1 मिनट की ये एक्सरसाइज है 45 मिनट की जॉगिंग के बराबर, चर्बी हो जाएगी गायब

यदि आप लंबे समय तक स्वस्थ रहकर जीना चाहते हैं, तो नियमित व्यायाम करना बहुत जरूरी है। हालांकि व्यायाम से बचने और न करने से संबंधित आपके मन में कई विचार आएंगे और कई बाधाएं भी आएंगी। इसमें सबसे बड़ा जॉब के साथ टाइट निकालना है।

अगर आप भी अपनी व्यस्त दिनचर्या के चलते एक्सरसाइज या वर्कआउट के लिए टाइम नहीं निकाल पाते हैं तो परेशानी की कोई बात नहीं है। आज हम आपको एक ऐसी एक्सरसाइज के बारे में बता रहे हैं जिसे करने में सिर्फ 1 मिनट लगता है। जबकि यह 45 मिनट की जॉगिंग के बराबर है। तो आइए जानते हैं क्या हैं वो ऐसी एक्सरसाइज—

सीढ़ियां चढ़ना

सीढ़िया चढ़ना एक ऐसी एक्सरसाइज है तो फिटनेस के लिहाज से बहुत जरूरी है। जिन लोगों की थाइज यानि कि जांघें बहुत मोटी होती है उनके लिए यह एक्सरसाइज बहुत फायदेमंद है। सबसे अच्छी बात यह है कि इस एक्सरसाइज को आप कहीं भी कर सकते हैं।

चाहे आप जॉब पर हों, कॉलेज में हों या घर पर आराम से बैठे हों। हर बार जब आप बाहर निकलें तो लिफ्ट लेने के बजाय सीढ़ियों का चयन करें। यदि आप अपने स्तर को एक पायदान ऊपर ले जाना चाहते हैं, तो एक मिनट में ऊपर और नीचे चढ़ने का प्रयास करें। इससे आप हमेशा युवा बने रह सकते हैं।

यह है महिलाओं के प्रेग्नेंट होने के लिए सही उम्र, इंटेलिजेंट होगा बच्चा

आजकल करियर की भागदौड़ में WOMEN पहले की तुलना में अब देर से प्रग्नेंट हो रही हैं. यहां तक की बहुत- सी महिलाएं अपने फिगर को MAINTAIN करने के चक्कर में भी जल्दी प्रेग्नेंट नहीं होती हैं. अब तो महिलाएं अपने एग्स यानी अंडों को फ्रीज करके बाद में अपनी इच्छा के मुताबिक मां बन सकती हैं.

इस वजह से उन्हें कई बार बहुत-सी परेशानियों का सामना भी करना पड़ता है.मगर अब देर से मां बनने वाली महिलाओं के लिए एक अच्छी खबर है . दरअसल एक शोध में सामने आया है कि जो महिलाएं 30 की उम्र में बच्चा पैदा करती हैं, उनका बच्चा तेज-तर्रार और होशियार होता है.

एक रिसर्च के मुताबिक जो महिलाएं 30 या इसके बाद बच्चै पैदा करती हैं उनमें यूट्रस कैंसर का खतरा कम होता है. साथ ही इस उम्र में बच्चा तेज और होशियार भी पैदा होता है. रिसर्च के दौरान इसके पीछे की मुख्य वजह पता चली है कि इस उम्र तक महिलाएं एक तो पूरी तरह से सेटल हो जाती हैं.

दूसरा वो मानसिक तौर पर बच्चा पैदा करने के लिए तैयार भी हो जाती हैं. डॉक्टर्स के मुताबिक भी बच्चा पैदा करते वक्त मां का मानसिक और शारीरिक दोनों तरह से स्वथ्य रहना बेहद जरूरी है. अगर मां स्वस्थ नहीं रहेगी तो इसका नकारात्मक असर बच्चे के स्वास्थ्य पर पड़ेगा.

