी दिखाई देती है यह बर्फी

दिल्ली में ‘गुड़ चीनी’ नाम से मिठाई तैयार करने की एक दुकान है। इस दुकान पर 21 हजार रुपए किलो और 30 हजार रुपए किलो वाली बर्फी और लड्डू बनाए जाते हैं। सोने के बिस्कुट जैसी दिखने वाली इन बर्फियों पर 24 कैरेट सोने से बने वर्क की परत चढ़ाई जाती है। इस बर्फी का एक पीस ही हजारों रुपए का होता है।

इस बर्फी का नाम स्वर्णमिष्ठा है और इसके निर्माण में इटली के पिस्ता का इस्तेमाल होता है। दिल्ली के अलावा सूरत, महाराष्ट्र के थाने और लखनऊ में भी कई दुकानों में यह महंगी मिठाइयां बनाई जाती हैं। इन मिठाइयों को स्वादिष्ट बनाने के लिए ऑस्ट्रेलिया, यूरोप और अमेरिका जैसे देशों की ब्लैकबेरी और ड्राइ फ्रूट्स का भी इस्तेमाल होता है।

आकाश अंबानी की शादी में गए थे 800 डिब्बे

हाल ही में दिग्गज कारोबार मुकेश अंबानी ने अपने बड़े बेटे आकाश अंबानी की शादी की थी। इस शादी में दिल्ली में बनाई जाने वाली स्वर्णमिष्ठा मिठाई के करीब 800 डिब्बे भेजे गए थे। आपको बता दें कि भारत में मिठाई का कारोबार करीब 8 हजार करोड़ रुपए का है और विदेशों से आने वाले पर्यटक यहां कि मिठाइयों के काफी मुरीद हैं।

खेतों में काम करने के लिए महिलाएं निकलवा रही हैं अपने शरीर का ये ख़ास अंग, वजह जान रह जायेंगे हैरान

हाल ही में महाराष्ट्र के एक गांव से बेहद ही चौंकाने वाला मामला सामने आया है जिसमें महिलाओं से ज्यादा मजदूरी करवाने के लिए उनके शरीर का एक बेहद अहम अंग निकलवा दिया जाता है। इस मामले के बारे में जानकर आपके भी होश उड़ जाएंगे।

आपको बता दें कि कुछ ख़बरों के मुताबिक़ इस गांव में शादीशुदा और गृहस्थ महिलाओं से ज्यादा काम करवाने के लिए उनके गर्भाशय (womb) निकलवाए जा रहे थे। दरअसल ऐसा इललिए किया जाता है जिससे महिलाओं के पीरियड्स बंद हो जाएं और उनसे बिना छुट्टी के भी काम करवाया जा सके, यह मामला सुनने में बेहद अजीब और अमानवीय लगता है लेकिन इस मामले का एक दूसरा पहलू भी है।

दरअसल, महाराष्ट्र के बीड जिले में सूखे की वजह से गरीबी बहुत है। जिसके चलते यहां की महिलाओं को गन्ने की कटाई के लिए दूसरों के खेतों में काम करना पड़ता है। आपको बता दें कि गरीबी से निपटने के लिए ये महिलाएं बिना छुट्टी लिए हुए काम करना चाहती हैं और इसके लिए वो खुद ही अपना गर्भाशय निकलवा देती हैं।

एक ठेकेदार के मुताबिक़ किसी भी महिला को उसका गर्भाशय निकालने के लिए जोर जबरदस्ती नहीं की जाती है। ये सब वो अपनी मर्जी से ही कर रही हैं। ठेकेदार के मुताबिक़ गन्ने की कटाई के लिए हमें टार्गेट मिलता है जिसे तय समय में पूरा करना होता है ऐसे में काम समय से पूरा करवाने के लिए बिना गर्भाशय वाली महिलाओं को ही काम दिया जाता है।

इस मामले में एक और चौंकाने वाली बात ये है कि महिलाएं अपना गर्भाशय निकलवाने के लिए ठेकेदार से लोन लेती हैं बाद में इसे चुकाती हैं। इस मामले में सबसे हैरान करने वाले बात ये है कि जहां बड़ी उम्र की महिलाएं अपना गर्भाशय निकलवा रही हैं वहीं दूसरी तरफ 22 से 25 साल की महिलाएं भी अपना गर्भाशय निकलवा रही हैं जो बेहद ही खतरनाक स्थिति है

और इतनी कम उम्र में अपने शरीर से गर्भाशय निकलवा देने की वजह से महिलाओं की सेहत  पर बुरा असर पड़ता है। ऐसा करवाना महिलाओं के लिए जानलेवा साबित हो सकता है लेकिन गरीबी से निपटने के लिए महिलाओं को ये तरीका सही लगता है और वो तुरंत इसे लेकर फैसला कर लेती हैं।