‘दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला’ की सच्चाई आई सामने, लोग समझते हैं सऊदी अरब की रानी

इंटरनेट पर आपने ऐसी कई पोस्ट और तस्वीरें देखी होंगी, जिसे बिना कुछ सोचे-समझे आपने आगे शेयर कर दिया होगा। आमतौर पर लोग ऐसा ही करते हैं, बजाए उसकी सच्चाई जानने के। इस लड़की की तस्वीर भी आपने सोशल मीडिया पर कई बार देखी होगी।

इसे ‘दुनिया की सबसे खूबसूरत महिला’ भी बताया जाता है। कई लोग इस महिला को सऊदी अरब की रानी बताते हैं, जबकि हकीकत कुछ और ही है। सोशल मीडिया पर कई लोग इस महिला का नाम फातिमा कुलसुम जोहर गोदाबरी बताते हैं।

हैरानी की बात तो ये है कि कई न्यूज साइट्स ने भी इस महिला की सच्चाई जाने बिना इसे सऊदी शेख अव्दी अल मोहम्मद की पत्नी बता दिया है। लेकिन हम आपको बता दें कि ये सारी बातें बिल्कुल झूठ हैं। इंटरनेट सेंशेशन बन चुकी इस लड़की की फोटो की सच्चाई कुछ और ही है।

सोशल मीडिया पर आए दिन शाएमा की तस्वीरें लोग शेयर करते हैं और कोई उन्हें ओमान के सुल्तान की बहू कहता है तो कोई उन्हें सऊदी शेख की बीवी समझता है, लेकिन किसी ने हकीकत जानने की कोशिश नहीं की।असल में इस महिला का नाम शाएमा अल-हम्मादी है।

ओमान की रहने वाली शाएमा शादीशुदा तो हैं, लेकिन न तो वो किसी सऊदी शेख की पत्नी हैं और न ही सऊदी अरब की रानी हैं बल्कि वो एक फेमस टीवी होस्ट हैं।शाएमा फिलहाल कतर के एक न्यूज चैनल में एंकरिंग करती हैं। उन्होंने ओमान के सरकारी चैनल ‘सल्तनत ऑफ ओमान टीवी’ पर सबसे पहले शो होस्ट किया था। शाएमा सोशल मीडिया पर काफी फेमस हैं।

टेलीकाॅम कंपनियां उठाने जा रही हैं ये बड़ा कदम, आपके मोबाइल का खर्च हो जाएगा दोगुना

आने वाले दिनों में आपको अपने फोन का रिचार्ज कराने के लिए दोगुने से भी अधिक राशि देनी पड़ सकती है। दूरसंचार कंपनियां प्रीपेड प्लान्स के अपने न्यूनतम रिचार्ज अमाउंट को बढ़ाने पर विचार कर रही हैं। दरअसल Jio के आने के बाद सभी टेलीकॉम कंपनियां वित्तीय संकट से जूझ रही हैं। ऐसे में वे अपने प्रीपेड ग्राहकों से ज्यादा रुपए वसूलकर अपने घाटों को कम करने की योजना बना रही हैं। इसके तहत आपके मोबाइल की मिनिमम बैलेंस राशि 75 रुपए हो जाएगी। ऐसे में इनकमिंग चालू रखने के लिए ग्राहकों को हर 28 दिनों में यह कीमत चुकानी पड़ेगी।

एयरटेल कर सकती है रिचार्ज शुल्क में बढ़ोतरी

दूरसंचार कंपनी भारती एयरटेल के सीएमडी सुनील भारती मित्तल ने न्यूनतम रिचार्ज की दरें बढ़ाने के संकेत दिए हैं। उन्होंने कहा कि लंबी अवधि की वैधता के दिन अब लद गए हैं। कभी कंपनियां ग्राहकों को नेटवर्क पर जोड़े रखने के लिए लाइफ टाइम रिचार्ज के ऑफर दिया करती थीं। फिलहाल ग्राहकों को नेटवर्क से जुड़े रहने के लिए कम से कम हर महीने 35 रुपये का रिचार्ज कराना अनिवार्य है, लेकिन मीडिया रिपोट्स की मानें तो जो आने वाले दिनों में प्रति माह 75 रुपये तक पहुंच जाएगा।

ग्राहकों की संख्या एक करोड़ से ज्यादा

जानकारी के अनुसार उन ग्राहकों की कोर्इ कमी नहीं है जो सिम रखने के साथ सुविधा भी लेते हैं आैर रिचार्ज नहीं करवाते हैं। ऐसे ग्राहकों की संख्या करीब 1 करोड़ से भी ज्यादा है। देश में तीन प्रमुख टेलीकॉम कंपनियां हैं, जिसमें जियो द्वारा सेवाएं शुरू करने पर फ्री इनकमिंग जारी रखने को लेकर कोई प्लान नहीं लाया गया, इसके बाद वित्तीय संकट झेल रही कंपनियों ने न्यूनतम रीचार्ज राशि प्रणाली लेकर आईं।

ट्राई भी दे सकता है कंपनियों को अनुमति

कंपनियों की इस योजना पर दूरसंचार नियामक ट्राई छह माह तक रोक लगा सकता है, लेकिन अनुमान है कि वित्तीय संकट के मद्देनजर नियामक कंपनियों के खिलाफ ऐसा कदम नहीं उठाएगा। पिछले साल नवंबर में जब न्यूनतम रिचार्ज की दर अचानक 35 रुपये की गई थी, तब ट्राई ने टेलीकॉम कंपनियों को नोटिस जारी किया था और ग्राहकों को पूरी जानकारी देने को कहा था। हालांकि तब भी ट्राई ने इन कंपनियों पर कोई शुल्क नहीं लगाया था, न कोई कार्रवाई की थी।हालांकि, भारत दूरसंचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) ने फिलहाल इस मसले पर कोई कदम नहीं उठाया है।

सलमान की जिस फिल्म का विरोध कर रहे थे किसान, उसी ने बना दिया लखपति, एक दिन के मिल रहे हैं इतने लाख रूपये

सलमान खान (Salman Khan) की फिल्म ‘भारत’ (Bharat) इन दिनों चर्चा का विषय बनी हुई है। वजह है हाल ही में रिलीज हुआ फिल्म का टीजर, जिसे बेहद पसंद किया जा रहा है। इसके पहले भी ‘भारत’ (Bharat) चर्चा में आई थी जब फिल्म की शूटिंग लुधियाना (Ludhiana) में की जा रही थी।

यहां के लोगों ने फिल्म की शूटिंग का विरोध किया था लेकिन खबरों की मानें तो इसी फिल्म की वजह से लुधियाना के गांव के किसान लखपति बन गए हैं। कुछ ऐसी है किसानों के लखपति बनने की कहानी…

सलमान की ‘भारत’ की स्क्रिप्ट में भारत-पाकिस्तान विभाजन का हिस्सा भी शामिल है। स्क्रिप्ट की डिमांड के हिसाब से सीन वाघा बॉर्डर पर शूट होना था लेकिन सुरक्षा कारणों से बीएसएफ ने शूटिंग की परमिशन नहीं दी। फिर मेकर्स ने वाघा बॉर्डर के सीन को शूट करने के लिए लुधियाना के गांव बल्लोवाल में सेट बनाया गया।

मेकर्स ने सेट को बनाने के लिए बल्लोवाल गांव के कुछ किसानों की जमीन किराए पर ली। मेकर्स ने किसानों को किराए के तौर पर प्रति एकड़ 80 हजार रुपए दिए और 19 एकड़ की जमीन किराए पर ली थी। इसके चलते किसानों को प्रति दिन 15 लाख रुपए से अधिक का भुगतान किया गया था।

किसानों ने किया था विरोध

रिपोर्ट्स की मानें तो फिल्म के सेट लगने से पास के गांव के किसानों को परेशानी भी हुई थी। जोधा गांव के किसानों को फिल्म की शूटिंग के दौरान खेतों में जाने नहीं दिया जा रहा था। इसी वजह से गांव के लोग मेकर्स का विरोध करने लगे थे।

हालांकि, डायरेक्टर अली अब्बास जफर ने इन खबरों को अफवाह बताया था। उन्होंने कहा था कि शूटिंग में कोई दिक्कत नहीं आ रही है। बता दें कि इसी साल ईद पर रिलीज होने वाली फिल्म भारत में सलमान के अलावा कैटरीना कैफ, तब्बू, दिशा पाटनी, जैकी श्रॉफ, सुनील ग्रोवर लीड रोल में हैं।

दुनिया में हो रहे विनाश को दर्शाती हैं यह 15 फोटोस, देखिये 10 साल में कितनी बदल गयी है दुनिया

आज कल सोशल मीडिया पर #10yearschallenge की धूम है. इस दौरान कई लोगों ने पृथ्वी और प्रकृति के भी 10 Years Challenge की तस्वीरें शेयर की, जो वाकई काफ़ी दुख़भरी हैं. इन फ़ोटोज़ को देख कर एक बात साफ़ कही जा सकती है कि आज उत्पन्न होने वाली कई समस्याओं के ज़िम्मेदार हम हैं …

1. इतने सालों में Arctic कैप में आये इस अंतर को देख सकते हैं.