3 लाख रुपये से कम कीमत में नई Maruti Alto 800 होगी लॉन्च, जानें फीचर्स

Maruti Suzuki की नई Alto 800 फेसलिफ्ट डीलरशिप्स पर पहुंचने लगी है। हाल ही में 2019 Maruti Suzuki Alto 800 को तस्वीरों में देखा गया है। कंपनी ने 2019 Alto 800 में कॉस्मैटिक अपडेट्स दिए हैं। वहीं, नए सेफ्टी नॉर्म्स को देखते हुए इसमें अतिरिक्त सेफ्टी फीचर्स दिए गए हैं।

हाल ही में मारुति ने अपनी Alto K10 को सेफ्टी अपग्रेड्स के साथ लॉन्च किया था। ऐसे में माना जा रहा है कि 2019 Alto 800 में भी ऐसे ही बदलाव किए जाएंगे। बता दें कि Maruti Suzuki की नई Alto 800 की बुकिंग डीलरशिप्स पर शुरू है। हालांकि, कंपनी जल्द इसे लेकर आधिकारिक घोषणा कर सकती है।

परफॉर्मेंस

इसमें पावर के लिए 796 सीसी, 3-सिलिंडर पेट्रोल इंजन दिया गया है। इसका इंजन 47 bhp की मैक्सिमम पावर और 69 Nm का पीक टॉर्क जेनरेट करता है। इसका इंजन 5-स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स से लैस है।

सेफ्टी फीचर्स

Maruti Suzuki Alto 800 में नए सेफ्टी फीचर्स देखने को मिलेंगे। इनमें ड्राइवर साइड एयरबैग बतौर स्टैंडर्ड होंगे। वहीं, टॉप एंड वेरिएंट में ड्यूल फ्रंट एयरबैग्स दिए जा सकते हैं। इस कार में ABS के साथ EBD, रियर पार्किंग सेंसर्स, स्पीड अलर्ट सिस्टम और फ्रंट सीट्स के लिए सीटबेल्ट रिमाइंडर जैसे फीचर्स दिए जाएंगे।

एक्सटीरियर

नई Maruti Suzuki Alto 800 के फ्रंट में स्टाइलिंग के लिए नए ग्रिल और बंपर के साथ बड़े एयर इंटेक दिए गए हैं।

इंटीरियर

2019 Maruti Suzuki Alto में नए ड्यूल-टोन डैशबोर्ड के साथ K10 से लिया गया स्टीयरिंग व्हील शामिल है। इसके बेस वेरिएंट में USB और AUX कनेक्टिविटी वाला ऑडियो सिस्टम मिलेगा।

कीमत

Maruti Suzuki ने अपनी Alto फेसलिफ्ट की कीमतों का अभी कोई ऐलान नहीं किया है। हालांकि, रिपोर्ट्स की मानें, तो यह मौजूदा मॉडल से 10,000 रुपये महंगी होगी। Maruti Suzuki Alto के मौजूदा मॉडल की शुरुआती दिल्ली एक्स-शोरूम कीमत 2.67 लाख रुपये है। Maruti Suzuki Alto का भारतीय बाजार में Remault Kwid और Datsun redi-GO से मुकाबला होगा।

ये कूलर एक कमरा नहीं पूरा घर कर देता है ठंडा, हर कमरे में लगने वाले AC या कूलर के बचाता है पैसे

मार्केट में एक अच्छे कूलर की कीमत 8 से 10 हजार रुपए होती है। वहीं, एक एयर कंडीशनर की कीमत 30 हजार से शुरू होती है। हालांकि, ये दोनों ही सिर्फ एक कमरे को ठंडा करते हैं। यदि इन्हें किसी हॉल में लगा दिया जाए तब उसके लिए आपको ज्यादा पावरफुल कूलर या AC की जरूरत होगी। हालांकि, एक कूलर ऐसा भी आता है जो एक पूरा घर ठंडा कर देता है। इसे Evaporative कूलर कहते हैं।

AC से बराबर है कीमत

इस कूलर की कीमत कीमत 1 या 1.5 टन के एयर कंडीशन के बराबर होती है। Evaporative कूलर की ऑनलाइन प्राइस 39 हजार रुपए से शुरू हो जाती है। ऐसा एक कूलर 1000 स्क्वायर फीट एरिया ठंडा कर देता है।

यानी 39 हजार रुपए का ये एक कूलर अलग-अलग कमरे में लगने वाली AC या कूलर के पैसे बचा देता है। इस वजह से इसे सस्ता भी कहा जा सकता है। दूसरी तरफ, इसका पावर कंजप्शन भी एयर कंडीशनर की तुलना में काफी कम है। मार्केट में इनकी बड़ी रेंज मौजूद है। कई देशों में इस तरह के कूलर का इस्तेमाल होता है।

ऐसे करता है काम

इस तरह के कूलर को साइड डिस्चार्ज, डाउन डिस्चार्ज, बॉटम डिस्चार्ज और विंडो स्टाइल मॉडल में खरीद सकते हैं। इस कूलर को विंडो या छत पर फिट किया जाता है। इसके बाद इससे आने वाली हवा को घर के सभी कमरों तक पहुंचाने के लिए पाइप के जरिए फिटिंग की जाती है। इसकी खास बात है कि ये घर की खराब हवा को बाहर निकालकर आपको फ्रेश एयर देता है। ये पूरी तरह वाटरप्रूफ होता है।