2. पेड़ों की ये दुर्दशा हमने की है.

3. एक ख़ूबसूरत समुद्र का ये हाल देख कर काफ़ी दुख़ हो रहा है.

4. ये तस्वीर परेशान कर देने वाली है.

5. कुछ कहने की आवश्यकता है क्या?

6. फ़र्क दिख रहा है न?

7. तस्वीर में पृथ्वी की चमक फ़ीकी पड़ती हुई देख सकते हैं.

8. मन वचलित कर देने वाला दृश्य.

9. स्विट्ज़रलैंड की दोनों तस्वीरें देखने के बाद, सोचिएगा.

10. क्या हम सही रास्ते पर हैं?

11. क्या आप इसे महसूस कर सकते हैं?

12. विनाश का रूप.

13. आख़िर कब सुधरेंगे हम?

14. कहने के लिये कुछ नहीं.

15. हरे-भरे पौधों को नष्ट करना हमारा फ़ितरत बन गई है.

 

लड़कियों की बढ़ती संख्या से चिंतित है यहाँ की सरकार, दो शादियां करने वालों मर्दों को यह बड़ा इनाम

दो शादियां करना ज्यादातर देशों में भले ही सही न माना जाता हो, लेकिन दुनिया में कई देश ऐसे भी हैं, जहां ऐसी शादियों को प्रोत्साहित किया जाता है. संयुक्त अरब अमीरात (UAE) भी एक ऐसा ही देश है. वहां की सरकार ने दो बीवी रखने वाले लोगों को अतिरिक्त मकान भत्ता देने की घोषणा की है.

खलीज टाइम्स के अनुसार देश में अविवाहित लड़कियों की बढ़ती संख्या को देखते हुए सरकार लोगों को दूसरी शादी करने को प्रोत्साहित करने के लिए यह स्कीम लेकर आई है. UAE के बुनियादी ढांचा विकास मंत्री डॉ. अब्दुल्ला बेलहैफ अल नुईमी ने बुधवार को फेडरल नेशनल कौंसिंल (FNC) के सत्र के दौरान यह घोषणा की.

उन्होंने कहा कि मंत्रालय ने यह निर्णय लिया है कि दो बीवी रखने वाले सभी लोगों को शेख जायद हाउसिंग कार्यक्रम के तहत मकान भत्ता दिया जाएगा. असल में यह दूसरी बीवी के लिए मकान भत्ता होगा. यानी यह एक पत्नी वाले परिवार को पहले से मिल रहे मकान भत्ते के अतिरिक्त होगा.

मंत्री ने कहा, ‘दूसरी बीवी के लिए भी उसी तरह के रहन-सहन की व्यवस्था होनी चाहिए, जैसा कि पहली बीवी के लिए होता है.’ उन्होंने कहा कि मकान भत्ता देने से लोग दूसरी शादी करने को प्रोत्साहित होंगे और UAE में अविवाहित महिलाओं की संख्या घटेगी. मंत्रालय यह चाहता है कि दूसरी बीवी को भी पहले बीवी की तरह ही मकान मिले.

गौरतलब है कि UAE में अविवाहित यु‍वतियों की बढ़ती संख्या को लेकर एफएनसी के सदस्य चिंता जताते रहे हैं. कुछ सदस्यों ने तो यहां तक कहा था कि लोगों के दूसरी शादी न करने से देश पर आर्थिक बोझ बढ़ रहा है. इसके अलावा इसके सामाजिक निहितार्थ की भी चर्चा होती रही है

आप भी फ्री में घूम सकते हैं पूरी दुनिया, जानिए कैसे

दुनिया का हर इंसान सारी परेशानियों से दूर, लंबे सफर पर जाना चाहता है, नई-नई जगह, नए किस्से, कहानियों और सुकून की तलाश में, आप भी ऐसी ही तलाश में होंगे। लेकिन पैसे के अभाव के कारण कई बार ये सपना अधूरा रह जाता है। अब आपको फिक्र करने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको बताएंगे कि कैसे बिना एक भी रूपए खर्च किए मुफ्त में आप पूरी दुनिया घूम सकते हैं।

ऐसी कई कंपनियां हैं जैसे मैकिन्से एंड कंपनी, मैरियट, हिल्टन, अमेरिकन एक्सप्रेस, वॉल्ट डिजनी जो गर्मियों के दौरान जॉब निकालती हैं। इनमें आप लंबे समय तक वहां रह सकते हैं जिसके लिए आपको पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे और आपकी मोटी कमाई भी हो जाएगी।

अब अगर दिन में इतना समय सोशल मीडिया पर बिताते हैं तो ट्रैवल ब्लॉगिंग के विषय में बेशक जानते होंगे, इन दिनों ट्रैवल ब्लॉगिंग का काफी ट्रेंड में है।इसके लिए आपको अपने यात्रा संस्मरण और उनसे जुड़ी यादों और घटनाओं को एक ब्लॉग में लिखना होता है। अगर आपका ब्लॉग लोगों को पसंद आता है तो इसके लिए आपको काफी पैसे भी मिलेंगे.

एक बार जब आप ट्रैवल ब्लॉगर की तरह मशहूर हो जाएंगे तो कई कंपनियां आपको अपने खर्च पर दुनिया में कहीं भी घूमने भेज सकती है।अगर आप किसी भी एडवेंचरस कार्यक्रम जैसे कि योग, पाइलेट्स, पहाड़ों पर चढ़ाई, स्कीइंग या स्कूबा डाइविंग में माहिर हैं और आपके पास इसकी डिग्री भी है तो विदेशों में आपके लिए सुनहरा मौका है।

पर्यटन स्थलों पर आजकल ऐसी गतिविधियों में माहिर लोगों की काफी मांग है। इससे आप फ्री में यात्रा कर पाएंगे और आपको पैसे भी मिलेंगे।अगर आपकी अंग्रेजी भाषा पर अच्छी पकड़ है तो आपके लिए शानदार मौका है ।

Diverbo नाम की ग्लोबल कंपनी ने ऐसे कई प्रोग्राम आयोजित किए हैं जिसके तहत आप स्कॉटलैंड, इंग्लैंड, कनाडा, आयरलैंड, ऑस्ट्रेलिया जैसी शानदार होटलों में मुफ्त में जाकर रह सकते हैं। इसके बदले आपको स्पेनिश या जर्मनों लोगों को इंग्लिश सिखानी होगी। इसके बदले आपको खूब सारे पैसे भी मिलेंगे। सोच लीजिए अच्छा मौका है।

हर ट्रेन से गंदे और अश्लील कमैंट मिटा रहा है यह शख्स, एक घटना ने बदली इस इंसान की सोच

झारखंड में धनबाद के उत्तम सिंह ने एक सामाजिक जिम्मेदारी निभाने की ठानी है। वे जब भी ट्रेन में सफर करते हैं, टॉयलेट में लिखे गए बेहूदा कमेंट्स को साफ करना नहीं भूलते। ऐसा करने में उन्हें जरा भी संकोच नहीं होता। यही वजह है कि वे अब तक 250 से ज्यादा ट्रेनों में टॉयलेट्स में लिखे भद्दे कमेंट साफ कर चुके हैं।उत्तम बताते हैं कि एक साल पहले वे कोलफील्ड एक्सप्रेस से हावड़ा से धनबाद आ रहे थे।

साथ में पत्नी अपर्णा और 8 साल की बेटी वर्षा भी थी। ट्रेन कुछ ही दूर चली थी कि बेटी ने टॉयलेट जाने को कहा।बेटी जब टॉयलेट से बाहर आई तो कुछ अनमनी सी नजर आई। मैंने जब उससे पूछा तो उसने टॉयलेट की दीवारों पर लिखे भद्दे कमेंट्स का अर्थ पूछा। मैं टालता गया,मेरे पास जवाब नहीं थे।

संकोच में था कि बेटी को क्या बोलूं। जैसे-तैसे बेटी को दूसरी बातों में लगाया और तय किया कि कुछ भी हो जाए, किसी और पिता के सामने ऐसी तस्वीर सामने नहीं आने दूंगा। तुरंत टॉयलेट के अंदर गया और दीवार में लिखे अश्लील वाक्य मिटा दिए।

दरवाजा खुला था और कुछ लोग मुझे ऐसा करते देख रहे थे, लेकिन मैंने संकोच नहीं किया और अपना काम पूरा किया। उत्तम सिंह ने बताया कि वे अब अश्लील शब्दों को मिटाने के अलावा लोगों को जागरूक भी करते हैं कि ऐसी कोई बात इन दीवारों पर न लिखें, जिन्हें हम आपकी मां, बहन व घर के सदस्यों के सामने भी पढ़कर शर्मिंदा हों।

वे अश्लील कमेंट मिटाने के बाद ट्रेन में पैंफ्लेट भी चिपकाते हैं, जिस पर लिखा होता है- ‘स्टॉप राइटिंग, इस शौचालय का प्रयोग आपकी मां-बहन भी करेंगी।’ उत्तम सिंह मूल बिहार के हैं और धनबाद में कपड़े के कारोबारी हैं। उन्हें अक्सर बिजनेस के सिलसिले में कई शहरों में जाना पड़ता है।

ट्रेनों में सफर के दौरान वे टॉयलेट चेक करना नहीं भूलते। उन्होंने अब इस मुहिम को ट्रेन से निकाल कर पार्क, सरकारी दफ्तर, बस स्टैंड और होटल के शौचालयों तक पहुंचाया है। वह इन जगहों से भी अश्लील टिप्पणियों को मिटाते हैं।

अब विदेश जाने के लिए पासपोर्ट की नहीं होगी ज़रुरत, इन देशों में सिर्फ आधार कार्ड से मिलेगा वीज़ा

अब आपको विदेश जाने के लिए पासपोर्ट की ज़रूरत नहीं होगी, कुछ ऐसे देश है जहाँ जाने के लिए अब से आप सिर्फ आधार कार्ड पर वीज़ा मिल जायेगा . नेपाल, भूटान जैसे देशों में जाने के लिए अब पासपोर्ट की जरूरत नहीं होगी. हालांकि, यह सिर्फ नेपाल और भूटान जाने के लिए ही वैध होगा.

साथ ही इसमें शर्त यह भी है कि भारत के 15 वर्ष से कम और 65 वर्ष से अधिक के नागरिक नेपाल और भूटान की यात्रा के लिए आधार कार्ड का वैध यात्रा दस्तावेज के रूप में इस्तेमाल कर सकेंगे. गृह मंत्रालय की हाल में जारी विज्ञप्ति में यह जानकारी दी गई है.

और कोई भारतीय नहीं कर पाएगा इस्तेमाल

दोनों पड़ोसी देशों की यात्रा के लिए इन दोनों वर्गों के अलावा अन्य भारतीय आधार कार्ड का इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे. इससे पहले, 65 से अधिक और 15 वर्ष से कम आयु के व्यक्ति इन दो देशों की यात्रा के लिए अपनी पहचान साबित करने के लिए अपना पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या राशन कार्ड दिखा सकते थे लेकिन आधार का इस्तेमाल नहीं कर सकते थे.

अधिकारी ने कहा कि 15 से 18 साल के किशोरों को उनके स्कूल के प्रधानाचार्य द्वारा जारी पहचान प्रमाण पत्र के आधार पर भारत और नेपाल के बीच यात्रा करने की अनुमति दी जाएगी. भूटान की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों के पास छह महीने की न्यूनतम वैधता के साथ या तो भारतीय पासपोर्ट या भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी मतदाता पहचान पत्र होना चाहिए.

भूटान, जो भारतीय राज्यों जैसे सिक्किम, असम, अरुणाचल प्रदेश और पश्चिम बंगाल के साथ सीमा साझा करता है, में लगभग 60,000 भारतीय नागरिक हैं, जो ज्यादातर पनबिजली और निर्माण उद्योग में कार्यरत हैं. इसके अलावा, सीमावर्ती कस्बों में हर रोज 8,000 से 10,000 के बीच दैनिक कर्मचारी भूटान आते-जाते हैं.

विदेश मंत्रालय के आकड़े के अनुसार लगभग छह लाख भारतीय नेपाल में रहते है. नेपाल पांच भारतीय राज्यों- सिक्किम, पश्चिम बंगाल, बिहार, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के साथ 1,850 किलोमीटर से अधिक सीमा साझा करता है.